जब शूट हो रहा था DDLJ का क्लाइमेक्स, हिमानी शिवपुरी के साथ हो गई बहुत बड़ी ट्रेजेडी; खुद बयां किया था अपना दर्द

हिमानी ने एक इंटरव्यू में बताया था- ‘मैं सिर्फ एक अकेली ऐसी एक्टर थी जो उस वक्त डीडीएलजे के क्लाइमेक्स में मौजूद नहीं थी।

हिमानी शिवपुरी, Himani Shivpuri, DDLJ, Dilwale Dulhaniya Le jayenge,
फिल्म DDLJ के गाने में डांस करते हुए हिमानी शिवपुरी (फोटो सोर्स – YRF )

1995 में आई फिल्म ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ ने दर्शकों के खूब दिल जीते थे। आज भी ये फिल्म कई जगह थिएटर्स में लगती है और लोग चाव से इसे देखने आते हैं। इस फिल्म के हर कलाकार और कैरेक्टर ने दर्शकों पर अपनी छाप छोड़ी थी। इनमें से एक थी डीडीएलजे की ‘कम्मो जी’। कम्मो बुआ का कैरेक्टर प्ले करने वालीं हिमानी शिवपुरी जब इस फिल्म की शूटिंग कर रही थीं तो उस वक्त वह पर्सनली काफी बुरे दौर से गुजर रही थीं। हालांकि स्क्रीन पर उनके चेहरे पर कहीं कोई शिकन नजर नहीं आई थी।

दरअसल, उस वक्त हिमानी के पति की तबीयत ठीक नहीं थी। वहीं जब फिल्म का क्लाइमेक्स शूट हो रहा था। पूरी यूनिट सेट पर मौजूद थी। लेकिन उस वक्त हिमानी शिवपुरी सेट से गायब थीं क्योंकि उनके साथ इस बीच एक बड़ी ट्रेजेडी हो गई थी। उस वक्त हिमानी शिवपुरी के पति का देहांत हो गया था। ऐसे में हिमानी खुद को संभाल नहीं पाईं। हालांकि उस वक्त यशराज यूनिट ने भी हिमानी की हालत समझी और उन्हें फौरन जाने के लिए कह दिया था। जबकि उस वक्त हिमानी का एक सीन अभी शूट करना बाकी था।

हिमानी बताती हैं कि उस वक्त वह अकेली थीं उनका साथ देने के लिए कोई पास नहीं था। अंतिम संस्कार से लेकर पिंड दान तक का काम उन्होंने अकेले किया था। जब कि उस वक्त उनका बच्चा उनकी गोद में था।

हिमानी ने एक इंटरव्यू में बताया था- ‘मैं सिर्फ एक अकेली ऐसी एक्टर थी जो उस वक्त डीडीएलजे के क्लाइमेक्स में मौजूद नहीं थी। वजह थी मेरे पति गुजर गए थे। यशराज यूनिट ने मेरी पीढ़ा समझी और मुझे जाने दिया। उस वक्त मेरा अनुपम जी के साथ एक सीन बल्कि बाकी था। लेकिन मेरा दिमाग काम नहीं कर पा रहा था। मैं समझ नहीं पा रही थी कि क्या करूं। मुझे पति का अंतिम संस्कार खुद करना था फिर हरिद्वार में अस्थियां बहाने जाना था। मैंने ये अकेले किया।’

हिमानी ने आगे बताया था- ‘मेरे हाथ में गोदभर का बच्चा था। मैं अकेली पड़ गई थी। ऐसे में गिल्ट होता था जब काम पर या किसी शो पर बच्चे को छोड़ कर अकेली बाहर जाती थी। मुझे याद है कोलकाता में एक शो था जिसे मैं जल्दी पहुंचना चाहती थी पर मेरे पास फ्लाइट की टिकट के पैसे नहीं थे। ऐसे में मैं ट्रेन से गई। वहीं मैंने बच्चे को दूध पिलाया। वो स्ट्रेस जो दिमाग में उस वक्त था वह मैं भूल नहीं सकती। वो स्ट्रगल भुलाया नहीं जा सकता। यह एक महिला है चाहे वो काम पर हो या घर पर बहुत कम ऐसा होता है कि उसके लिए कुछ आसान हो।’

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
दीपिका-अर्जुन को मिली बड़ी राहत, ‘फाइंडिंग फैनी’ से हटा बैन