ताज़ा खबर
 

यूरिक एसिड के कारण बढ़ गया है जोड़ों में दर्द तो गर्मियों के मौसम में अपनी डाइट में शामिल करें ये फल

हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक ब्लड में जब यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है तो इससे किडनी डैमेज होने के साथ ही गाउट, गठिया, जोड़ों में दर्द और सूजन की समस्याएं होने लगती हैं।

हाई यूरिक एसिड से लोगों को हाथ-पैरों की उंगलियों में दर्द और सूजन हो जाती है

बॉडी में मौजूद कुछ कोशिकाओं और खाद्यय पदार्थों से यूरिक एसिड बनता है। यह खून के जरिए किडनी तक पहुंचता है, जहां से किडनी इसे छनकर अलग कर देती है और मूत्र-मार्ग के जरिए शरीर से यूरिक एसिड बाहर निकल जाता है। लेकिन जब शरीर में यूरिक एसिड का प्रोडक्शन अधिक मात्रा में होने लगता है तो इससे किडनी पर दबाव बढ़ता है। जिसके कारण किडनी इसे छानकर अलग नहीं कर पाती।

खून में मौजूद रहने की वजह से धीरे-धीरे यूरिक एसिड क्रिस्टल्स में तब्दील होने लगता है और हड्डियों के बीच में इक्ट्ठा हो जाता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक ब्लड में जब यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है तो इससे किडनी डैमेज होने के साथ ही गाउट, गठिया, जोड़ों में दर्द और सूजन की समस्याएं होने लगती हैं। हालांकि, खानपान और जीवन-शैली में बदलाव कर शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा को कम किया जा सकता है। शरीर में यूरिक एसिड बढ़ाती हैं ये चीजें, गठिया के मरीज रहें कोसों दूर

हाई यूरिक एसिड की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप गर्मियों के मौसम में मिलने वाले ये फल अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं।

-केला: केले में पोटैशियम की अच्छी-खासी मात्रा होती है, जो यूरिक एसिड की मात्रा को कंट्रोल करने में कारगर हैं। केला यूरिक एसिड को छोटे-छोटे क्रिस्टल्स में बंटने से रोक सकता है। ऐसे में गठिया के मरीजों को केले का सेवन करना फायदेमंद साबित हो सकता है।

-आम: आम में एंटी-ऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं, यह ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में कारगर है। इसी के साथ आम खून से यूरिक एसिड को अलग करने में भी मदद करता है। आम वजन को कम करने मे भी मदद करता है। ऐसे में आप अपनी डाइट में आम को शामिल कर सकते हैं।

-सेब: सेब में मैलिक एसिड की अच्छी-खासी मात्रा होती है। यूरिक एसिड के मरीजों को रोजाना दो सेब का सेवन करना चाहिए। इसके अलावा यूरिक एसिड के मरीज सेब के सिरका का भी सेवन कर सकते हैं।

-संतरा: संतरे में विटामिन-सी समेत कई तरह के पोषक तत्व मौजूद होते हैं। यह शरीर से सभी विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में कारगर है। ऐसे में गठिया के मरीजों को नियमित तौर पर संतरे का सेवन करना चाहिए।

Next Stories
1 धूम्रपान और तंबाकू का सेवन करना फेफड़ों के लिए है बड़ा खतरा, बाबा रामदेव ने बताए निजात पाने के लिए योगासन
2 अंजीर का अधिक सेवन लिवर को कर सकता है डैमेज, होती हैं ये स्वास्थ्य परेशानियां
3 अगर आप भी करते हैं कच्चे चावल का सेवन तो हो जाइए सावधान, हो सकती हैं ये गंभीर समस्याएं
ये पढ़ा क्या?
X