ताज़ा खबर
 

सल्तनत चली गई लेकिन…जब महेश भट्ट ने कर दी बहादुरशाह जफर से राजेश खन्ना की तुलना, वजह भी बताई थी

फिल्ममेकर महेश भट्ट ने कहा था कि उनकी हालत मुगल सल्तनत के आखिरी बादशाह बहादुरशाह जफर जैसी हो गई थी। जफर की तरह राजेश खन्ना भी ऐसा सुल्तान था जो..

महेश भट्ट और राजेश खन्ना (फोटोसोर्स- इंडियन एक्सप्रेस अभिलेखागार)

राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) जैसी शोहरत शायद ही किसी दूसरे बॉलीवुड स्टार को मिली हो। जब वे अपने करियर के शिखर थे तब उनके लाखों दीवाने हुआ करते थे। ‘काका’ की डेट्स के लिए डायरेक्टर-प्रोड्यूसर उनके आगे-पीछे टहला करते थे, उनके नखरे भी उठाने को तैयार थे। हालांकि जब राजेश खन्ना का डाउनफॉल आया तब वह बिल्कुल अकेले पड़ गए थे।

बगैर सोचे समझे साइन कर लीं फिल्में: राजेश खन्ना के डाउनफॉल के पीछे जो तमाम वजहें गिनाई जाती हैं, उसमें उनकी फिल्मों के सेलेक्शन को भी जिम्मेदार ठहराया जाता है। काका को करीब से जानने वाले कहते हैं कि दूसरे कलाकारों की तरह वे फिल्मों को लेकर बहुत सोचते-समझते नहीं थे। जो मन में आया साइन कर लिया। एक साथ 20-22 फिल्मों पर काम कर रहे होते थे। इसका उनके करियर पर नेगेटिव असर पड़ा।

वक्त के साथ नहीं चल पाए काका: राजेश खन्ना की इमेज रोमांटिक और रूमानी एक्टर की थी। शुरुआत में तो उनकी फिल्मों को खूब पसंद किया गया लेकिन जैसे-जैसे अमिताभ जैसे कलाकार आए और अलग तरह की फिल्में की, दर्शकों का उस ओर ध्यान गया और लोग रोमांटिक फिल्मों से हटकर वैसी फिल्में भी पसंद करने लगे। लेकिन काका अभी भी उसी तरह की फिल्में कर रहे थे।

बीबीसी से बातचीत में राजेश खन्ना की नाकामी पर बात करते हुए अभिनेता प्रेम चोपड़ा ने कहा था कि राजेश खन्ना खुद को वक्त के साथ बदल नहीं पाए थे। जो काम अमिताभ बच्चन ने किया था, वो राजेश खन्ना नहीं कर पाए। वह अपनी पुरानी सफलता में ही डूबे रहे।

महेश भट्ट ने की थी आखिरी मुगल बादशाह से तुलना: अमिताभ बच्चन के इसी एटीट्यूट पर फिल्ममेकर महेश भट्ट ने भी ताना मारते हुए उनकी तुलना आखिरी मुगल बादशाह से कर दी थी। राजेश खन्ना की जीवनी में वरिष्ठ पत्रकार और लेखक यासिर उस्मान लिखते हैं कि फिल्ममेकर महेश भट्ट ने कहा था कि उनकी हालत मुगल सल्तनत के आखिरी बादशाह बहादुरशाह जफर जैसी हो गई थी। जफर की तरह राजेश खन्ना भी ऐसा सुल्तान था जो अपना सल्तनत खो चुका था लेकिन यह मानने को तैयार नहीं था कि अब उस का जमाना नहीं रहा।

‘मैं खुद को भगवान मान बैठा था’: बाद के दिनों में राजेश खन्ना को अपनी गलती का एहसास भी हुआ। साल 1990 में मूवी मैगजीन को दिए इंटरव्यू में उन्होंने इसे स्वीकार भी किया था। इस इंटरव्यू में राजेश खन्ना ने कहा था कि मैं अपने आप को भगवान के बराबर समझने लगा था। इंटरव्यू ने उनके साथ अमिताभ बच्चन भी मौजूद थे।

Next Stories
1 PM, CM और HM की पहली प्राथमिकता चुनाव प्रचार- नक्सली हमले को लेकर पुण्य प्रसून बाजपेयी ने मोदी सरकार पर कसा तंज़ तो मिले ऐसे रिएक्शन
2 अनुपम खेर ने खुद को बताया मोदी भक्त, एंकर ने पूछा- क्या बन सकते हैं राहुल के भक्त, करने लगे जाप, देखिए
3 बचाते रहो अपनी पार्टियां, अपने देवता, हम मरते, लूटते..- नक्सली हमले में शहीद हुए जवान तो छलका कुमार विश्वास का दर्द
ये पढ़ा क्या?
X