ताज़ा खबर
 

Blood Pressure: इसलिए कम से कम तीन बार चेक कराना चाहिए ब्लड प्रेशर

Blood Pressure: ब्लड प्रेशर को लेकर किसी भी प्रकार की गलती करने से हृदय रोग या स्ट्रोक का खतरा बढ़ सकता है। ऐसे में आपको कम से कम तीन बार ब्लड प्रशर चेक करना चाहिए।

बीपी तीन बार जरूर चेक करें (Source: Thinkstock Images)

Blood Pressure: ब्लड प्रेशर की समस्या से कई लोग ग्रसित हैं और आज के समय में कई लोगों के घरों में भी ब्लड प्रेशर मांपने की मशीन होती है। इस समस्या को कंट्रोल रखना बेहद जरूरी होता है वरना हृदय रोग, स्ट्रोक के अलावा और भी कई समस्या होने का खतरा बढ़ सकता है। कई लोग ऐसे हैं जिन्हें इस बात की सही जानकारी भी है कि ब्लड प्रेशर कम से कम तीन बार चेक करना चाहिए ताकि आपकी रीडिंग सही आए। ऐसा जरूरी नहीं है कि एक बार में आपकी रीडिंग सही आए। एम्स और पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन के मुताबिक ब्लड प्रेशर की जांच कम से कम तीन बार करनी चाहिए। इससे आपको सही परिणाम मिलेगा।

कई ऐसे डॉक्टर होते हैं जो एक बार ब्लड प्रेशर मांपने के बाद ही दवा लिख देते हैं। यही कारण है कि लोगों को कई बार बेवजह दवा खाना पड़ता है। कई बार तो लोग गलतफहमी के कारण दवाइयों का सेवन करते हैं क्योंकि उन्हें सही जानकारी नहीं होती है। हाइपरटेंशन का सही इलाज करना बेहद जरूरी होता है वरना यह घातक साबित हो सकता है। इसके अलावा इसका प्रभाव किडनी पर भी हो सकता है।

बीपी चेक करने का सही तरीका:

ब्लड प्रेशर चेक करने के दौरान यदि आप बोलते हैं कि तो रीडिंग में उतार-चढ़ाव आता है।

बैठकर या लेटकर बीपी चेक करने से भी रीडिंग में फर्क आता है।

थोड़ी देर चलकर आने से भी रिडिंग पर प्रभाव पड़ता है।

यही कारण है कि एम्स और पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन के डॉक्टरों ने कहा है कि बीपी की जांच तीन मिनट में कम से कम तीन बार करनी चाहिए। ऐसा करने से ब्लड प्रेशर की रीडिंग सही आती है और मरीज का सही इलाज किया जा सकता है। साथ ही कई स्वास्थ्य समस्याओं के खतरे को भी रोका जा सकता है।

(और Health News पढ़ें)

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App