ऋषि कपूर के कमरे में कॉफी पीने पहुंचे थे अभिषेक बच्चन, एक्टर की इस आदत पर हुए थे हैरान

अभिषेक बच्चन ने ऋषि कपूर के साथ अपने इस किस्से को शेयर करते हुए बताया था- ‘हम शिमला में एक फिल्म की शूटिंग कर रहे थे। तब मैंने देखा कि ऋषि कपूर अपने बेटे पर नजरें बनाए हुए हैं।’

Rishi Kapoor, Abhishek Bachchan, ऋषि कपूर, रणबीर कपूर,
अभिषेक बच्चन के साथ ऋषि कपूर (फोटो सोर्स- All is Well Movie Poster)

अभिषेक बच्चन ने ऋषि कपूर को लेकर एक किस्सा बयां किया था। एक्टर ने बताया था कि ऋषि कपूर रणबीर कपूर पर नजर बनाए रखते हैं। इस बारे में जानने के बाद उन्हें काफी हैरानी हुई थी, वहीं उन्हें ऐसा करते हुए ऋषि कपूर बेहद क्यूट भी लगे थे। एक्टर ने बताया था कि वह एक फिल्म की शूटिंग के सिलसिले में शिमला गए थे। ऋषि कपूर और अभिषेक एक ही होटल के आसपास वाले कमरे में ठहरे थे। तब अभिषेक ने सोचा कि सुबह की कॉफी क्यों न ऋषि कपूर के साथ पी जाए। ऐसे में वह ऋषि कपूर के कमरे की तरफ चल पड़े।

फिल्म कंपेनियन को दिए इंटरव्यू में अभिषेक बच्चन ने ऋषि कपूर के साथ अपने इस किस्से को शेयर करते हुए बताया था- ‘हम शिमला में एक फिल्म की शूटिंग कर रहे थे। तब मैंने देखा कि ऋषि कपूर अपने बेटे पर नजरें बनाए हुए हैं।’ दरअसल, अभिषेक बच्चन सुबह के वक्त ऋषि कपूर के कमरे में (होटल) गए। अभिषेक ने जब कमरे का दरवाजा खोला तो कमरे में ऋषि कपूर अपने कंप्यूटर पर बैठे हुए थे। अभिषेक बच्चन पहले तो कुछ समझ नहीं पाए। पर बाद मे उन्हें माजरा समझ आया।

एक्टर ने बताया था- ‘शिमला के एक होटल में मॉर्निंग में मैं उनके कमरे में गया, कि हम साथ में कॉफी पिएंगे, साथ बैठेंगे और बातें करेंगे। जब मैं उनके कमरे में पहुंचा तो वह अपनी लूंगी में थे। उन्होंने छोटा पतला चश्मा पहना हुआ था वे कंप्यूटर पर बड़ी ध्यान से कुछ देख रहे थे। मुझे उस वक्त पीछे से वो इतने क्यूट लगे। वो नजारा बहुत प्यारा था।’

अभिषेक ने आगे बताया था- ‘मैंने उनसे पूछा कि आप क्या कर रहे हैं? तो उन्होंने बताया कि वो रणबीर के बारे में गॉसिप्स फॉलो कर रहे हैं कि वो क्या कर रहा है। उन्होंने झट से मुझे बता दिया, नो फिल्टर! कमाल की शख्सियत हैं। तो अंकल रणबीर को साइट्स में फॉलो कर रहे थे ये जानने के लिए कि रणबीर कर क्या रहे हैं, बहुत स्वीट हैं वो।’

राजीव मसंद को दिए इंटरव्यू में रणबीर कपूर ने अपने पिता के लिए एक बार कहा था- ‘मैं अपने पिता की वजह से ही मजबूत बन पाया हूं। वह बहत ही जुनूनी किस्म की शख्सित रहे हैं बेहतरीन फैमिली मैन रहे। उनके जाने से पहले जो 2 साल हमने साथ बिताए, होटल से अस्पताल जाना, जब वो कीमो थेरिपी ले रहे थे, और वॉक करते हुए वो खामोशी रह जाना, या उनके आसपास रहना। ये सब बहुत तेजी से चला गया। पर उनका कुछ इंपेक्ट मेरे अंदर आ गया। मैं जानता हूं कि उनके जाने के बाद जो भी इंपेक्ट मुझमें आया है वो बेस्ट है।’

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।