जब शादीशुदा नूतन और संजीव कुमार के अफेयर की खबरों के बीच अभिनेत्री ने जड़ दिया था एक्टर को थप्पड़, ये थी वजह

‘देवी’ फिल्म के सेट पर नूतन ने संजीव कुमार को थप्पड़ जड़ दिया था जिसे लेकर कई कहानियां सामने आईं। कहा गया कि नूतन ने पति के कहने पर ऐसा किया था।

nutan, sanjeev kumar, nutan love story
नूतन और संजीव कुमार ने कई फिल्मों में साथ काम किया (Photo-File/Indian Express Archive)

हिंदी सिनेमा जगत में ऑनस्क्रीन प्रेम कहानियों के साथ ऑफस्क्रीन प्रेम कहानियों के चर्चे भी खूब रहे। अभिनेत्री नूतन और संजीव कुमार के बीच भी एक दफे ऐसी ही अफवाहें थीं। नूतन और संजीव कुमार ने फिल्म ‘गौरी’ में साथ काम किया था और इसी दौरान उनके बीच अफेयर की अफवाहें आने लगी थीं। साल 1970 की फिल्म, ‘देवी’ में भी दोनों को साथ काम करने का मौका मिला। इसी फिल्म के सेट पर नूतन ने संजीव कुमार को थप्पड़ जड़ दिया था जिसे लेकर कई कहानियां सामने आईं।

नूतन उन दिनों नेवी ऑफिसर रजनीश बहल के साथ शादी में थीं और वो एक बच्चे की मां भी थीं। ऐसे में अफेयर की अफवाहों ने उन्हें काफी परेशान किया। नूतन और संजीव में काफी अच्छी दोस्ती थी। फिल्म ‘देवी’ की शूटिंग अच्छे से चल रही थी इसी बीच एक दिन सेट पर जोर के थप्पड़ की आवाज़ आई। अभिनेता अनु कपूर ने अपने रेडियो शो, ‘सुहाना सफ़र विद अनु कपूर’ में इस किस्से का ज़िक्र करते हुए बताया था कि किसी को समझ नहीं आया कि किसने किसको थप्पड़ मारा।

तब कैमरा मैन ने आकर सबको बताया कि नूतन ने संजीव कुमार को थप्पड़ जड़ दिया है। नूतन का संजीव कुमार को थप्पड़ मारने की बात फिल्म के सेट से बाहर निकलकर फ़िल्मी गलियारों में गॉसिप बन गई। कुछ लोगों ने कहा कि नूतन ने यह कदम अपने पति के दबाव में उठाया। कहा गया कि नूतन के पति संजीव कुमार के साथ उनके अफेयर की अफवाहों से बेहद नाराज़ थे। उन्होंने ही नूतन से कहा था कि वो सेट पर संजीव कुमार को थप्पड़ मारें और इसकी जानकारी सबको दें ताकि दोनों के बीच अफेयर की अफवाहें न उड़ें। 

इस थप्पड़ के बाद से नूतन और संजीव कुमार के बीच तो दरार पैदा हो गई लेकिन दोनों ने अपनी इस तल्खी को काम के आड़े नहीं आने दिया। फिल्म ‘देवी’ पूरी और और साल 1970 में रिलीज़ भी हुई।

नूतन ने अक्टूबर 1959 में रजनीश बहल से शादी की थी। शादी के बाद उन्होंने फैसला किया था कि वो फिल्मों में काम नहीं करेंगी लेकिन उन्हें लगातार काम मिलता रहा और वो फ़िल्में करतीं गईं। नूतन के बेटे मोहनीश बहल के जन्म के बाद भी उन्होंने मुख्य भूमिकाएं निभाईं। नूतन का निधन 54 वर्ष की आयु में ही साल 1991 में कैंसर के कारण हो गया था। उनके बेटे मोहनीश बहल ने भी हिंदी फिल्म जगत में बड़ा नाम कमाया है।

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट