कॉलेज पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ तो लड़कों ने मांगा रोजगार, पूछा- भरतिया कहिया आई महाराज जी?

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक कॉलेज में पहुंचे थे। यहां उन्हें देखते ही युवा सरकारी नौकरी की भर्तियों को लेकर सवाल पूछने लगे।

yogi adityanath, hindustan purvanchal samman samaroh
यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ (फोटो- एक्सप्रेस आर्काइव)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हाल ही में गोरखपुर के सर्वोदय किसान पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज पहुंचे थे। यहां उन्हें युवाओं के विरोध का सामना करना पड़ा। सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें तमाम युवा सीएम के सामने नौकरी का मुद्दा उठाते दिख रहे हैं। हालांकि योगी इस पर कोई जवाब नहीं देते हैं और सीधा चले जाते हैं। पूर्व आईएएस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह ने ये वीडियो ट्विटर पर साझा किया है।

वीडियो में दिख रहा है कि सीएम योगी अफसरों के साथ आगे बढ़ रहे हैं। इसी दौरान आसपास खड़े तमाम नौजवान चिल्लाने लगते हैं। युवक योगी को देखते ही पूछने लगते हैं, ‘महाराज जी, भर्ती अभी तक नहीं आई है। आर्मी क भरतिया कहिया आई महाराज जी?’ हालांकि सीएम इन नौजवानों की बातों को अनसुनी कर आगे बढ़ जाते हैं।

वीडियो शेयर करते हुए पूर्व IAS सूर्य प्रताप सिंह लिखते हैं, ‘योगी जी का अपने गृह जनपद में ये हाल? बेरोजगार युवकों के सवाल का सामना करने में डर लगता है महाराज? शायद गोदी मीडिया के रटे-रटाए सवालों का जवाब देने की आदत हो गई है। अब क्या इन छात्रों पर केस होगा? राजद्रोह लगेगा? या इन्हें गैंगस्टर घोषित कर इनका घर गिरा दिया जाएगा? युवा समझ चुका है कि डर के आगे जीत है। युवाशक्ति जिंदाबाद।’

उधर, वरिष्ठ पत्रकार संजय शर्मा ने भी ये वीडियो शेयर करते हुए लिखा है, ‘हालात कैसे हैं खुद देख लीजिये। सीएम के गोरखपुर दौरे के दौरान ही नौजवान भर्तियों को लेकर उनके सामने चीखने लगे। बेरोजगारी गंभीर समस्या है। दिल्ली में चार लाख नौकरी देकर नंबर वन होने के होर्डिंग लगाने से सच छुप नहीं जाता। टीवी चैनल और पेपर के विज्ञापन की जगह धरातल पर काम करिये।’

यूजर्स भी दे रहे प्रतिक्रिया: वायरल हो रहे इस वीडियो पर लोगों की भी अलग-अलग प्रतिक्रिया आ रही है। एस. कुमार सिंह नाम के ट्विटर यूजर लिखते हैं, ‘यूपी में 50 सीट भी बीजेपी की नहीं आएगी। 100 पार करना तो बहुत मुश्किल है। ब्राह्मण वोटरों को लुभाने का प्रयास किया जा रहा है, जबकि अमर दुबे की पत्नी को जेल में डाला हुआ है।’ यूजर राम किशोर शर्मा लिखते हैं, ‘गरीब लाचार बेरोजगार हो गए हैं और विरोध करना तो सबका अधिकार है। भगवान के घर देर है पर अंधेर नहीं।’

बाबर नक़वी नाम के ट्विटर यूजर लिखते हैं, ‘डरो बेरोजगारों कहीं पूरे प्रदेश के बेरोजगारों को जेल में डालने का आदेश न दे दें।’ यूजर आलोक लिखते हैं, ‘लगता है 2022 के चुनाव में योगी जी को वही उपाधि दी जाएगी जो नीतीश कुमार को बिहार चुनाव के समय जनता दिया करती थी।’ विकास सिंह नाम के ट्विटर यूजर लिखते हैं, ‘बहुत हुआ अत्याचार, अब मैदान में लड़ेगा युवावाद, सभी युवा एक हों।’ यूजर सैयद अख़्तर तंज कसते हुए लिखते हैं, ‘देशद्रोह का केस तो बनता है बेरोजगारों पर।’

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट