scorecardresearch

Diabetes Habits: डायबिटीज के खतरे से बचना है तो छोड़ दें ये 7 आदतें! नहीं तो बढ़ सकती हैं समस्याएं

Bad Habits That Increase Diabetes Risk: हमारी जीवनशैली में ऐसी कई आदतें हैं, जिनकी वजह से मधुमेह का खतरा बढ़ सकता है। ऐसी आदतों को छोड़ दें-

Diabetes Habits: डायबिटीज के खतरे से बचना है तो छोड़ दें ये 7 आदतें! नहीं तो बढ़ सकती हैं समस्याएं
Blood Sugar को कैसे करें कंट्रोल, जानिए आसान टिप्‍स (फोटो-Freepik)

मधुमेह आज भारत में एक आम समस्या बन गई है । इससे पीड़ित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। विशेषज्ञों के अनुसार, हमारी सुस्त और आलसी जीवन शैली और अनुचित खान-पान मधुमेह रोगियों की संख्या में वृद्धि के पीछे सबसे बड़ा कारण है। भारत में मधुमेह के लाखों मरीज हैं और यह संख्या तेजी से बढ़ रही है।

डब्ल्यूएचओ के अनुसार, मधुमेह 2 प्रकार के होते हैं। टाइप 1 मधुमेह किसी भी व्यक्ति को विरासत में मिल सकता है। जबकि टाइप 2 मधुमेह गलत आदतों, अनुचित आहार और हमारी गलत जीवन शैली के कारण होता है। आप टाइप 1 मधुमेह को नियंत्रित नहीं कर सकते हैं, लेकिन आप टाइप 2 मधुमेह को रोक सकते हैं। किसी भी बीमारी का इलाज करने के लिए बीमारी के कारण का पता लगाना बहुत जरूरी है। मधुमेह पर भी यही मानदंड लागू होता है। हमारी जीवनशैली में कई ऐसी आदतें होती हैं, जिनकी वजह से हम इस बीमारी से ग्रसित हो जाते हैं। डायबिटीज से बचना है तो आज ही छोड़ दें ये आदतें-

नाश्ता छोड़ना

सुबह का हल्का नाश्ता सेहत के लिए बहुत जरूरी होता है। अगर आप सुबह का नाश्ता नहीं करते हैं तो आप मधुमेह के शिकार हो सकते हैं। क्योंकि नाश्ता स्किप करने से आप दिन भर पेट भर खाएंगे। अगर आपके पास नाश्ता करने का समय नहीं है तो आप कुछ फल भी खा सकते हैं। मधुमेह से बचाव के लिए बेहतर है कि दिन की शुरुआत पौष्टिक भोजन से करें।

लंबे समय तक बैठे रहना

लंबे समय तक बैठे रहने से भी अक्सर मधुमेह हो सकता है। कंप्यूटर पर काम करते हुए देर तक बैठे रहना, सोफ़े पर काम करना आपकी सेहत के लिए खतरा बढ़ा देता है। कई शोधों में यह बात सामने आई है कि 30 मिनट से ज्यादा बैठने से टाइप 2 डायबिटीज समेत शरीर में कई तरह की समस्याएं हो जाती हैं। यदि आप कोई भी गतिहीन काम करते हैं तो बीच-बीच में ब्रेक लेना चाहिए। यही कारण है कि अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन (एडीए) की सिफारिश है कि हर कोई, यहां तक ​​कि बिना मधुमेह वाले भी हर 30 मिनट में उठें और घूमें।

देर से सोना

देर रात तक सोने की आदत से शरीर में कई तरह की समस्याएं हो जाती हैं। अच्छी सेहत के लिए रात की अच्छी नींद जरूरी है। डायबिटीज की समस्या ज्यादातर उन लोगों में पाई जाती है जो देर रात तक काम करते हैं। देर से सोने से शरीर का मेटाबॉलिज्म प्रभावित होता है। नींद की कमी से मधुमेह का खतरा बढ़ जाता है। डायबेटोलोजिया में 2020 में प्रकाशित एक अध्ययन में शोधकर्ताओं ने लगभग 900,000 लोगों के डीएनए का अध्ययन किया और पाया कि अनिद्रा वाले लोगों में टाइप 2 मधुमेह विकसित होने की संभावना 17 प्रतिशत अधिक थी। नींद की कमी से हार्मोनल संतुलन बिगड़ जाता है।

प्रोसेस्ड फूड भोजन और मांस खाने से बचें

आजकल हमारे खाने का अंदाज पूरी तरह से बदल चुका है। हम अपने दैनिक जीवन में कई ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करने लगे हैं जो हमें भविष्य में कई बीमारियों का कारण बन सकते हैं। एक अध्ययन के अनुसार, प्रोसेस्ड फूड खाने से मधुमेह का खतरा 15 प्रतिशत तक बढ़ जाता है। रेड मीट खाने से मधुमेह भी होता है, इसलिए आपको ऐसे खाद्य पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए।

धूम्रपान और शराब पीना

यदि आप धूम्रपान करने वाले हैं, तो आपको अन्य लोगों की तुलना में मधुमेह का अधिक खतरा है। रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) के अनुसार, धूम्रपान न करने वालों की तुलना में धूम्रपान करने वालों में मधुमेह होने की संभावना 30 से 40 प्रतिशत अधिक होती है। मधुमेह के अलावा धूम्रपान और शराब के सेवन से हृदय रोग और उच्च कोलेस्ट्रॉल जैसी बीमारियां भी होती हैं। धूम्रपान रक्त कोशिकाओं को प्रभावित करता है और रक्त वाहिकाओं को भी संकुचित करता है, जिससे दिल का दौरा पड़ने का खतरा बढ़ जाता है।

मीठा खाना

अगर आप मधुमेह की समस्या से बचना चाहते हैं तो आपको चीनी और मीठी चीजों से दूर रहना होगा। शुगर मधुमेह के लिए सबसे खतरनाक कारक है। अगर आपको मधुमेह है, तो कम कार्ब्स वाले चीनी मुक्त खाद्य पदार्थ खाएं। मधुमेह वाले लोग डार्क चॉकलेट खा सकते हैं क्योंकि इसमें अन्य चॉकलेट की तुलना में बहुत कम चीनी होती है।

कम पानी पीना

पानी हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। आमतौर पर डॉक्टर 5-6 लीटर पानी पीने की सलाह देते हैं। पानी कई बीमारियों को दूर करता है। शोधकर्ताओं ने पाया है कि जो लोग कम पानी पीते हैं उनमें उच्च रक्त शर्करा के स्तर का खतरा अधिक होता है। लीवर और किडनी में पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ की कमी के कारण ब्लड शुगर बढ़ने लगता है। पानी का सेवन बढ़ाने से मधुमेह का खतरा कम हो सकता है।

देर रात का खाना

देर रात तक जगने से आपको भूख लगती है और देर से खाना खाने से आप मधुमेह से पीड़ित हो सकते हैं। रात के खाने के बाद देर रात, उच्च कार्बोहाइड्रेट वाला भोजन खाने से रक्त शर्करा का स्तर बढ़ सकता है और मधुमेह हो सकता है। कोशिश करें कि दिन में तीन बार संतुलित, पौष्टिक भोजन करें और देर रात को कुछ भी खाने से बचें।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 25-09-2022 at 09:53:56 am
अपडेट