ताज़ा खबर
 

मां और बच्चे दोनों की सेहत के लिए फायदेमंद हैं ये फूड्स, प्रेग्नेंसी के दौरान अपनी डाइट में करें शामिल

हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक गर्भवास्था के दौरान महिलाओं को हर रोज कम से कम 75 से 100 ग्राम प्रोटीन का सेवन करना चाहिए। क्योंकि, प्रोटीन फीटल टिशू, ब्रेस्ट और यूटेरिन टिशू को बढ़ाते हैं।

विटामिन-सी, विटामिन-बी, सेलेनियम, ओमेगा फैटी एसिड्स युक्त भोजन को अहमियत दें

गर्भावस्था का समय हर महिला की जिंदगी में खास महत्व रखता है। क्योंकि, इस दौरान उनके अंदर एक नन्हीं जान पल रही होती है। ऐसे में उन्हें अपने खानपान का ध्यान रखना बेहद ही जरूरी होता है। इस दौरान महिलाओं की अपनी सेहत के प्रति जिम्मेदारी अधिक बढ़ जाती है। इन नौ महीनों में महिलाए में कई प्रकार के शारिरिक, मानसिक और भावनात्मक बदलाव आते हैं। जहां पहली तिमाही में जी मिचलाना और मॉर्निंग सिकनेस की समस्या होती है। वहीं बाद के समय में वजन बढ़ने और बॉडी फिगर बदलने को लेकर भी महिलाएं चिंतित हो जाती हैं।

हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक गर्भवास्था के दौरान महिलाओं को हर रोज कम से कम 75 से 100 ग्राम प्रोटीन का सेवन करना चाहिए। क्योंकि, प्रोटीन फीटल टिशू, ब्रेस्ट और यूटेरिन टिशू को बढ़ाते हैं। गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को कार्बोहाइड्रेट, कैलोरीज, फोलेट, आयरन और फैट समेत सभी पोषक तत्वों से भरपूर डाइट का सेवन करने की सलाह दी जाती है।

कुछ ऐसी फूड्स हैं, जिनमें इन सभी पोषक तत्वों की भरपूर मात्रा होती है। गर्भवती महिलाएं इन फूड्स को अपनी डाइट में शामिल कर सकती हैं।

प्रोटीन के लिए करें इन चीजों का सेवन: मछली, लीन, मीट, चिकन और अंडे का प्रोटीन का सबसे बड़ा स्त्रोत माना जाता है। इसके अलावा क्विनोआ, टोफू, सोया प्रोडक्ट्स, सेमस, मसूर, फलियां, चने, नट्स और बीस में भी प्रोटीन की अधिक मात्रा पाई जाती है। ऐसे में आप यह चीजें अपनी डाइट में शामिल कर सकती हैं।

डेयरी प्रोडक्ट्स: डेयरी प्रोडक्ट्स् जैसे दूध, दही, पनीर छाछ, मलाई और घी आदि में प्रोटीन, फैट, कैल्शियम और फास्फोरस की अच्छी खासी मात्रा पाई जाती है। आप अपनी डाइट में यह चीजें भी शामिल कर सकती हैं। बता दें, आप एक दिन में 3 सर्विंग ले सकती हैं।

फाइबर: बॉडी में फाइबर की पूर्ति के लिए साबुत अनाज की रोटी, ब्राउस राइस, साबुत अनाज का पास्ता, फलियां, दाल, फल और सब्जियों का सेवन कर सकते हैं। बता दें, गर्भावस्था के दौरान महिलाओं में कब्ज होने का खतरा अधिक होता है। फाइबर के सेवन से यह जोखिम कम हो सकता है।

कार्ब्स: गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को अधिक थकान और कमजोरी महसूस होती है। ऐसे में उन्हें कार्ब्स का सीमित मात्रा में सेवन करना चाहिए। आप चाहें तो अपनी डाइट में चावल, आलू, दलिया और ब्रेड आदि को शामिल कर सकती हैं।

 

Next Stories
1 केवल गर्मी से ही नहीं बल्कि इन बीमारियों के कारण भी बार-बार सूखने लगता है गला, जानिये
2 हाई यूरिक एसिड से ग्रस्त मरीज भूलकर भी न करें इन चीजों का सेवन, बढ़ सकती है परेशानी
3 बेली फैट घटाने में कारगर है शहद, इन 3 तरीकों से कर सकते हैं इस्तेमाल
आज का राशिफल
X