scorecardresearch

Breast Itching: क्लीवेज इचिंग से हमेशा परेशान रहती हैं तो जानिए खुजली का कारण और कैसे करें उपचार

ब्रेस्ट के आस-पास पसीना आने से भी उस क्लीवेज के पास खुजली हो सकती है इसलिए पसीना कंट्रोल करें।

Breast Itching: क्लीवेज इचिंग से हमेशा परेशान रहती हैं तो जानिए खुजली का कारण और कैसे करें उपचार
ब्रेस्ट में इचिंग से परेशान हैं तो बर्फ से सिकाई करें तुरंत राहत मिलेगी।photo-freepik

बॉडी में कहीं भी खुजली का होना काफी परेशान करता है। अगर खुजली की परेशानी महिलाओं को हो जाए तो वो बेहद परेशान रहती हैं। लोगों के बीच में खुजाना असहज महसूस होता है, खासकर तब जब खुजली ब्रेस्ट के आस-पास हो। आप जानती हैं कि ब्रेस्ट में खुजली क्यों होती है? दरअसल इस इचिंग के लिए कुछ कारण जिम्मेदार हैं जैसे एक्जिमा या सोरायसिस होना जिसकी वजह से स्किन पर दाने भी आने लगते हैं और इचिंग की परेशानी होती है।

अगर आप स्मोकिंग करती हैं तो भी आपके ब्रेस्ट के पास क्लीवेज में इचिंग की परेशानी हो सकती है। कई बार ब्रेस्ट के आस-पास खुजली होने की वजह ब्रेस्ट कैंसर के शुरूआती लक्षण भी हो सकते हैं। हालांकि बहुत कम मामलों में ही ऐसा देखा गया है। ब्रेस्ट की ये खुजली आमतौर पर छोटे-छोटे दाने, सूजन, रेडनेस की वजह से होती है। आइए जानते हैं कि ब्रेस्ट में और क्लीवेज में इचिंग का मुख्य कारण क्या है और उसे कैसे कंट्रोल करें।

यीस्ट इंफेक्शन खुजली का कारण:

ब्रेस्ट के आस-पास यीस्ट इंफेक्शन(कैंडिडिआसिस) फंगल संक्रमण होते हैं जो अक्सर ब्रेस्ट के नीचे गर्म, नम क्षेत्र में बनते हैं। ये खुजली आमतौर पर ब्रेस्ट के पास आने वाले पसीने की वजह से होती है।

एक्जिमा की वजह से होती है क्लीवेज में इचिंग:

एक्जिमा की वजह से स्किन के आस-पास खुजलीदा लाल चकत्ते होने लगते हैं। एक्जिमा में स्किन में तेज खुजली होती है और स्किन रूखी हो जाती है। मौसम बदलने पर ये खुजली और भी ज्यादा परेशान करती है। कुछ लोगों को इतनी तेज खुजली होती है कि त्वचा से खून तक आने लगता है।

सोरायसिस भी खुजली का कारण बन सकता है:

सोरायसिस एक ऐसी बीमारी है जो अनियंत्रित स्किन सेल्स में वृद्धि के कारण स्किन को रूखा, बेजान और खुजलीदार बनाता है। ब्रेस्ट पर या क्लीवेज के पास सोरायसिस की वजह से खुजली होना आम बात है।

खुजली से बचाव करना चाहते हैं तो इन उपायों को अपनाएं।

  • खुजली से परेशान रहती हैं तो सबसे पहले स्मोकिंग करना बंद कर दें। एक रिसर्च के मुताबिक जो लोग रेगुलर स्मोकिंग करते हैं उनकी बॉडी में मैट्रिक्स मेटालोप्रोटीनस नामक पदार्थ का स्तर बढ़ जाता है जो कोलेजन को कम करता है। कोलेजन का कम उत्पादन स्किन को नुकसान पहुंचाता है और इचिंग का कारण बनता है।
  • औषधीय गुणों से भरपूर हल्दी का सेवन स्किन की इचिंग को दूर करने में बेहद असरदार साबित होता है। अगर क्लीवेज में अक्सर खुजली से परेशान रहती हैं तो एक कटोरी में दो चम्मच हल्दी डालें और उसमें 2-3 चम्मच गुलाब जल मिलाएं। इस पेस्ट को क्लीवेज के पास लगाएं आपको खुजली से राहत मिलेगी।
  • क्लीवेज और ब्रेस्ट की खुजली अक्सर परेशान करती है तो आप बर्फ से सिकाई करें। बर्फ को टावल में लेकर खुजली वाली जगह लगाएं इचिंग से राहत मिलेगी।
  • इचिंग को दूर करने के लिए नारियल तेल लगाएं। ये तेल खुजली का बेहतरीन इलाज है। नारियल तेल स्किन इंफेक्शन दूर करता है और खुजली से राहत दिलाता है।
  • एलोवेरा जेल का करें इस्तेमाल। एलोवेरा में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-वायरल गुण मौजूद होते हैं जो खुजली से राहत दिलाते हैं।
    इचिंग से परेशान हैं तो रेगुलर एक्सरसाइज कीजिए। एक्सरसाइज आपके वेट को कंट्रोल करेगी और स्किन को हेल्दी रखेगी।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 26-09-2022 at 11:04:57 am
अपडेट