ताज़ा खबर
 

सर्दियों में पेट की बीमारी से दूर रहने में मददगार हैं ये योगासन, जानें बाबा रामदेव की सलाह

Constipation Remedies by Baba Ramdev: स्वामी रामदेव कहते हैं कि खड़े-खड़े पानी पीने से भी कब्ज़ की परेशानी होती है

Constipation, kabj, Stomach problems, Constipation Remedies, baba ramdevइस मौसम में लोग फिजिकल एक्टिविटीज करने से बचते हैं, इससे डाइजेशन प्रोसेस स्लो हो जाती है

Constipation Remedies: सर्दियों में लोगों की खुराक बढ़ जाती है, वहीं कहीं-कहीं आलस्य की वजह से उनके खानपान की समय-सारिणी भी बदल जाती है। दोनों ही स्थिति में लोगों को पेट संबंधी परेशानियों से जूझना पड़ता है। साथ ही, जो लोग पहले से ही पेट से जुड़ी बीमारियां जैसे कि पाइल्स, कोलाइटिस, कोलन कैंसर, आंतों में सूजन से पीड़ित हैं, उन्होंने ठंड के महीनों में अपने स्वास्थ्य का ज्यादा ख्याल रखना चाहिए। आइए जानते हैं कि इन परेशानियों से निजात पाने के लिए बाबा रामदेव किन योगासनों को करने की सलाह देते हैं –

सर्दियों में कौन सी पेट की बीमारी करती हैं परेशान: इस मौसम में लोग फिजिकल एक्टिविटीज करने से बचते हैं, इससे डाइजेशन प्रोसेस स्लो हो जाती है। इस कारण कब्ज़ और एसिडिटी जैसी परेशानियां बढ़ जाती हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार देश में तकरीबन 20 परसेंट लोग कभी न कभी कॉन्स्टिपेशन की परेशानी से जूझते हैं। इसके पीछे का कारण पेट साफ न होना, पानी कम पीना, फाइबरस फूड की कमी को माना जाता है। इसके अलावा, लंबे वक्त तक एक ही जगह बैठे रहने से भी ये परेशानी बढ़ जाती है।

क्या हैं कब्ज़ के लक्षण: एक्सपर्ट्स की मानें तो पेट साफ न होना, मल में खून आना, आंतों में सूजन और वजन घटना कॉन्स्टिपेशन के आम लक्षण हैं। इसके अलावा, कब्ज़ से परेशान लोगों को भूख कम लगने और सिर दर्द की शिकायत भी हो जाती है।

क्यों है खतरनाक: विशेषज्ञों की मानें तो जो लोग लंबे समय से कब्ज़ से पीड़ित हैं, उनमें कई अन्य परेशानियां भी पैदा लेती हैं। कॉन्स्टिपेशन के कारण मरीजों को कोलाइटिस, एसिडिटी, गैस, पाइल्स और अल्सर जैसी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में बाबा रामदेव बता रहे हैं कुछ योगाभ्यासों के बारे में जिनसे पेट संबंधी परेशानियां दूर हो सकती हैं।

इन योगासनों को करने से होगा फायदा: बाबा रामदेव के अनुसार ताड़ासन, तियर्क ताड़ासन, तियर्क भुजंगासन, नौकासन, घटचक्रासन, कागासन, उदराकर्षणासन करें। इसके अलावा, मंडूकासन, योगमुद्रासन, वक्रासन करना भी पेट के मरीजों के लिए फायदेमंद होगा। वहीं, गोमुखासन और पवनमुक्तासन और उत्तानपादासन करने की भी बाबा रामदेव सलाह देते हैं।

डाइट में इन्हें करें शामिल: योगगुरु रामदेव के अनुसार सुबह उठने के बाद आंवले का पानी पीना चाहिए। इसके अलावा, जीरा, धनिया, मेथी, अजवाइन और सौंफ एक-एक चम्मच पानी में रात में भिगोएं और सुबह खाली पेट इसका सेवन करें। वहीं, अतिबला के 5 से 10 पत्ते खाने से पेट रिलैक्स हो जाता है। साथ ही, स्वामी रामदेव कहते हैं कि खड़े-खड़े पानी पीने से भी कब्ज़ की परेशानी होती है। उनके मुताबिक बैठकर पानी पीना चाहिए और सुबह जल्दी-जल्दी पानी पीयें ताकि उसमें सलाइवा न मिले और दोपहर में धीरे-धीरे पानी पीयें।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सर्दियों में बना रहता है सर्दी- जुकाम का खतरा, इन चीज़ों से मजबूत बनाएं अपनी इम्युनिटी
2 Bird Flu: बर्ड फ्लू के दौरान चिकन और अंडे खाने को लेकर हैं असमंजस में? जानें क्या है WHO की राय
3 कोरोना वैक्सीन कब, कैसे और किस तरह मिलेगी? वैक्सीनेशन से पहले जानिए हर सवाल का जवाब
ये पढ़ा क्या?
X