ताज़ा खबर
 

जब कपिल शर्मा के अनुरोध पर पंकज त्रिपाठी ने किया बिहार का लौंडा नाच, बीच में नवजोत सिंह सिद्धू के मजे भी लिए

कपिल शर्मा के कहने पर पंकज त्रिपाठी ने बिहार का प्रसिद्ध लौंडा नाच किया। उन्होंने बताया कि थियेटर के दिनों में वो लौंडा नाच करते थे, जिसमें वो लड़कियों की तरह पोशाक पहनते थे।

kapil sharma show, pankaj tripathi, kapil sharmaपंकज त्रिपाठी ने कपिल शर्मा शो पर लौंडा नाच किया था (Photo-Youtube)

पंकज त्रिपाठी ने बॉलीवुड इंडस्ट्री में अपनी एक अलग पहचान बनाई है। उनके अभिनय की तारीफ यही है कि लोग उन्हें उनके किरदार से जानते हैं। बिहार के गोपालगंज जिले से संबंध रखने वाले पंकज त्रिपाठी ने अपने करियर की शुरुआत थियेटर से की थी। उन्होंने कई सालों तक थियेटर किया था जहां वो बिहार का प्रसिद्ध लौंडा नाच भी करते थे। जब पंकज त्रिपाठी कपिल शर्मा शो पर अपनी फिल्म, ‘बरेली की बर्फी’  के प्रमोशन के लिए पहुंचे थे तब कपिल शर्मा के अनुरोध पर उन्होंने लौंडा नाच किया था।

कपिल शर्मा ने उनसे कहा था, ‘इन्होंने थियेटर बहुत किया है। एक पार्टिकुलर डांस होता है जो मैंने 5- 6 साल पहले इन्हें करते देखा था।’ उनकी बात पर पंकज त्रिपाठी ने कहा था, ‘मैं जिस इलाके से आता हूं, पूर्वांचल, वहां लड़के लड़की बनकर नाचते हैं। वहीं मैंने भी सिख लिया।’ उनकी बात पर कपिल हंसते हुए बोले, ‘मतलब हम भी पूर्वांचल में आते हैं।’ आपको बता दें कि कपिल शर्मा शो पर कई कॉमेडियंस लड़की के किरदार में शो करते हैं।

इसके बाद पंकज त्रिपाठी ने कोट के ऊपर से दुपट्टा लपेटा और बोले, ‘जगजीत सिंह की गजल है, बहुत सालों पहले मैंने किया था थियेटर में, सम्मान के साथ करना चाहूंगा।’ पंकज त्रिपाठी ने जगजीत सिंह के मशहूर गजल ‘तुम इतना जो मुस्कुरा रहे हो’ पर जो लौंडा नाच किया, उसने सभी लोगों का दिल जीत लिया।

 

लौंडा नाच के बीच में ही पंकज त्रिपाठी ने शो के जज रहे नवजोत सिंह सिद्धू के भी मजे लिए। उन्होंने कहा, ‘सिद्धू जी, पार्टी बदल जाती है रातों रात।’

पंकज त्रिपाठी को फिल्म गैंग्स ऑफ वासेपुर से पहचान मिली थी। वेब सीरीज मिर्जापुर ने तो उन्हें जैसे सफलता के शीर्ष पर पहुंचा दिया। पंकज त्रिपाठी को यह सफलता बड़ी मुश्किलों के बाद मिली है। जब वो मुंबई में आए तो उन्हें सालों तक काम नहीं मिला। साल 2004 में उन्हें फिल्म रण और ओमकारा में छोटे रोल मिले थे। लेकिन इसके बाद भी उनके पास काम की किल्लत रहती थी।

 

उस अनुभव के बारे में पंकज त्रिपाठी ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया था, ‘एक वक्त लगता था कि मुझे अगला काम नहीं मिलेगा। हमेशा सोचता रहता था कि शूटिंग खत्म होने के बाद अगली बार कैमरा कब देखूंगा। जबकि मैं सबकुछ कर सकता था। गुंडा बनकर आपको डरा भी सकता हूं और मिठाई वाला बनकर हंसा भी सकता हूं।’ आज बॉलीवुड इंडस्ट्री में पंकज त्रिपाठी की मांग काफी ज्यादा है। वो कमर्शियल सिनेमा के साथ समानांतर सिनेमा में भी सक्रिय हैं।

Next Stories
1 जब राजेश खन्ना को एक दिन पहले ही जन्मदिन की बधाई देने पहुंच गए थे अमिताभ बच्चन, जानिये फिर क्या हुआ था
2 सभी CM इस्तीफ़ा देकर गद्दी मोदी जी को सौंप दें- बोले पुण्य प्रसून बाजपेयी तो यूजर्स देने लगे ऐसा रिएक्शन
3 सनातन की तुलना मरकज से नहीं हो सकती- कुंभ पर डिबेट में बोले BJP नेता संबित पात्रा तो मिला ऐसा जवाब
यह पढ़ा क्या?
X