ताज़ा खबर
 

जब अमिताभ बच्चन के राजनीतिक कनेक्शन की वजह से मुश्किल में फंसे राजेश खन्ना

80 के दशक में अमिताभ बच्चन बॉलीवुड में अपनी पहचान बना चुके थे।

reason for the fall of Rajesh Khanna and Amitabh Bachchan's hitअमिताभ बच्चन ने राजेश खन्ना के साथ आनंद और नमक हराम जैसी फिल्मों में काम किया है।

बॉलीवुड के सुपरस्टार राजेश खन्ना और अमिताभ बच्चन के संबंध हमेशा से विवादों में रहा है। कहा जाता है कि ये दोनों एक-दूसरे को बिल्कुल भी पसंद नहीं किया करते थे। अमिताभ बच्चन ने राजेश खन्ना के साथ आनंद और नमक हराम जैसी फिल्मों में काम जरूर किया है लेकिन इनके बीच कभी दोस्ताना वाले संबंध नहीं बन पाए। 80 के दशक में अमिताभ बच्चन बॉलीवुड में अपनी पहचान बना चुके थे। वहीं राजेश खन्ना अवतार और सौतन फिल्मों के जरिए एक बार फिर बॉलीवुड में वापसी कर रहे थे। 1972 में आई फिल्म ‘बावर्ची’ के दौरान जब अमिताभ बच्चन जया से मिलने सेट पर पहुंचे तो राजेश खन्ना को ये बात बिल्कुल पसंद नहीं आई थी और उन्होंने बिग बी को खूब खरी-खोटी सुना दी। अमिताभ और राजेश में अक्सर अनबन की खबरें आती ही रहती थी। राजेश खन्ना जब ‘आज का एम.एल.ए राम अवतार’ उसी दौरान अमिताभ अपनी फिल्म इंकलाब में काम कर रहे थे।

कहा जाता है कि ये दोनों फिल्में कुछ ही दिनों के अंतराल पर रिलीज होने वाली थी। दोनों फिल्मों की कहानी भी लगभग एक जैसी थी ऐसे में बिग बी को डर था कि उनकी फिल्म से ज्यादा राजेश खन्ना की फिल्म को ना लोग पसंद कर लें। उस दौरान अमिताभ बच्चन के राजनीतिक कनेक्शन काफी मजबूत थे।

अमिताभ ने अपने राजनीतिक कनेक्शन का फायदा उठाकर राजेश खन्ना की फिल्म को सेंसर बोर्ड के पास लटकाए रखा। वहीं दूसरी तरफ उनकी फिल्म इंकलाब रिलीज होकर थियेटर में भी पहुंच गई। अमिताभ की यह फिल्म दर्शकों पर कुछ खास असर नहीं दिखा पाई। कुछ महीनों बाद राजेश खन्ना की ‘आज का एम.एल.ए राम अवतार’ भी रिलीज हुई और ये फिल्म भी फ्लॉप साबित हुई।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 75वें जन्मदिन पर अमिताभ बच्चन ने शेयर की ये तस्वीरें, मैसेज, बताया जीवन का मंत्र
2 …तब अमिताभ बच्चन को ऑल इंडिया रेडियो के प्रस्तोता ने ऑडिशन में कर दिया था रिजेक्ट
3 प्रेम-प्रसंग के सवाल पर असहज हो गए थे अमिताभ बच्चन, बोले थे- रहने दीजिए ये सब…
ये पढ़ा क्या?
X