क्यों बुझ रहे हैं चमकते सितारे

एक मुस्कुराते और बुलंद हौसलों के मालिक उम्मीदों से भरे सिद्धार्थ शुक्ला महज 40 साल की उम्र में दिल का दौरा पड़ने से दुनिया को अलविदा कह गए।

(बाएं) सुशांत सिंह राजपूत, सिद्धार्थ शुक्ला।

आरती सक्सेना

एक मुस्कुराते और बुलंद हौसलों के मालिक उम्मीदों से भरे सिद्धार्थ शुक्ला महज 40 साल की उम्र में दिल का दौरा पड़ने से दुनिया को अलविदा कह गए। ‘बिग बॉस 13’ में सिद्धार्थ हर किसी के दिल में घर कर गए थे। लिहाजा उनके निधन की खबर ने हर किसी को चौंका दिया। पिछले साल सुशांत सिंह राजपूत भी कम उम्र में दुनिया को अलविदा कह गए तब भी लोगों के मन में दुख के साथ यही सवाल था कि क्यों चमकते सितारे असमय अलविदा कह रहे हैं। उनकी जिंदगी में ऐसी क्या मजबूरी और परेशानियां हैं, जिन्हें वे बर्दाश्त नहीं कर पा रहे हैं।

कहते हैं सफलता पाना उतना मुश्किल नहीं है जितना कि उसे संभाल पानौ। जब काफी जतन और मेहनत के बाद किसी कलाकार को सफलता मिलती है तो उसके साथ ही शुरू होेता है उसके पेशेवर जीवन में तनाव और असुरक्षा की भावना। सबसे बड़ी असुरक्षा यही होती है कि अगर यह सब नही रहा तो क्या होगा। जैसे-जैसे इनको सफलता मिलती है इनमे संयम की कमी होती जाती है और ऐसे में जब इनको कई बार विफलता का सामना करना पड़ता है तो ये कलाकार अवसाद ओर कई मानसिक बीमारियों की गिरफ्त में आ जाते हैं।

इसके बाद इससे निजात पाने के लिए सितारे शराब, सिगरेट और नशा करने लगते हैं ताकि मानसिक तौर पर अपने को सही रख पाएं। लेकिन उनकी यही आदतें उन्हें गलत राह पर ले जाती हैं।वैसे बॉलीवुड में कई ऐसे दिग्गगज कलाकार हंै जो व्यसनों से दूर रहते हैं। सादा जीवन, उच्च विचार में विश्वास करते हैं जैसे कि अक्षय कुमार, जॉन अब्राहम और अमिताभ बच्चन। ऐसा नहीं है कि इन अभिनेताओं पर मुसीबत नहीं आई। ये भी उन मुश्किलों से गुजरे हैं, जिनका हर सफल कलाकार को सामना करना पड़ता है। लेकिन इन कलाकारों ने अपना संयम अपना अनुशासन बनाए रखा।

कोरोना काल के दो साल हर किसी के लिए बहुत खराब गुजरे हैं। आम लोग तो इस दौर में बेरोजगारी और आर्थिक तंगी से गुजर ही रहे हैं लेकिन ग्लैमर वर्ल्ड को सबसे ज्यादा नुकसान उठाना पड़ा है। पूर्णबंदी के दौरान कई मॉडल कलाकार तकनीशियन काम के अभाव में बेरोजगार हो गए। रोजमर्रा की चीजें खरीदने के भी लाले पड़ गए। ऐसे में कई जूनियर कलाकार सड़क पर फल और सब्जियां बेचने को भी मजबूर हुए। रोनित राय, पारस छाबड़ा जैसे कई कलाकारों ने अपनी अर्थिक समस्या का जिक्र भी सोशल मीडिया पर किया। इस संकट के कारण कलाकारों को अपनी जीवन शैली और रुतबा बरकरार रखना मुश्किल हो गया। लिहाजा कई कलाकारों ने कर्ज में डूब कर आत्महत्या कर ली या फिर अत्याधिक तनाव के कारण दिल का दौरा पड़ने से उनकी जान चली गई।

अक्षय कुमार की बुआ के लड़के सचिन कुमार का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। टीवी अभिनेत्री प्रेक्षा मेहता ने पंखे से लटक कर आत्महत्या की। वजह अवसाद और तनाव। पे्रक्षा भी पूर्णबंदी आर्थिक तंगी से परेशान थी। भोजपुरी अभिनेत्री अनुपमा पाठक ने 40 साल की उम्र में अवसाद के कारण आत्महत्या की।

बिग बॉस कन्नड़ की प्रतियोगी जयश्री रमैया ने अवसाद के कारण आत्महत्या की। संगीतकार साजिद वाजिद के वाजिद का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। टीवी अभिनेत्री मनमीत ग्रेवाल ने आर्थिक तंगी के कारण पंखे से लटक कर आत्महत्या की।फिल्म लव सेक्स धोखा से फिल्मो में पर्दापण करने वाली अभिनेत्री आर्या बनर्जी ने डिप्रेशन के चलते आत्महत्या की। मराठी अभिनेता अविनाश खारसीकर का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। क्योंकि सास भी कभी बहू थी, फेम 44 साल के समीर शर्मा ने अपने घर में आत्महत्या की। आत्महत्या की वजह आर्थिक तंगी बताई जा रही है। टीवी अभिनेत्री सेजल शर्मा ने भी 2020 मे ही फांसी लगा कर आत्महत्या की।

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।