ताज़ा खबर
 

बर्ड फ्लू ने दिल्ली में भी दी दस्तक, जानिए बचाव के लिए क्या करें और किन चीजों से बचना जरूरी

Bird Flu Guidelines: जो लोग पक्षियों को पालते हैं, उन्हें उनकी सुरक्षा के साथ ही साफ-सफाई और डिसइंफेक्शन का भी ध्यान रखना चाहिए

bird flu, bird flu in delhi, avian flu, bird flu in chicken, bird flu in eggs, bird flu indiaमृत पक्षियों को छूने से बचें। जहां बर्ड फ्लू का संक्रमण फैला हो, वहां न जाएं

Bird Flu in India: पिछले कुछ दिनों में देश के कई हिस्सों में बर्ड फ्लू ने बड़ी तेजी से पैर पसारना शुरू कर दिया है। कोविड-19 के संकट के बीच ही इस नई परेशानी ने सबके कान खड़े कर दिये हैं। बता दें कि कई हिस्सों में बीते दिन सौ से भी अधिक पक्षियों की मौत हुई है। वहीं, केंद्र के मुताबिक 10 राज्यों में Bird Flu का प्रकोप फैल चुका है। ज्ञात हो कि बर्ड फ्लू को एवियन इंफ्लूएंजा भी कहा जाता है। माना जाता है कि ये बीमारी वायरस के जरिये फैलता है। यह बीमारी खासकर पक्षियों और मुर्गियों में पाई जाती है।

हालांकि, स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि ये फ्लू इंसानों को ज्यादा प्रभावित नहीं करता है। उनके मुताबिक देश में अब तक बर्ड फ्लू का एक भी मामला इंसानों में देखने को नहीं मिला है। पर फिर भी लोगों के लिए ये वायरस चिंता की विषय बनकर सामने आयी है। ऐसे में आइए जानते हैं कि इस दौरान किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है।

इन 10 राज्यों में पसार चुका है पैर: दिल्ली, यूपी, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात, राज्सथान, महाराष्ट्र और उत्तराखंड में अब तक बर्ड फ्लू के संक्रमण की पुष्टि की जा चुकी है।

किन बातों का ध्यान रखना है जरूरी: उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जारी की गई गाइडलाइंस के अनुसार मांसाहारी भोजन को अच्छी तरह पकाकर ही खाएं। बताया गया है कि ढंग से पकाए गए कुक्कुट या अंडे आदि से बर्ड फ्लू फैलने का खतरा कम होता है। साथ ही जो लोग पक्षियों को पालते हैं, उन्हें उनकी सुरक्षा के साथ ही साफ-सफाई और डिसइंफेक्शन का भी ध्यान रखना चाहिए। इन्हें छूने के बाद एंटीसेप्टिक लोशन से हैंडवाश करें। किसी ऐसे पक्षी के संपर्क में आने पर जो कि बर्ड फ्लू से संक्रमित हों, डॉक्टर को जरूर दिखाएं।

वहीं, मृत पक्षियों को छूने से बचें। जहां बर्ड फ्लू का संक्रमण फैला हो, वहां न जाएं। इंफेक्टेड पक्षियों के डाइरेक्ट कॉन्टैक्ट में न आएं। अफवाहों पर ध्यान न दें।

क्या है WHO की राय: बर्ड फ्लू को लेकर WHO का मानना ये है कि इस वायरस के संक्रमण का खतरा उन लोगों में अधिक देखने को मिलता है जो लोग पक्षी खासकर मुर्गा पालन करते हैं। इसके अलावा, पहले से किसी संक्रमित पक्षी के संपर्क में आने से भी तबियत बिगड़ सकती है। हालांकि, खानपान को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना भी यही है कि नॉन-वेज खाने से पहले इन्हें अच्छी तरह धोकर और काफी देर तक ठीक ढंग से पकाकर खाना चाहिए।

PM मोदी ने दी सतर्क रहने की सलाह: इस फ्लू के बढ़ते प्रकोप को मद्देनजर रखते हुए पीएम मोदी ने भी सभी राज्यों को सतर्क रहने की सलाह दी है। साथ ही, उन्होंने चिड़ियाघरों, मुर्गी पालन केंद्रों और जलाशयों के आसपास भी निगरानी और सावधानी बरतने की सलाह दी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सूर्य नमस्कार करने से काबू में रहेगा डायबिटीज, जानें क्यों बच्चों को भी करना चाहिए ये आसन
2 विश्व परिक्रमा: चीन के हेबेई में कोरोना की फिर दस्तक, प्रतिबंध लागू
3 ब्लैक टी पीने से उम्र बढ़ने पर भी नहीं कम होती याददाश्त, चाय पीने के कई और फायदों का अध्ययन में हुआ खुलासा
रूपेश हत्याकांड
X