ताज़ा खबर
 

उम्र के हिसाब से कितना होना चाहिए आपका ब्लड प्रेशर? जानिये BP कंट्रोल रखने के तरीके

ब्लड प्रेशर की समस्या आज के समय में आम बन गई है। हालांकि, यह जानना भी बेहद जरूरी है कि उम्र के हिसाब से किस व्यक्ति का कितना ब्लड प्रेशर होना चाहिए।

high blood pressure, hypertension, lifestyleहाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करे ये योगासन

आज के समय में हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) यानी उच्च रक्तचाप एक आम समस्या बन गया है। इसके कारण कम उम्र के लोग भी कई बीमारियों से ग्रसित हो जाती हैं। ब्लड प्रेशर यानी नसों में खून द्वारा डाला गया प्रेशर। इसको दो संख्याओं में मापा जाता है। स्लैश से ऊपर वाले अंकों को सिस्टॉलिक बल्ड प्रेशर यानी हाई ब्लड प्रेशर कहा जाता है। वहीं, निचले हिस्से को डायस्टॉलिक यानी लो ब्लड प्रेशर कहा जाता है।

हमारे शरीर का सामान्‍य ब्लड प्रेशर 120/80 mmHg माना जाता है। इससे ज्यादा प्रेशर हाई ब्लड प्रेशर होता है। जैसे, 140-159/90-99 mmHg। अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन हाई ब्लड प्रेशर को 130/80 या उससे अधिक मानता है। ब्लड प्रेशर की बीमारी इतनी खतरनाक बन चुकी है कि इसे साइलेंट किलर कहा जाने लगा है। क्योंकि यह बीमारी बिना कोई लक्षण दिखाए, धीरे-धीरे आपके अंदर गंभीर बीमारियों को बढ़ावा देने लगता है।

ब्लड प्रेशर किडनी और हृदय से लेकर पूरे शरीर को बुरी तरह प्रभावित कर सकता है। यह जानना भी बेहद जरूरी है कि उम्र के हिसाब से किस व्यक्ति का कितना ब्लड प्रेशर होना चाहिए।

15 से लेकर 18 साल पुरुषो में 117 -77 mmhg महिला में 120 -79 mmhg होता है।
21से 25साल तक पुरुषो में 121 -79 mmhg महिला में 116 -71 mmhg
26 से 30 साल तक पुरुषो में 120 -77 mmhg महिला में 114 -72 mmhg,
31 साल से 35 तक पुरुषो में 115-77 mmhg महिलाओं में 110 -73 mmhg
36 साल से 40 तक पुरुषो में 120-76 mmhg महिलाओं में 113-75 mmhg
41 साल से 45 तक पुरुषो में 116-80mmhg महिलाओं में127-74 mmhg
46 साल से 50 तक पुरुषो में 120-81 mmhg महिलाओं 1₹124-79 mmhg
51 साल से 55 तक पुरुषो में 126-80 mmhg महिलाओं में 123 -75 mmhg
56 साल से 60 साल तक पुरुषो में 130 -80 mmhg महिलाओं में 133 -79 mmhg
60 से अधिक के लोगो का पुरुषो 144 -77mmhg महिलाओं में 130 -77 mmhg

जीवन में थोड़ा-सा संयम,अनुशासन और सकरात्मकता से ब्ल डप्रेशर पर आसानी से काबू किया जा सकता हैं। इसके लिए आप ये उपाय अपना सकते हैं।

-हेल्दी डायट लें और सही लाइफस्टाइल फॉलो करें। भोजन जितना प्राकृतिक वनस्पतियों से युक्त हो उतना ही अच्छा है।
-हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को डाइट में खट्टे फलों को शामिल करना चाहिए। खट्टे फलों में उपस्थित विटामिन-सी से ब्लड प्रेशर नियंत्रण में रहता हैं। कद्दू के बीज,फलीदार सब्जियों ,ताजे फल को रोजाना अपने भोजन में करें शामिल। ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए गाजर और पालक भी का सेवन काफी फायदेमंद होता है।

-ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रखने के लिए रोजाना पिस्ता का सेवन करना चाहिए। पिस्ता में फाइबर, प्रोटीन, विटामिन सी, जिंक, कॉपर, पोटैशियम, आयरन और कैल्शियम की मात्रा काफी अधिक होती है। इसके अलावा रोजाना कम से कम 10 गिलास पानी पिएं।

-डायट में नमक का बैलेंस बनाकर रखें। हाई बीपी की स्थिति में ज्यादा नमक खाने से बचें। हाई ब्लड प्रेशर के 40-50 प्रतिशत रोगियों में नमक घटाने से रक्तदाब पर अनुकूल प्रभाव पड़ता है।

-टेंशन, थकान और तनाव से दूर रहें। जब एक व्यक्ति चिंता मे रहता हैं तो नर्वस सिस्टम की गतिविधियां ब्लड प्रेशर बढ़ा देती हैं और धमनी रोग को बढ़ावा देती हैं।

-व्यायाम करें,अच्छा खाएं और रिलेक्स रहने की कोशिश करें। इससे हाई ब्लड प्रेशर का खतरा कम रहेगा।

-धूम्रपान छोड़ने से ब्लडप्रेशर नहीं घटता, लेकिन ब्लड प्रेशर की वजह से विभिन्न अंगों पर पड़ने वाले असर जैसे ऐंजाइना, दिल का दौरा और मस्तिष्क आघात में कमी लाने में मदद मिलती है

Next Stories
1 कानों की रोजाना मालिश वजन कम करने में है कारगर, तनाव से भी दिलाती है राहत, जानिये फायदे
2 Health Tips: केले के ये चमत्कारी गुण, इन रोगों से करते हैं बचाव, जानिये
3 Blood Sugar लेवल को कंट्रोल करने में रामबाण से कम नहीं मोरिंगा की पत्तियां, जानिये
यह पढ़ा क्या?
X