इंडस्ट्री में पहचान बनाना मुश्किल रहा, शुरू में सीरियसली नहीं लेते थे लोग- जब करिश्मा कपूर ने की अपने स्ट्रगल पर बात

करिश्मा कपूर ने बताया था कि उनके लिए इंडस्ट्री में अपनी जगह बनाना किसी भी न्यूकमर से ज्यादा मुश्किल था क्योंकि वो एक स्टार की बेटी थीं और हर बार उनसे बेहतर की उम्मीद की जाती थी। करिश्मा को सीरियस किरदारों के लिए अप्रोच नहीं किया जाता था।

karishma kapoor, randhir kapoor, babita
करिश्मा कपूर अपने वक़्त की हाईएस्ट पेड एक्ट्रेस थीं (Photo-Indian Express Archive)

फिल्म अभिनेता रणधीर कपूर और अभिनेत्री बबीता की बेटी करिश्मा कपूर ने जब फ़िल्मों में कदम रखा तो एक स्टार किड होने के नाते उन पर बेहतर करने का काफी दबाव था। 1991 में आई उनकी पहली फिल्म, ‘प्रेम कैदी’ फ्लॉप रही थी और इसके बाद की फिल्में भी कुछ खास कमाल नही दिखा पाईं। करिश्मा को हल्के-फुल्के किरदार मिलते थे और शुरू में उन्हें कभी कोई सीरियस रोल ऑफर नहीं हुआ। करिश्मा ने अपने उस दौर को लेकर बात की थी और बताया था कि उन्हें सीरियस किरदारों के लिए अप्रोच नहीं किया जाता था।

वाइल्ड फिल्म्स इंडिया को दिए एक पुराने इंटरव्यू में करिश्मा ने बताया था कि उनके लिए इंडस्ट्री में अपनी जगह बनाना किसी भी किसी भी न्यूकमर से ज्यादा मुश्किल था क्योंकि वो एक स्टार की बेटी थीं और हर बार उनसे बेहतर की उम्मीद की जाती थी।

करिश्मा कपूर ने कहा था, ‘मैं उस वक्त छोटी थी लेकिन ‘जीत’ और ‘राजा हिंदुस्तानी’ के बाद लोगों ने समझा कि हां, मैं सीरियस एक्टिंग कर सकती हूं, सीरियस एक्टर हूं। लोग पहले सोचते थे कि अभी छोटी है, प्यारी लगती है और बस डांस कर सकती है, लेकिन राजा हिंदुस्तानी के बाद लगा कि लोगों ने मुझे सीरियसली लेना शुरू किया है।’

अपने स्ट्रगल पर बात करते हुए करिश्मा ने बताया था, ‘मेरे लिए पहचान बनाना किसी भी न्यूकमर से मुश्किल रहा। जब आप किसी स्टार की बेटी होती हैं तो चीजें और मुश्किल हो जाती हैं। सब मुझे दो-दो चश्में से देखते थे कि हां देखते हैं, क्या कर सकती है ये। खुद को साबित करना मेरे लिए औरों से ज्यादा मुश्किल रहा। मैंने जो भी किया हर बार यही कहा गया कि उसने तो ऐसा किया।’

 

करिश्मा कपूर जब फिल्मों में आईं तब ये भी कहा गया कि कपूर खानदान की महिलाओं को फिल्मों में काम करने की इजाजत नहीं होती, करिश्मा पहली लड़की हैं। इस बात पर भी करिश्मा ने कई बार बात की है। उन्होंने इन बातों को खारिज करते हुए कहा था कि ऐसी बातें बस प्रोपेगेंडा हैं, इनमें कोई सच्चाई नहीं है। जब वो फिल्मों में आईं तब उनके पिता रणधीर कपूर ने उनका बहुत साथ दिया था।

बॉलीवुड में जिन दिनों करिश्मा सक्रिय थीं, उनका नाम कई अभिनेताओं से जुड़ा। फिल्म ‘जिगर’ में जब वो अजय देवगन के साथ काम कर रही थीं जब अजय और उनके अफेयर के किस्से चर्चा में थे। लेकिन जल्द ही करिश्मा और अभिषेक बच्चन की बातें होने लगी।

करिश्मा और अभिषेक की सगाई भी हो गई थी और जब शादी में कुछ ही महीने बचे थे तब उनकी सगाई टूट गई। करिश्मा ने इसके बाद बिजनेसमैन संजय कपूर से शादी कर ली। संजय और करिश्मा साल 2016 में अलग हो गए थे।

अपडेट