ताज़ा खबर
 

आसान नहीं थी विद्या बालन की बॉलीवुड एंट्री: पहली मूवी के लिए देने पड़े थे 60 बार स्क्रीन टेस्ट, 17 गेटअप में कराए शूट

छोटे पर्दे से निकल कर बड़े पर्दे पर आईं विद्या बालन की बॉलीवुड में एंट्री का सफर काफी मुश्किलों से भरा रहा। टीवी शो हम पांच में अपने रोल से पॉपुलर हुईं विद्या के ख्वाब बहुत बड़े थे लेकिन रास्ते में कई अड़चनें भी थीं।

बॉलीवुड अभिनेत्री विद्या बालन दिवंगत अभिनेता-निर्देशक भगवान दादा के जीवन पर आधारित एक मराठी फिल्म में एक विशेष भूमिका में नजर आएंगी। (फोटो-बॉलीवुडहंगामा.कॉम)

छोटे पर्दे से निकल कर बड़े पर्दे पर आईं विद्या बालन की बॉलीवुड में एंट्री का सफर काफी मुश्किलों से भरा रहा। टीवी शो हम पांच में अपने रोल से पॉपुलर हुईं विद्या के ख्वाब बहुत बड़े थे लेकिन रास्ते में कई अड़चनें भी थीं। बॉलीवुड एक्ट्रेस विद्या बालन ने जब अपने फिल्मी करियर की शुरुआत साउथ के सुपरस्टार मोहनलाल के साथ की। इसके बाद उन्हें एक के बाद एक 12 फिल्में मिलीं लेकिन अफसोस कि उनकी मोहनलाल के साथ आई पहली फिल्म के फ्लॉप होने के कारण दक्षिण भारतीय फिल्म जगत ने उन पर अपशगुनी होने का ठप्पा लगा दिया। उन्हें इन सभी 12 फिल्मों से बाहर कर दिया गया पर विद्या ने हार नहीं मानी। काफी कोशिशों के बाद उन्हें फिल्म रन मिली जिसका शेड्यूल पूरा करने के बावजूद उन्हें फिल्म से बाहर कर दिया गया। इसके बाद उन्होंने थक हार कर उन्होंने एक सेक्स कॉमेडी फिल्म साइन की लेकिन इस काम में बहुत असहज महसूस करने के चलते उन्होंने इस फिल्म को खुद ही ड्रॉप कर दिया।

नव भारत टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक विद्या ने कहा- तब मैं उस वक्त बेशक बहुत निराश होती थी, लेकिन हार मानकर बैठने वाली फीलिंग कभी नहीं आई। कभी मैंने हाथ ऊपर उठा देने के बारे में नहीं सोचा। विद्या को जब प्रोजेक्ट्स नहीं मिले तो उन्होंने कई टीवी कॉमर्शियल्स किए। विद्या ने कई म्यूजिक एल्बम्स और वीडियोज में भी काम किया। सहायक भूमिकाओं में यूफोरिया बैंड, सुभा मुदगल और पंकज उधास जैसे गायक और बैंड के साथ काम किया। विद्या को उनके फिल्मी करियर का पहला ब्रेक ‘परिणीति’ में मिला। खबरों के मुताबिक यह फिल्म विद्या को यूं ही नहीं मिली इसके लिए उन्हें 60 से ज्यादा बार स्क्रीन टेस्ट देने पड़े और 17 बार अलग-अलग मेकअप करके शूट कराना पड़ा। खुद विद्या ने कई बयानों में यह कहा था कि वह इस सब से तंग आ गई थीं। उन्होंने एक मीडिया इंटरव्यू में यह तक कहा था कि उन्हें यह फिल्म जैसे तैसे मिली है। प्रोड्यूसर डायरेक्टर विधू विनोद चोपड़ा ने विद्या का ऑडीशन लिया और किसी तरह विद्या अपनी पहली बॉलीवुड फिल्म में संजय दत्त और सैफ अली खान के साथ काम पाने में कामयाब रहीं।

फिल्म को काफी तारीफें मिलीं, हालंकि फिल्म बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप साबित हुई थी। बावजूद इसके फिल्म इंडस्ट्री विद्या के टैलेंट को पहचानने से नहीं चूकी। क्रिटिक्स को विद्या का काम बहुत पसंद आया था और उन्हें इस फिल्म के लिए शाइनिंग स्टार के पुरुस्कार से सामनित भी किया गया। शरतचंद्र चोटपाध्याय के नॉवेल पर आधारित फिल्म भले ही न चली हो लेकिन इस फिल्म के बाद से विद्या के फिल्मी सफर की गाड़ी चल पड़ी थी। विद्या को इसके बाद संजू बाबा के साथ फिल्म लगे रहो मुन्ना भाई और द डर्टी पिक्चर ऑफर की गईं।

Next Stories
1 वरुण धवन ने इस पहेली का दिया सही जवाब तो बदले में अनुष्का शर्मा ने दिया साथ काम करने का ऑफर
2 शोले मूवी में ठाकुर का रोल निभाना चाहते थे धर्मेंद्र, लेकिन हेमा मालिनी के लिए बदल दिया था फैसला
3 जब जुड़वा 2 के सेट पर पहुंची राजपाल यादव की बेटी हनी, टि्वटर पर शेयर की तस्वीर
ये पढ़ा क्या?
X