ताज़ा खबर
 

इम्युनिटी बढ़ाने से लेकर वजन घटाने में मददगार है काला चना, जानें कितना और कैसे खाने से होगा लाभ

Foods for Diabetes Patients: डायबिटीज के मरीजों के लिए चने का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है, ब्लड शुगर कंट्रोल करने के साथ ही ये वजन कम करने में भी सहायक है

काला चना का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है क्योंकि ये बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करता है

Kala Chana Health Benefits: बीमारियों से दूर रहने में हेल्दी डाइट सबसे बड़ी भूमिका निभाता है। स्वस्थ आहार में कार्ब्स, प्रोटीन, फाइबर, मैग्नीशियम और कैल्शियम जैसे जरूरी पोषक तत्वों का सम्मिलित होना जरूरी है। ऐसे में स्वास्थ्य विशेषज्ञ मानते हैं कि डाइट में उन फूड्स को शामिल करना चाहिए जिनमें पोषक तत्वों की अधिकता हो।

काला चना ऐसा ही एक सुपरफूड है जो सेहत पर कई पॉजिटिव प्रभाव छोड़ते हैं। इसमें वसा की कमी, फाइबर की अधिकता, विटामिन और मिनरल्स भरपूर मात्रा में होते हैं। कई बीमारियों के खतरे को दूर करने के साथ ही ये शरीर को स्वस्थ रखने में मददगार है। आइए जानते हैं कि काला चना किस तरह सेहत के लिए मददगार है –

हार्ट डिजीज का कम होता है खतरा: मैग्नीशियम और फोलेट का बेहतरीन स्रोत काला चना रक्त वाहिकाओं को मजबूत करता है। इससे हृदय रोग का खतरा कम होता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञ मानते हैं कि एलडीएल यानी बैड कोलेस्ट्रॉल की अधिकता हार्ट डिजीज होने के प्रमुख कारणों में से एक है। ऐसे में काला चना का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है क्योंकि ये बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करता है जिससे हार्ट को हेल्दी रखने में मदद मिलती है।

ब्लड शुगर कंट्रोल में रहता है: चना में एंटी-ऑक्सीडेंट्स उच्च मात्रा में मौजूद होते हैं जो ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करता है। चना शरीर में एक्स्ट्रा ग्लूकोज की मात्रा को बर्न करता है। डायबिटीज के मरीजों के लिए सुबह-सुबह खाली पेट चने का सेवन करें। इसके अलावा दो मुठ्ठी चना खाने से शुगर की मात्रा को कंट्रोल किया जा सकता है।

वजन घटाने में मददगार: काला चना को डाइटरी फाइबर से भरपूर माना जाता है। माना जाता है कि इसमें सॉल्यूबल और इनसॉल्यूबल दोनों तरह का फाइबर मौजूद होता है। साथ ही, चने में आयरन भी उच्च मात्रा में मौजूद होता है। इसे खाने से लोगों का मेटाबॉलिज्म बढ़ता है जो वजन घटाने में मददगार है।

बूस्ट होती है इम्युनिटी: चने में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन और विटामिन्स पाए जाते हैं। साथ ही, इसमें मैंग्नीज, मैग्नीशिम, क्लोरोफिल और फॉस्फोरस भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। य सभी तत्व इम्युनिटी बढ़ाने में मदद करता है।

Next Stories
1 दांतों के पीलेपन को दूर करने में असरदार माने गए हैं ये 5 घरेलू नुस्खे, आज ही करें ट्राय
2 Uric Acid बढ़ने से बढ़ जाता है जोड़ों में दर्द, इन घरेलू उपायों से मिलेगा आराम
3 सिर दर्द से लेकर नाक से खून आना, बुजुर्गों में ये 5 हो सकते हैं उच्च रक्तचाप के लक्षण
ये पढ़ा क्या?
X