ताज़ा खबर
 

ये हैं नाश्ते में पोहे खाने के फायदे, मिलते हैं कई पोषक तत्व

पोहा हल्‍का होने के कारण शरीर द्वारा आसानी से पचाया जा सकता है। आइए जानते हैं पोहा खाने से क्या क्या फायदे होते हैं।

Author Published on: November 10, 2016 10:28 AM
उबले हुए पोहे में भारी मात्रा में कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है। पोहे को अनहेल्‍दी चीजें जैसे नमकीन और बिस्‍किट के स्‍थान पर खाया जा सकता है।

पोहा एक ऐसा खाना है जो ना सिर्फ स्वादिष्ट होता है, बल्कि आपकी हेल्थ के लिए बहुत फायदेमंद होता है। कई लोग सुबह के वक्त पोहा खाना बहुत पंसद करते हैं जो कि आसानी से बन भी जाता है और आपकी हेल्थ को भी कई फायदे करता है। इस कम चिकनाई वाली डिश में आयरन और कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है जो स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत जरूरी है। पोहा हल्‍का होने के कारण शरीर द्वारा आसानी से पचाया जा सकता है। आइए जानते हैं पोहा खाने से क्या क्या फायदे होते हैं।

आयरन से भरपूर- अगर नियमित रूप से पोहा खाए जाए तो आयरन की कमी और एनीमिया को रोका जा सकता है। 100 ग्राम कच्‍चे चावल में 20 मिलीग्राम आयरन होता है। इसे खाने से बच्‍चों, गर्भवती महिलाओं और स्‍तनपान कराने वाली माताओं को काफी फायदा होता है। पर्याप्त मात्रा में आयरन से शरीर की कोशिकाओं को ऑक्सीजन मिलता है, ये शरीर में हीमोग्लोबिन को बढ़ाता है। इसके अलावा ये इम्‍यूनिटी को मजबूत बनाता है।

500 और 1000 रुपए के नोट बंद- मोदी सरकार के फैसले पर क्‍या सोचती है जनता

पोषक तत्‍वों से भरपूर- अगर आप पोहे में सब्जियां मिलाकर खाते हैं इससे आपके शरीर को विटामिन, खनिज और फाइबर की मात्रा ज्यादा मात्रा में मिल जाती है। इसके अलावा इसमें स्‍प्राउट्स, सोयाबीन, सूखे मेवे और अंडा मिलाने से इसे हाई प्रोटीन वाला डिश बनाया जा सकता है।

कार्बोहाइड्रेट का अच्‍छा जरिया- उबले हुए पोहे में भारी मात्रा में कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है। पोहे को अनहेल्‍दी चीजें जैसे नमकीन और बिस्‍किट के स्‍थान पर खाया जा सकता है। कार्बोहाइड्रेट शरीर की ऊर्जा और उसे विभिन्न अन्य कार्यों के लिए तैयार करने के लिए आवश्यक होता है।

डायबिटीज रोगियों के लिए सही- पोहा डायबिटीज रोगियों के लिए स्नैक फूड का एक विकल्‍प बन सकता है, लेकिन खाने से पहले डॉक्टर से सलाह ले लें। क्योंकि इसको खाना या न खाना मरीज के अवस्था पर निर्भर करता है। वैसे तो ये माना जाता है कि पोहा ब्लड में शुगर जारी होने की गति को धीमा कर देता है। ये आपको काफी देर तक भूख से बचाता है और आप मिठाई या अन्‍य जंक फूड खाने से बच जाते हैं। आपको बता दें कि एक कटोरी वेजिटेबल पोहा में 244 किलो कैलोरी, मूंगफली पोहा की एक कटोरी में 589 किलो कैलोरी होती है।

कम मात्रा में ग्‍लूटन- आजकल कई लोग अपने खाने में गेहूं और जौ शामिल नहीं करते हैं। ये ऐसे पदार्थ है जिनमें कम मात्रा में ग्‍लूटन होता है। ऐसे लोगों के लिए पोहा एक शानदार फूड साबित हो सकता है। इसमें बहुत कम ग्‍लूटेन होता है। पेट संबंधी परेशानियों में डॉक्‍टर की सलाह से पोहा का सेवन किया जा सकता है।

हेल्थ से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 रात का खाना छोड़कर घटा सकते हैं वजन: रिसर्च
2 क्या आप भी खाना पैक करने के लिए करते हैं एल्युमिनियम फॉइल पेपर का इस्तेमाल, जान लीजिए इससे होने वाले नुकसान
3 थकान और कमजोरी ज्यादा रहती है तो हो सकती है विटामिन बी12 की कमी