जब राजेश खन्ना की वजह से अमिताभ बच्चन के हेयर कट पर खड़े होने लगे थे सवाल, निकाले जाने लगे थे नुक्स; ये थी वजह

‘आनंद’ के बाद जब ऋषिकेश मुखर्जी ने साल 1973 में फिल्म ‘नमक हराम’ बनाई। तो इस फिल्म की शूटिंग के दौरान अमिताभ बच्चन को राजेश खन्ना की वजह से अपने हेयरस्टाइल को लेकर काफी कुछ सुनना पड़ा था।

Amitabh Bachchan, Rajesh Khanna, राजेश खन्ना, अमिताभ बच्चन
अमिताभ बच्चन और राजेश खन्ना (फोटो सोर्स – इंडियन एक्सप्रेस आरकाइव)

राजेश खन्ना और अमिताभ बच्चन ने साथ में दो फिल्मों में काम किया। दर्शकों को दोनों सितारे एक ही फ्रेम में खूब पसंद आते थे। राजेश खन्ना और अमिताभ बच्चन की फिल्म ‘आनंद’ और ‘नमक हराम’ दोनों ही हिट साबित हुई थीं। उस वक्त राजेश खन्ना सुपरस्टार बन चुके थे, तो वहीं अमिताभ स्टार भी नहीं बने थे। ऐसे में फिल्म प्रोड्यूसर्स राजेश खन्ना की पब्लिक डिमांड को समझते हुए उन्हें ज्यादा भाव देते थे। वहीं उस वक्त अमिताभ बच्चन की नई-नई शुरुआत थी। ऐसे में उस वक्त उनकी कम पूछ थी।

‘आनंद’ के बाद जब ऋषिकेश मुखर्जी ने साल 1973 में फिल्म ‘नमक हराम’ बनाई। तो इस फिल्म की शूटिंग के दौरान अमिताभ बच्चन को राजेश खन्ना की वजह से अपने हेयरस्टाइल को लेकर काफी कुछ सुनना पड़ा था।

दरअसल, इस फिल्म की जब शूटिंग हुई थी तो राजेश खन्ना अकसर शूट पर लेट पहुंचा करते थे, जिससे कि फिल्म डायरेक्टर ऋषिकेश मुखर्जी बड़े परेशान थे। राजेश खन्ना जितने फेमस थे उतना ही व्यस्त रहते थे। उस वक्त उनके पास एक साथ कई फिल्मों का काम था, जिस वजह से सुपरस्टार ‘नमक हराम’ की शूट के लिए आते-आते लेट हो जाते थे। (मैं खुद को भगवान मान बैठा था- जब अमिताभ बच्चन के सामने बोल पड़े थे राजेश खन्ना)

ऐसे में ऋषिकेश मुखर्जी ने एक हल निकाला, क्योंकि सुपरस्टार को तो वह कुछ कह नहीं सकते थे। ऐसे में अपनी सहूलियत के लिए उन्होंने तय किया कि जब तक राजेश खन्ना सेट पर नहीं पहुंचते तब तक अमिताभ बच्चन के सीन निपटा दिए जाएं। ऐसे में डायरेक्टर ने अमिताभ बच्चन के ज्यादातर सीन शूट कर लिए। इसके बाद एक दिन डायरेक्टर ने फिल्म डिस्ट्रीब्यूटर्स को अमिताभ के साथ शूट किए गए सीन्स दिखाए। जब डिस्ट्रीब्यूटर्स ने सीन देखे तो उन्हें लगने लगा कि फिल्म में ज्यादातर सीन्स में अमिताभ लीड हीरो की प्रतीत हो रहे हैं। वहीं राजेश खन्ना गेस्ट अपीयरंस के तौर पर दिख रहे हैं।

पब्लिक डिमांड को ध्यान में रखते हुए डिस्ट्रीब्यूटर्स इस पर सवाल उठाने लगे। हालांकि डिस्ट्रीब्यूटर्स सीधे-सीधे डायरेक्टर ऋषिकेश मुखर्जी को अमिताभ के लिए कुछ नहीं कह पाए। लेकिन वह अमिताभ बच्चन के अपीयरेंस को लेकर कमियां निकालने लगे। इस दौरान अमिताभ बच्चन के हेयर कट पर सवाल उठाए जाने लगे। ऐसे में ये बात उड़ते-उड़ते अमिताभ के कानों में आ गई। अमिताभ के लिए ये तक कहा गया कि उन्हें अपना हेयर स्टाइल बदल देना चाहिए। (‘मैंने नहीं, अमित ने कहा था काका को फिल्म से निकालो.. ‘ सुपरस्टार राजेश खन्ना ने किया था खुलासा!)

अब फिल्म ‘नमक हराम’ के रिलीज होने से पहले राजेश खन्ना की ‘अपना देश’, ‘मालिक’, ‘सहजादा’ और ‘दिल दौलत दुनिया’ जैसी कुछ फिल्में रिलीज हुईं जो कि बॉक्स ऑफिर पर फ्लॉप हो गईं। वहीं दूसरी तरफ अमिताभ बच्चन की ‘जंजीर’ ने धमाल मचा दिया था। ‘जंजीर’ सुपरहिट हुई और अमिताभ बच्चन की फैनफॉलोइंग बढ़ गई। अब ऐसे में जो डिस्ट्रीब्यूटर्स अमिताभ बच्चन के लुक्स में कमियां निकाल रहे थे वही अब अमिताभ की तारीफें करने में जुट गए। उस फिल्म के बाद से अमिताभ का लुक और उनका हेयरस्टाइल भी फैंस में बहुत चर्चा में आ गया था। (दुनियाभर की दौलत मिल जाए तो भी साड़ी पहनकर नहीं गाऊंगा- जब राजेश खन्ना ने उड़ाया अमिताभ बच्चन का मजाक; नाम सुनकर ही भड़क गए थे)

उस वक्त लोग स्टार्स के जैसे हेयरस्टाइल्स बनाने की इच्छा लेकर सेलून जाया करते थे। पहले राजेश खन्ना का हेयरस्टाइल डिमांड में था। अब राजेश खन्ना के साथ साथ अमिताभ बच्चन हेयरस्टाइल भी खूब डिमांड में आ चुका था। अमिताभ को लोगों ने इतना पसंद करना शुरू कर दिया था कि इस बात का अंदाजा इस बात से लगाया जाता था कि राजेश खन्ना हेयरस्टाइल के लिए 2 रुपए कट और अमिताभ बच्चन कट के लिए 3.50 रुपए लगा करते थे।

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
दीपिका-अर्जुन को मिली बड़ी राहत, ‘फाइंडिंग फैनी’ से हटा बैन