ताज़ा खबर
 

घी खाने से बढ़ता नहीं घटता है वजन, जानिए इससे होने वाले और फायदे

ऐसा कहा जाता है कि घी खाने से वजन बढ़ता है लेकिन फैटी एसिड के जरिए शरीर में मौजूद अन्‍य फैट बर्न हो जाते हैं। इससे वजन कम होता है।
Author नई दिल्‍ली | September 18, 2016 16:59 pm
आयुर्वेद में घी को पवित्र, रोगनाशक, प्रक्षालक और पोषक बताया गया है।

घी को लेकर इन दिनों यह धारणा चल पड़ी है कि इससे मोटापा बढ़ता है और दिल की बीमारियां होती हैं। इस बारे में प्रमाण दिया जाता है कि जिस देश में मक्खन और घी का अधिक उपयोग होता है, वहीं के लोग हृदयरोग से अधिक संख्या में आक्रांत होते पाऐ गए हैं।लेकिन आयुर्वेद के अनुसार घी में काफी पोषक तत्‍व होत हैं और यह मन और मस्तिष्‍क के लिए फायदेमंद हैं। घी मक्‍खन को गर्म कर बनाया जाता है। मक्‍खन में मिल्‍क प्रोटीन और पानी भी होता है। आयुर्वेद में घी को पवित्र, रोगनाशक, प्रक्षालक और पोषक बताया गया है।

घी में भी गाय के घी को श्रेष्‍ठ बताया गया है। भारतीय उपमहाद्वीप में प्राचीन काल से भोजन के एक अवयव के रूप में प्रयुक्त होता रहा है। भारतीय भोजन में खाद्य तेल के स्थान पर भी प्रयुक्त होता है। घी का उपयोग भारत में वैदिक काल के पूर्व से होता आ रहा है। पूजा पाठ मे घी का उपयोग अनिवार्य है। अनेक औषधियों के निर्माण में घी काम आता है। घी को खाना बनाने में भी काम में लिया जाता है। इसे 250 डिग्री सेल्शियस पर भी गर्म किया जा सकता है। साथ ही जिन लोगों को लेक्‍टोस या केसीन से एलर्जी होती है वे भी घी का उपयोग कर सकते हैं। घी में विटामिन ए और ई बहुतायत में पाया जाता है। साथ ही इसमें विटामिन के2 भी होता है। यह विटामिन कैल्शियम को हड्डियों तक ले जाने का काम करता है और हड्डियों को मजबूत करता है। विटामिन के2 के बिना हडि्डयां मजबूत नहीं होती।

एथलीट घी को लगातार ऊर्जा देने वाले स्रोत के रूप में इस्‍तेमाल कर सकते हैं। घी में फैटी एसिड होता है जिसे लिवर सीधे एब्‍जॉर्ब करता है। इससे शरीर में ऊर्जा पैदा होती है। ऐसा कहा जाता है कि घी खाने से वजन बढ़ता है लेकिन फैटी एसिड के जरिए शरीर में मौजूद अन्‍य फैट बर्न हो जाते हैं। इससे वजन कम होता है। घी को कैंसर रोधक भी माना जाता है। साथ ही जिन लोगों का पाचन तंत्र कमजोर होता है वे भी घी की मदद से सुधार कर सकते हैं। घी भूख बढ़ाने में भी कारगर है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.