ताज़ा खबर
 

Uttar Ramayan : लव-कुश ने जानकी से पूछा सवाल-श्रीराम ने क्यों किया सीता का त्याग…?

Uttar Ramayan 30th April 2020 Episode Updates: वाल्मीकि के आश्रम में लव-कुश की किलकारियां गूंज उठी हैं। दोनों बच्चों के आगमन से सारे वातावरण में प्रसन्नता का माहौल है।

आश्रम में गूंजी लव-कुश की किलकारियां

Uttar Ramayan : वाल्मीकि आश्रम में लव कुश का लालन पालन हो रहा है। अब लव कुश बड़े हो रहे हैं। वाल्मीकि लव कुश को शिक्षा प्रदान कर रहे हैं। मां सीता उन्हें अच्छे संस्कार दे रही हैं। ऋषि दोनों बालकों को रामायण का पाठ पढ़ा रहे हैं। लव कुश को अब राम सिया की कहानी का पता चलता है जिसे सुन कर लव भड़ उठते हैं।

इससे पहले दिखाया गया था वाल्मीकि के आश्रम में लव-कुश की किलकारियां गूंज उठी हैं। दोनों बच्चों के आगमन से सारे वातावरण में प्रसन्नता का माहौल है। दोनों बच्चों को देख माता सीता बेहद खुश हैं। मां सीता अपने लाडले लव-कुश को सुलाने के लिए लोरी गाती हैं। वहीं मुनिवर दोनों बच्चों की कुंडलियां बनाते हैं और लव-कुश के उज्जवल भविष्य की कामना करते हैं।

मंत्री राजा राम से कहते हैं कि आपके राज्य में पूरी प्रजा खुश है हर तरफ हर्ष का माहौल होने के बावजूद प्रजा थोड़ी शिथिल हो रही है ऐसे में आपको कुछ ऐसा कार्य करना होगा जिससे स्थिरता में थोड़ा बदलाव आए। मंत्री कहते हैं कि उत्सवों के माध्यम से प्रजा का उत्साह बढ़ाया जा सकता है। मंत्री की बात सुनकर राजा राम प्रजा का उत्साह बढ़ाने के लिए उत्साव मनाने का फैसला करते हैं और कहते हैं कि पापों के नाश के लिए यज्ञ करवाना उचित होगा।

राम ने यज्ञ की तैयारी करते हुए मंत्री को आदेश दिया कि ये यज्ञ इतिहास का सबसे महान यज्ञ होना चाहिए इसमें तब तक लोगों को दान दो जब तक वो दान लेते-लेते थक न जाए। इस यज्ञ के लिए सभी लोगों चाहे वो कोई भी हो आमंत्रित किया जाए। वहीं अयोध्या में चारों ओर सीता माता को लेकर सवाल उठ रहे होते हैं कि हो सकता है कि महाराज राम सीता को त्यागकर दूसरी शादी कर लें।

राम जी को जब ये बात पता चलती है कि अयोध्या में उनकी शादी को लेकर बातचीत चल रही है तो वो काफी भड़क जाते हैं। राम जी कहते हैं कि सीता की पवित्रता को जानने के बाद भी लोगों ने ये कैसे सोचा कि वो दूसरा विवाह करेंगे। राजा राम ऋषियों से कहते हैं कि हमने प्रजा के लिए अपना सबकुछ त्याग दिया लेकिन मैं दूसरा विवाह नही करुंगा चाहे जो हो। ऋषि उनसे कहते हैं कि बिना पत्नी के यज्ञ करना संभव नही है।

Live Blog

Highlights

    09:49 (IST)30 Apr 2020
    श्रीराम का 'विवाह'? सीता को लगा धक्का..

    इधर नगर में सब अयोध्या की बातें कर रहे हैं। सीता भी पूछती हैं कि क्या हुआ। उन्हें बताया जाता है कि अयोध्या में उत्सव मनाए जाने की तैयारी हो रही है। अश्वमेध के यज्ञ की बात सीता को पता चलती है, वहीं सीता को ये भी बताया जाता है कि अब श्रीराम का विवाह किया जा सकता है। यह सुन कर सीता को धक्का लगता है। कहा दाका बै रि

    09:41 (IST)30 Apr 2020
    अयोध्या में अब तक का सबसे बड़ा यज्ञ..

    श्री राम ने यज्ञ की तैयारी करते हुए मंत्री को आदेश दिया कि ये यज्ञ इतिहास का सबसे महान यज्ञ होना चाहिए इसमें तब तक लोगों को दान दो जब तक वो दान लेते-लेते थक न जाए। इस यज्ञ के लिए सभी लोगों चाहे वो कोई भी हो आमंत्रित करो। इस यज्ञ में देव, राक्षस, किन्नर, सर्प सभी आएंगे।

    09:35 (IST)30 Apr 2020
    ऋषि वाल्मीकि द्वारा लव-कुश की कुंडलिनी जाग्रत

    अब वाल्मीकि लव कुश को ध्यान औऱ दिव्य दृष्टि से ज्ञान प्रदान कर रहे हैं। गुरू लव-कुश की कुंडलिनी जाग्रत करने के लिए उन्हें उपदेश देकर समझाते हैं कि इसे प्राप्त करने में कई जन्म लगे जाते हैं लेकिन गुरू कृपा से ये तुरंत जाग्रत हो जाती है।

    09:23 (IST)30 Apr 2020
    श्रीराम अयोध्या में अश्वमेध यज्ञ करने का आदेश देते हैं

    श्रीराम अयोध्या में अश्वमेध यज्ञ करने का आदेश देते हैं। मंत्री राजा राम से कह रहे हैं कि आपके राज्य में पूरी प्रजा खुश है हर तरफ हर्ष का माहौल होने के बावजूद प्रजा थोड़ी शिथिल हो रही है ऐसे में आपको कुछ ऐसा कार्य करना होगा जिससे स्थिरता में थोड़ा बदलाव है और उत्सवों के माध्यम से प्रजा का उत्साह बढ़ाया जाए। मंत्री की बात सुनकर राजा राम प्रजा का उत्साह बढ़ाने के लिए उत्साव मनाने का फैसला करते हैं और कहते हैं कि पापों के नाश के लिए यज्ञ करवाना उचित होगा।

    09:14 (IST)30 Apr 2020
    श्रीराम का सीता त्याग गलत, बोल पड़े लव-कुश

    लव-कुश अब बड़े होने लगे हैं। लव कुछ को श्रीराम के सीता त्याग की कहानी का पता चलता है जिसके बाद लव भड़ जाता है औऱ अपनी मां से जानकी से पूछता है कि मा श्रीराम ने क्यों सीता का त्याग कर दिया। यह तो अत्याचार है, प्रजा की बातों में आकर उन्होंने अपराध किया है। ऐसे में सीता हैरानी से कहती हैं कि आगे की कहानी गुरूदेव ने नहीं बताई? उन्होंने ये नहीं बताया कि राजमहल में  वह भी साधारण जीवन यापन कर रहे हैं? लव कुश कहते हैं कुछ भी हो उन्होंने ये गलत ही किया है।

    22:21 (IST)29 Apr 2020
    राजाओं का आना हुआ शुरु

    प्रभु राम के यज्ञ की महिमा बढ़ाने के लिए अनेकों जगह से राजा महाराज पधार रहे हैं जिनमें बाली, भरत भी शामिल हैं। वहीं अपने भाई भरत को देखते ही प्रभु राम खुदको रोक नही पाते हैं और भाई भरत को गले लगा लेते हैं। प्रभु राम को देख भरत की आंखें छलक उठती हैं।

    22:10 (IST)29 Apr 2020
    सीता ने बताई राम की महानता

    सीता की आंख प्रभु राम की महानता बताते हुए छलक उठती हैं वहीं कुटिया में एक महिला सीता से कहती है कि सीता के बारे में सोच सोचकर मुझे काफी तकलीफ होत है कि जितने दुख उस स्त्री ने सहे उतना और कौन सह सकता है जिसपर सीता कहती हैं कि आप बिल्कुल सही कह रही हैं सबको अपने कर्मों के अनुसार ही दुख मिलता है।

    21:58 (IST)29 Apr 2020
    राम हुए गुस्सा

    राम जी को जब ये बात पता चलती है कि अयोध्या में उनकी शादी को लेकर बातचीत चल रही है तो वो काफी भड़क जाते हैं। राम जी कहते हैं कि सीता की पवित्रता को जानने के बाद भी लोगों ने ये कैसे सोचा कि वो दूसरा विवाह करेंगे। राजा राम ऋषियों से कहते हैं कि हमने प्रजा के लिए अपना सबकुछ त्याग दिया लेकिन मैं दूसरा विवाह नही करुंगा चाहे जो हो। ऋषि उनसे कहते हैं कि बिना पत्नी के यज्ञ करना संभव नही है।

    21:50 (IST)29 Apr 2020
    अयोध्या में हो रही है सीता जी की बात...

    अयोध्या में चारों ओर सीता माता को लेकर सवाल हो रहे हैं कि अब वक्त आ गया है कि राजा राम को माता सीता को अयोध्या वापस बुला लेना चाहिए। वहीं चारों तरफ महाराज राम की शादी को लेकर भी बातें चल रही हैं।

    21:45 (IST)29 Apr 2020
    राम ने की यज्ञ की तैयारी

    राम ने यज्ञ की तैयारी करते हुए मंत्री को आदेश दिया कि ये यज्ञ इतिहास का सबसे महान यज्ञ होना चाहिए इसमें तब तक लोगों को दान दो जब तक वो दान लेते-लेते थक न जाए। इस यज्ञ के लिए सभी लोगों चाहे वो कोई भी हो आमंत्रित करो।

    21:35 (IST)29 Apr 2020
    लव-कुश ले रहे हैं गुप्त विद्या

    गुरू लव-कुश को गुप्त विद्या दे रहे हैं। गुरू लव-कुश की कुंडलिनी जाग्रत करने के लिए उन्हें उपदेश देकर समझाते हैं कि इसे प्राप्त करने में कई जन्म लगे जाते हैं लेकिन गुरू कृपा से ये तुरंत जाग्रत हो जाती है।

    21:21 (IST)29 Apr 2020
    प्रभु राम के जन्मदिन पर पूरे अयोध्या में खुशी की लहर...

    मंत्री राजा राम से कह रहे हैं कि आपके राज्य में पूरी प्रजा खुश है हर तरफ हर्ष का माहौल होने के बावजूद प्रजा थोड़ी शिथिल हो रही है ऐसे में आपको कुछ ऐसा कार्य करना होगा जिससे स्थिरता में थोड़ा बदलाव है और उत्सवों के माध्यम से प्रजा का उत्साह बढ़ाया जाए। मंत्री की बात सुनकर राजा राम प्रजा का उत्साह बढ़ाने के लिए उत्साव मनाने का फैसला करते हैं और कहते हैं कि पापों के नाश के लिए यज्ञ करवाना उचित होगा।

    21:13 (IST)29 Apr 2020
    लव-कुश नही हुए सहमत

    माता सीता के कथनों से लव-कुश सहमत नही होते और माता सीता से कहते हैं कि अगर किसी दिन उनकी भेंट राजा राम से हुई तो फिर वो उनसे ये सवाल अवश्य पूछेंगे कि उन्होंने अपनी पत्नी को लोगों के कहने पर वन में क्यों छोड़ दिया। लव-कुश कहते हैं कि हमारा संकल्प मजबूत है। हमारी भेंट राजा राम से अवश्य होगी।

    21:11 (IST)29 Apr 2020
    माता सीता हुईं परेशान

    लव-कुश अपनी माता से कह रहे हैं कि जब राजा ही ऐसा हो तो प्रचा का क्या होगा। जब सीता जी उनसे पूछती हैं कि बालकों तुम किस राजा की बात कर रहे हो। जब दोनो बालक अपनी मां से कहते हैं कि वो राजा राम की बात कर रहे हैं। राम जी का नाम सुन माता सीता काफी व्याकुल हो उठती हैं और लव-कुश से कहती हैं कि शायद तुम दोनों को गुरूदेव ने आगे की कहानी नही सुनाई है।

    21:08 (IST)29 Apr 2020
    लव-कुश ने सुनी प्रभु राम की कथा

    लव-कुश अपने गुरू से प्रभु श्रीराम के बारे में पूछ रहे हैं। लव-कुश कह रहे हैं कि जब राम जी को अपनी पत्नी की पवित्रता पर पूरा विश्वास था तो फिर उन्होंने उनका त्याग क्यों किया। राजगुरू उनसे कहते हैं कि राम ने जो किया वो राजधर्म के अनुसार ही  किया। लेकिन दोनो बालक राम जी से काफी खफा नजर आते हैं।

    20:27 (IST)29 Apr 2020
    रामायण में अबतक आपने देखा...

    इधर लवणासुर का वध होता है, उधर लवणासुर का त्रिशूल वापस शिव भगवान के पास जा पहुंचता है। लवणासुर की रानी को आभास होता है और वह रोने लगती है। यहां अयोध्या का पताका लहराता है। रघुवंशियों की जय होती है। सूर्य का उदय और अधंकार का नाश होता है। सारे ऋषि मुनी अति प्रसन्न होते हैं। सारे मंदिरों के कपाट खुलने लगते हैं। मंदिरों में पूजन शुरू होता है। लोग उत्सव मनाते हैं।

    Next Stories
    1 इरफान खान से पिता ने जानवर पर चलवाई थी गोली, कहते थे- पठानों के घर ब्राह्मण पैदा हो गया है
    2 अवार्ड शो में शाहरुख खान की इरफान खान ने लगा दी थी क्लास, पूरे बॉलीवुड के सामने किंग खान की हो गई बोलती बंद
    3 हॉलीवुड में सेटल नही होना चाहते थे इरफान खान, बताई थी यह वजह