शरीर में अगर दिखाई दें ये 6 लक्षण तो Diabetes का हो सकता है इशारा, ऐसे करें पहचान

Diabetes Common Symptoms: ज्यादा पेशाब करने के कारण भी कोशिकाओं को हाइड्रेटेड रखने के लिए अधिक फ्लूईड्स की जरूरत होती है। इसलिए लोगों को ज्यादा प्यास लग सकती है।

diabetes, diabetes symptoms, diabetes common symptoms, high blood sugar signsमधुमेह बीमारी के जो आम लक्षण हैं उसमें प्यास ज्यादा लगना, बार-बार पेशाब जाने की इच्छा, अत्यधिक थकान और वजन में अधिकता या गिरावट शामिल है

Diabetes Symptoms: जब शरीर में ब्लड शुगर का स्तर बढ़ जाता है तो डायबिटीज से ग्रस्त होने का खतरा भी बढ़ जाता है। कई बार लोगों को पता ही नहीं चल पाता है कि वो डायबिटीज की चपेट में हैं, ऐसा इसलिए क्योंकि इसके लक्षण जल्दी सामने नहीं आते हैं। सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन के मुताबिक डायबिटीज के करीब एक-तिहाई लोगों को इस बात की खबर ही नहीं होती है कि वो इस गंभीर से ग्रस्त हैं। यही नहीं, जिन लोगों में डायबिटीज टाइप 2 बीमारी का खतरा होता है, उन्हें भी इस बात का अंदाजा नहीं होता है। इस स्थिति को प्री-डायबिटीज कहा जाता है। आइए जानते हैं विस्तार से –

आमतौर पर डायबिटीज की कई वॉर्निंग साइन्स होती हैं जिनमें से बात करेंगे 6 आम मधुमेह बीमारी के लक्षणों की जिनसे इस बीमारी का आसानी से पता चल जाएगा।

बार-बार पेशाब लगना: डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है जिसमें शरीर के लिए ग्लूकोज यानी ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करना मुश्किल हो जाता है। उच्च रक्त शर्करा के कारण किडनी शरीर से एक्स्ट्रा ग्लूकोज यूरिन के जरिये निकालता है। ऐसे में यूरिन प्रोडक्शन बढ़ जाता है जिससे लोगों को बार-बार पेशाब जाने की जरूरत होती है। यही कारण है कि अगर आपको भी ये परेशानी हो रही है तो डायबिटीज से जुड़ी जांच करा लेनी चाहिए।

अधिक प्यास लगना: जब ब्लड शुगर की मात्रा बढ़ जाती है तो शरीर सेल्स में मौजूद पानी को खींचता है जिससे ब्लड डाइल्यूट हो जाता है। इस प्रक्रिया से शरीर में डिहाइड्रेशन होने लगती है। साथ ही, ज्यादा पेशाब करने के कारण भी कोशिकाओं को हाइड्रेटेड रखने के लिए अधिक फ्लूईड्स की जरूरत होती है। इसलिए लोगों को ज्यादा प्यास लग सकती है।

धुंधलापन: ब्लड शुगर को बैलेंस करने के लिए शरीर को फ्लूईड्स की आवश्यकता होती है। ऐसे में डायबिटीज के मरीजों की आंखों से भी फ्लूईड्स सूखने लगते हैं। इस कारण आंखों की लेंस में स्वेलिंग हो सकती है जिससे धुंधलापन की शिकायत हो सकती है।

ज्यादा भूख लगना: डायबिटीज रोगी इंसुलिन रेजिसटेंस से जूझते हैं इस कारण शरीर को खाने भोजन से एनर्जी प्राप्त नहीं हो पाती है। बता दें कि इंसुलिन रेजिसटेंस ग्लूकोज को मांसपेशियों में प्रवेश करने और उन्हें ऊर्जा प्रदान करने से रोकता है। ऐसे में शरीर हर समय भूखा महसूस करता है।

वजन में गिरावट: वजन में गिरावट भी डायबिटीज की एक चेतावनी है। इंसुलिन रेजिसटेंस के कारण शरीर को ताकत नहीं मिल पाती है।

थकान: जब शरीर को पर्याप्त मात्रा में एनर्जी नहीं मिलता है तो थकान महसूस होती है। अगर पूरी नींद लेने के बावजूद आपको थकान महसूस हो रही है तो ब्लड शुगर लेवल चेक कराएं।

Next Stories
1 Corona के मरीज डाइट में इन 5 फूड्स को करें शामिल, जल्दी उबरने में मिलेगी मदद
2 30 की उम्र के बाद कैसी होनी चाहिए डाइट? जानें क्या खाएं और क्या नहीं…
3 कोरोना काल में शुगर के मरीज कैसे रखें अपना ख्याल, जानें Diabetes रोगी किन बातें का रखें ध्यान
यह पढ़ा क्या?
X