ताज़ा खबर
 

रजनीकांत ने कहा- अगर राजनीति मैं आया पीछे भागने वालों को दिखा दूंगा बाहर का रास्ता

तमिल सुपरस्टार रजनीकांत ने आज कहा कि उनका राजनीति में शामिल होने का कोई इरादा नहीं है लेकिन अगर उन्होंने ऐसा किया तो वह ‘पैसे के पीछे भागने वाले’ लोगों को बाहर का दरवाजा दिखा देंगे।

Author चेन्नई | May 15, 2017 6:32 PM
तमिल सुपरस्टार रजनीकांत

तमिल सुपरस्टार रजनीकांत ने आज कहा कि उनका राजनीति में शामिल होने का कोई इरादा नहीं है लेकिन अगर उन्होंने ऐसा किया तो वह ‘पैसे के पीछे भागने वाले’ लोगों को बाहर का दरवाजा दिखा देंगे। अभिनेता ने बताया कि उनकी कोई राजनीतिक महत्वाकांक्षा नहीं है लेकिन यह कहे जाने के बावजूद कि वह ना तो प्रभावशाली नेता हैं और ना ही सामाजिक कार्यकर्ता, अक्सर उन्हें राजनीतिक बहस में घसीट लिया जाता है।  उन्होंने यहां जुटे प्रशंसकों से कहा, ‘‘मेरा जीवन ईश्वर के हाथों में है। मुझे नहीं पता कि उन्होंने मेरे लिए क्या सोच रखा है। लेकिन वह जो काम मुझे देते हैं, उसे मैं हमेशा निभाता हूं। इसलिए अगर मैं राजनीति में नहीं आता हूं तो निराश होने की जरूरत नहीं है ।

लेकिन अगर वह राजनीति में आते हैं तो यह सुनिश्चित करेंगे कि भौतिक लाभ की इच्छा रखने वाले लोगों के लिए वहां कोई जगह न हो।
वर्ष 1996 में 66 वर्षीय अभिनेता ने द्रमुक-टीएमसी गठबंधन को तमिलनाडु में समर्थन दिया था जो उस साल चुनाव में विजय हुयी थी। लेकिन वह तब से किसी भी राजनीतिक गतिविधि में शामिल नहीं हुये हैं।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Space Grey
    ₹ 25799 MRP ₹ 30700 -16%
    ₹4000 Cashback
  • Micromax Bharat 2 Q402 4GB Champagne
    ₹ 2998 MRP ₹ 3999 -25%
    ₹300 Cashback

सुपरस्टार रजनीकांत ने सोमवार को कहा कि उनकी कोई राजनीतिक महत्वकांक्षा नहीं है, लेकिन अगर ईश्वर की ऐसी मर्जी हुई तो वह राजनीति में जाने के बारे में सोचेंगे। रजनीकांत ने चेन्नई में अपने प्रशंसकों से कहा, “ईश्वर ही इस बात का फैसला करते हैं कि हम जिंदगी में क्या करेंगे। फिलहाल वह चाहते हैं कि मैं एक अभिनेता रहूं और मैं अपनी जिम्मेदारी निभा रहा हूं। अगर ईश्वर ने चाहा तो भविष्य में मैं राजनीति में प्रवेश करूंगा। अगर मैं राजनीति में गया तो मैं बेहद ईमानदारी से काम करूंगा और पैसे कमाने के लिए राजनीति में आने वालों का साथ नहीं दूंगा।

अभिनेता ने दो दशक पहले अपने राजनीतिक दखल को भूल करार दिया। उल्लेखनीय है कि 1996 में तमिलनाडु विधानसभा चुनाव के प्रचार के दौरान रजनीकांत ने जयललिता और उनकी राजनीति की निंदा की थी। माना जाता है कि उनकी टिप्पणियों के कारण जयललिता की बुरी तरह हार हुई थी।

उन्होंने कहा, मैंने 21 साल पहले एक राजनीतिक गठबंधन का समर्थन करके एक भूल की थी। वह एक राजनीतिक दुर्घटना थी। उसके बाद से नेताओं ने कई जगह मेरे नाम का गलत प्रयोग किया। लेकिन मैं किसी भी पार्टी में शामिल होने नहीं जा रहा। रजनीकांत ने अपने प्रशंसकों से सिगरेट और शराब से दूर रहने की अपील भी की।

उन्होंने कहा, अपने परिवार और बच्चों का ध्यान रखें। सिगरेट और शराब के सेवन से अपनी जिंदगी बर्बाद न करें। इससे आपकी सेहत ही प्रभावित नहीं होती, बल्कि आपकी निर्णय लेने की क्षमता भी प्रभावित होती है। मैं खुद भी इससे बुरी तरह प्रभावित हो चुका हैं। इसलिए मेरी सलाह को गंभीरता से लें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App