ताज़ा खबर
 

कट सकता था ‘प्यार का पंचनामा’ का 5 मिनट वाला हिट डायलॉग, फिर कैसे बनता ये इतिहास

इस फिल्म में कार्तिक आर्यन ने बिना रुके 5 मिनट का डायलॉग बोला था।

फिल्म ‘प्यार का पंचनामा’ के एक सीन में कार्तिक आर्यन के साथ नुसरत भरुचा।(फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

साल 2011 में अपनी पहली ‘प्यार का पंचनामा’ से फिल्मी करियर की शुरुआत करने वाले 26 साल के कार्तिक आर्यन ने पहली ही फिल्म में इतिहास रच दिया था। इस फिल्म में कार्तिक आर्यन ने बिना रुके 5 मिनट का डायलॉग बोला था। वह डायलॉग बॉलीवुड हिस्ट्री का पहला इतना लंबा डायलॉग था। ये फिल्म टीनएजर के बीच सबसे ज्यादा पंसद की जाने फिल्मों में से एक है। इस फिल्म की सफलता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कुछ ही सालों बाद इसका दूसरा पार्ट यानी ‘प्यार का पंचनामा 2’ भी रिलीज हो गई थी। इन दोनों ही फिल्मों के डायलॉग गजब के थे।

वही पहली ‘प्यार का पंचनामा’ में 5 मिनट का डायलॉग सबसे ज्यादा पंसद किया गया था। लेकिन क्या आपको पता है फिल्म में ये पसंदीदा डायलॉग हटाया जा सकता था? चलिए बताते हैं, आखिर हम ऐसा क्यों कह रहे हैं।

कार्तिक आर्यन यानी रजत ने फिल्म में सबसे लंबा डायलॉग बोला था जो एक बॉयफ्रेंड अपनी गर्लफ्रेंड की किन बातों से परेशान होकर बोलता है। एक इंटरव्यू में इस डायलॉग के बारे में बताते हुए कार्तिक आर्यन ने बताया कि उन्होंने फिल्म के डायरेक्टर लव रंजन से इस डायलॉग को फिल्म से हटाने के लिए कहा था। क्योंकि आर्यन को लगता था कि ये डायलॉग उनके फिल्मी करियर को खराब हो सकता था। और इस डायलॉग को सुनकर लोग उनपर हसेंगे। लेकिन बाद में वही डायलॉग वायरल हो गया और काफी वाह-वाही भी बंटोरी।

फिल्म ‘प्यार का पंचनामा’ के कुछ मजेदार डायलॉग-

– साला समझ नहीं आता प्रॉब्लम क्या है? प्रॉबल्म..प्रॉब्लम ये है कि वो लड़की है सोने से पहले बात करनी है उठने के बाद बात करनी है। भाई दिन पूरा नहीं पड़ता क्या कि आदमी सोने से पहले चैन से लेट नहीं सकता क्या? और ये क्या है टॉल्क मी टू स्लीप? चलों इन्हें सुलाने के लिए मैं वो भी करने को राजी हो जाऊं लेकिन सोते-सोते रात में ऐसी कौन सी भयानत घटना घट जाती है।

– हर लड़की की लाइफ में एक उम्र आती है जब एक ड्राइवर, बॉडीगार्ड, नौकर और ATM चाहिए होता है. इतना सब कुछ तो वो अफोर्ड कर नहीं सकती इसलिए ढूंढती है एक Boyfriend।

– हर कामयाब आदमी के पीछे एक औरत का हाथ होता है, सच है ये… लेकिन कोई ये नहीं बताता कि हर Unsuccessful आदमी के पीछे भी एक औरत ही होती है।

– दो हफ्ते दिमाग चाटेंगी टेबल लेना है..टेबल लेना है.., पांच घंटे मॉल में एक सड़ी सी चप्पल उठाकर ले आएंगी और फिर अगले हफ्ते फिर शुरु हो जाएगा टेबल लेना है, टेबल लेना है..।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App