ताज़ा खबर
 

बिहार में AES ने ले ली 43 मासूमों की जान, जानिए क्या है ये बीमारी और कैसे बचें इससे

Acute Encephalitis Syndrome in India: एसकेएमसीएच के मेडिकल सुप्रीडेंटेंड डॉ एस के शाही ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया, "सभी मामले एईएस के अंदर आते हैं, लेकिन लोग इसे एक बीमारी मानते हैं। यह सिर्फ एक सिंड्रोम है।

बच्चे हुए एक्यूट एन्सेफलाइटिस सिंड्रोम के शिकार

Acute Encephalitis Syndrome: इस महीने में बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के दो अस्पतालों में एक्यूट एन्सेफलाइटिस सिंड्रोम(एईएस) से पीड़ित होने के बाद 10 साल से कम उम्र के 43 बच्चों की मौत हो गई है। राज्य सरकार ने एईएस को मौत का कारण नहीं बताया है। उन्होंने अधिक केस में हाइपोग्लाइसीमिया को जिम्मेदार ठहराया है – जिसका मतलब है लो ब्लड शुगर लेवल। हालांकि, विशेषज्ञों का कहना है कि हाइपोग्लाइसीमिया एईएस का ही एक हिस्सा है।

एसकेएमसीएच के मेडिकल सुप्रीडेंटेंड डॉ एस के शाही ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया, “सभी मामले एईएस के अंदर आते हैं, लेकिन लोग इसे एक बीमारी मानते हैं। यह सिर्फ एक सिंड्रोम है। हाइपोग्लाइसीमिया सबसे अधिक मौत का कारण होता है। ” “हम एईएस का उपयोग करने से बच रहे हैं क्योंकि यह गलत धारणा बनाता है। यहां बताई गई 36 मौतों में से 25 हाइपोग्लाइसीमिया के कारण हुईं है और पांच हाइपोग्लाइसीमिया और इलेक्ट्रोलाइट्स के असंतुलन के कारण हुईं है। छह मौतों के कारण का अभी पता नहीं चला है।”

इंडियन एकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक्स एसोसिएशन के कार्यकारी समिति के सदस्य और जिले के एक प्रमुख बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. अरुण शाह ने कहा, “कोई कैसे कह सकता है कि ये एईएस का मामला नहीं है? हाइपोग्लाइसीमिया इसी का एक हिस्सा है। एक स्वस्थ बच्चे में शुगर की मात्रा सीमित होती है, लेकिन एक गरीब और अल्पपोषित बच्चे के शरीर में शुगर का कोई स्टॉक नहीं होता है।”

आइए जानते हैं एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम(एईएस) क्या होता है और इसके कारण और लक्षण क्या हैं:

एक्यूट एन्सेफलाइटिस सिंड्रोम(एईएस) क्या होता है?
एन्सेफलाइटिस दिमाग में होने वाली एक सूजन होती है। वैसे तो इसके कई कारण होते हैं, लेकिन सबसे आम वायरल इंफेक्शन है। एन्सेफलाइटिस के कई कारण हैं: वायरस, बैक्टीरिया, केमिकल और यहां तक कि ऑटोइम्यून रिएक्शन्स भी। ज्यादातर डॉक्टर इंसेफेलाइटिस को वायरल बीमारी मानते हैं।

एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम(एईएस) के कारण:
– सर्दी-जुकाम
– वायरल इंफेक्शन
– बैक्टीरियल इंफेक्शन

एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम(एईएस) के लक्षण:
– बुखार
– सिर दर्द
– मांसपेशियों और हड्डियों में दर्द
– कमजोरी और थकान
– सुनने और बोलने में परेशानी होने लगना

एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम(एईएस) के बचने के उपाय:

– साफ-सफाई रखना
– वैक्सिनेशन लेते रहना
– बर्तन या ड्रिंक्स शेयर ना करें
– अपने बच्चों को सही आदतें सिखाएं
– मच्छरों से बचने के लिए पूरे कपड़ें पहनें
– प्यूरिफाइड पानी पिएं

(और Health News पढ़ें)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X