ताज़ा खबर
 

किडनी की बीमारी के कारण भी ब्लड प्रेशर हो जाता है हाई, जानिये उच्च रक्तचाप की अन्य वजहें

Tips for High BP Patients: सोडियम न केवल बीपी बढ़ाने में सहायक है बल्कि ये किडनी की कार्य शैली को भी प्रभावित करता है।

high blood pressure, high bp, high blood pressure causes, high bp reasons, high blood pressure remediesकिडनी रोग या रेनल डिजीज भी कई बार हाई ब्लड प्रेशर का कारण बन सकती हैं

High Blood Pressure Causes: कई बार झटके में उठने पर या चलते वक्त अचानक लोगों का सिर चकराने लगता है और आंखों के सामने अंधेरा छा जाता है। ये परेशानियां शरीर में रक्तचाप का स्तर बढ़ने के कारण हो सकती हैं। अचानक से ब्लड प्रेशर हाई होना स्वास्थ्य के लिए घातक हो सकता है। जिन लोगों का बीपी लेवल लगातार  120/80 mmHg से ज्‍यादा हो, उन्हें तुरंत डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। हाइपरटेंशन हार्ट अटैक, स्ट्रोक, ब्रेन डैमेज जैसी कई गंभीर समस्याओं को न्योता दे सकता है। ऐसे में रक्तचाप नियंत्रित रहना आवश्यक है। आमतौर पर लोग दवाइयों व हेल्दी लाइफस्टाइल से इस परेशानी को कंट्रोल में रख सकते हैं। हालांकि, उन कारकों के बारे में जानना जरूरी है जो ब्लड प्रेशर बढ़ाने के लिए जिम्मेदार होते हैं –

किडनी डिजीज: शरीर को स्वस्थ बनाए रखने के लिए किडनी का सुचारू रूप से कार्य करना जरूरी है। किडनी रोग या रेनल डिजीज भी कई बार हाई ब्लड प्रेशर का कारण बन सकती हैं। किडनी में रेनिन एंजियोटेंसिन सिस्टम होता है जो कि बॉडी में रक्तचाप को रेगुलेट करता है। इसके अलावा, फ्लुईड और एलेक्ट्रोलाइट के बीच बैलेंस बना रहे, ये भी सुनिश्चित करता है। ऐसे में अगर किसी व्यक्ति को किडनी की परेशानी होती है तो उसके रक्तचाप का स्तर भी बढ़ जाता है।

अत्यधिक तनाव: स्ट्रेस बीपी को बढ़ाने में मुख्य भूमिका निभाता है। आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में हर कोई प्रोफेशनल या पर्सनल कारणों से तनाव में रहते हैं। यही वजह है कि जो बीमारियां पहले उम्रदराज लोगों को अपनी चपेट में लेती थीं, उससे आज के नौजवान भी पीड़ित होने लगे हैं। ऐसे में बीपी कंट्रोल में रखने के लिए जरूरी है कि लोग चिंतामुक्त रहें।

नींद की कमी: नींद नहीं लेने से या कम नींद के कारण भी बीपी बढ़ सकता है। एक रिसर्च के अनुसार जो लोग कम सोते हैं उनका रक्तचाप भी इससे प्रभावित होता है, वहीं पूरी नींद लेने वाले लोगों को हाइपरटेंशन का खतरा कम होता है। ऐसे में कम से कम 6 से 8 घंटे की नींद पूरी करना जरूरी है।

इन कारणों से ज्यादातर लोग हैं परिचित: शरीर में सोडियम का स्तर अगर ज्यादा होगा तो इससे बीपी भी बढ़ता जाएगा। ऐसे में जो लोग अधिक नमक का सेवन करते हैं, उन्हें उच्च रक्तचाप का खतरा होता है। सोडियम न केवल बीपी बढ़ाने में सहायक है बल्कि ये किडनी की कार्य शैली को भी प्रभावित करता है। इसके अलावा, नॉन वेज का अधिक सेवन, ज्यादा धूम्रपान करना व शराब पीना भी हाई ब्लड प्रेशर के कारणों में शामिल है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 इम्युनिटी के साथ लिवर के लिए भी कारगर है गिलोय से बना ये काढ़ा, इतना पीने से होगा फायदा
2 यूरिक एसिड के बढ़ते स्तर को ऐसे करें कंट्रोल
3 इन एक्सरसाइज से दूर होंगी सांस संबंधी परेशानियां, जानिये- फेफड़ों को कैसे होगा लाभ
राशिफल
X