ताज़ा खबर
 

छोटे से चने के हैं बड़े फायदे, दिल को भी रखता है दुरुस्त

चने मे मैंगनीज की प्रचुर मात्रा होती है। इसके अलावा इसमें पोषक तत्व जैसे थियामिन, मैग्नीशियन और फॉस्फोरस भी पाएं जाते हैं जो कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं।

Author February 12, 2019 11:27 AM
छोटे से चने के लाभ (Source: Financial Express)

आप ये तो जानते ही होंगे कि बहुत से लोग सुबह उठकर खाली पेट भिगोया हुआ देशी चना खाते हैं। खासतौर पर वो लोग जो जिम करते हैं या सुबह व्यायाम करते हैं। क्या आप जानते हैं कि लोग इस साधारण से दिखने वाले आहार के साथ अपने दिन की शुरुआत क्यों करते हैं क्योंकि इसमें समाएं है अनेक स्वास्थ्यवर्धक गुण। वसा की मात्रा कम, फाइबर की उच्च मात्रा, विटामिन और मिनरल्स से भरपूर होने के कारण, काला चना वास्तव में आपके आहार में शामिल करने के लिए बेहतर विकल्प हो सकता है। चने का सेवन करने से आपको बादाम या अन्य ड्राई फ्रूट से अधिक लाभ होते हैं। रोज सुबह भीगे हुए चने खाने से होने वाले स्वास्थ्य लाभ इस प्रकार हैं।

उर्जा और इम्यूनिटी को बढ़ाता है:
काले चने मे मैंगनीज की प्रचुर मात्रा होती है। इसके अलावा इसमें पोषक तत्व जैसे थियामिन, मैग्नीशियन और फॉस्फोरस भी पाएं जाते हैं। मैंगनीज के सेवन से आपके शरीर को उर्जा का उत्पादन में मदद मिलती है साथ ही इससे इम्यूनिटी को भी बढ़ाया जा सकता है। इसका सेवन आपको व्यायाम करते वक्त अधिक पसीना निकालने में मदद करता है।

मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है:
चने में आयरन की प्रचुर मात्रा होती है जो कि आपको एनीमिया जैसी समस्या से बचाता है साथ ही इसेक सेवन से आपका मेटाबॉलिज्म भी बढ़ता है। मेटाबॉलिज्म उर्जा के स्तर को बनाएं रखने के महत्वपूर्ण होता है।

वजन घटाने में मदद करता है:
चने में डाइटरी फाइबरी की प्रचुर मात्रा होती है जिसके कारण यह आपको वजन घटाने में मदद करता है। काले चने सोल्यूबल और इनसोल्यूबल फाइबर दोनों से भरपूर होते हैं। सोल्यूबल फाइबर आपके पाचन तंत्र में भोजन के साथ घुलकर एक जैल की तरह पदार्थ बनाता है जिससे पित्त का उत्सर्जन बेहतर तरीके से होता है। साथ ही इनसोल्यूबल फाइबर कब्ज और अन्य पाचन रोग होने से रोकते हैं।

हृदय के स्वास्थ्य को बेहतर करता है:
देशी चने में मैग्नशियम और फॉलेट की प्रचुर मात्रा होती है जो आपकी रक्त वाहिकाओं को मजबूत करता है। साथ ही यह बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करता है जिससे हृदय स्वास्थ्य बेहतर रहता है और हृदय रोग होने की संभावनाएम कम होती हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App