ताज़ा खबर
 

नींद में दिक्कत है या दिल में परेशानी, आयुर्वेदिक शंखपुष्पी से मिलेगा फायदा, जानें कैसे

आयुर्वेद में लगभग हर बीमारियों का प्राकृतिक इलाज मौजूद है। इसमें ऐसे-ऐसे हर्ब्स मौजूद हैं जो हमारे आस-पास आसानी से पाए जा सकते हैं। ये हर्ब्स घातक रोगों के उपचार में काम लाए जाते हैं।

प्रतीकात्मक चित्र

आयुर्वेद में लगभग हर बीमारियों का प्राकृतिक इलाज मौजूद है। इसमें ऐसे-ऐसे हर्ब्स मौजूद हैं जो हमारे आस-पास आसानी से पाए जा सकते हैं। ये हर्ब्स घातक रोगों के उपचार में काम लाए जाते हैं। शंखपुष्पी एक ऐसी ही प्राचीन जड़ी-बूटी है। इसका उपयोग प्राचीन काल से ही बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता रहा है। शंखपुष्पी के फूल शंख की तरह दिखाई देते हैं इसीलिए इस पौधे का नाम शंखपुष्पी पड़ा। शंखपुष्पी स्वास्थ्य के लिए अत्यधिक लाभकारी होता है। दिमाग के विकास, इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने के लिए यह फायदेमंद होता है। शंखपुष्पी के बहुत सारे चिकित्सकिय लाभ होते हैं। इस पौधे के सभी हिस्से स्वास्थ्य के लिए अत्यंत लाभकारी होते हैं। आइए जानते हैं कि शंखपुष्पी स्वास्थ्य के लिए कैसे लाभकारी होता है।

शंखपुष्पी के सेवन से डिप्रेशन, चिंता और तनाव को कम करने में मदद मिलती है। इसके अलावा यह याद्दाश्त बढ़ाने, पाचन दुरुस्त करने, नींद की कमी की समस्या को दूर करने में बेहद लाभकारी है। आज हम आपको शंखपुष्पी के और भी फायदों के बारे में बताने वाले हैं।

डिप्रेशन, चिंता और तनाव के लिए – शंखपुष्पी नसों को शांत करता है साथ ही तनाव और डिप्रेशन को कम करने में मदद करता है। यह स्ट्रेस हार्मोन कोर्टिसॉल के स्तर को कम करता है। एक गिलास पानी के साथ शंखपुष्पी का सेवन दिमाग को शांत करने के लिए लाभकारी होता है।

याद्दाश्त बढ़ाता है – शंखपुष्पी दिमाग के लिए एक अच्छा टॉनिक होता है। यह ना सिर्फ आयुर्वेद बल्कि मेडिकल सांइस के हिसाब से भी दिमाग के विकास के लिए और याद्दाश्त को बढ़ाने के लिए उपयोगी होता है।

पाचन के लिए – शंखपुष्पी पाचन को सही करता है और भूख को बढ़ाने के लिए लाभकारी होता है। शंखपुष्पी की पत्तियों में लेक्सेटिव गुण होते हैं जो पाचन तंत्र में गलत जगह पर गैस पैदा होने और बनने से रोकता है। यह पाचन को बढ़ाता है और बोवेल मूवमेंट को सही करता है इसलिए शंखपुष्पी पाचन तंत्र के लिए लाभकारी होता है।

दिल के स्वास्थ्य के लिए – दिल के स्वास्थ्य के लिए शंखपुष्पी लाभकारी होता है। यह हाइपरटेंशन को कम करता है साथ ही नर्वस सिस्टम के संतुलन को बनाए रखता है। शंखपुष्पी धमनियों को चौड़ा करने में मदद करता है जिससे रक्त संचरण बढ़ जाता है और दिल तक आसानी से रक्त पहुंचता है जिससे दिल की बीमारियां नहीं होती हैं।

अनिद्रा के लिए – नींद की कमी यानि की इंसोम्निया को कम करने के लिए शंखपुष्पी लाभकारी होता है। यह दिमाग को रिलैक्स करता है और जिससे अच्छी नींद आती है शंखपुष्पी सीरप का दूध के साथ सेवन करने से इंसोम्निया की बीमारी ठीक हो जाती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App