ताज़ा खबर
 

‘शक्तिमान-भीष्म पितामह के हैंगओवर से बाहर निकलो’, शख्स ने किया ट्रोल तो मुकेश खन्ना बोले- मैं करोड़ों कमाने के लिए…

मुकेश खन्ना ने यूं तो बॉलीवुड की तकरीबन 60 फिल्मों में काम किया है। लेकिन उनको आज भी लोग 'भीष्म पितामह' और 'शक्तिमान' के किरदार से पहचानते हैं। हाल ही में एक यूजर उन्हें इसे लेकर ट्रोल करने की कोशिश की, तो एक्टर ने जवाब देते हुए कहा...

Mukesh Khanna, mahabharat, mukesh khanna in mahabharat, Mukesh Khanna shaktiman, mukesh khanna reply a user, mukesh khanna troll a user on Instagram, mukesh khanna trolls user, user try to troll mukesh khanna on instagram, mukesh khanna reply on instagram, mukesh khanna was a flop actor before mahabharat, mukesh khanna shaktimaan, Mukesh Khanna flop actor, mukesh khanna happy after mahabharat success, mukesh khanna tells about before mahabharat, mukesh khanna on covid 19, mukesh khanna on youtube, mukesh khanna on carryminati, mukesn khanna on amir siddiqui, mukesh khanna mahabharat, mukesh khanna bhishma, mukesh khanna shaktimaan, मुकेश खन्ना, मुकेश खन्ना ने महाभारत और शक्तिनाम तो लेकर दिया करारा जवाबएक्टर मुकेश खन्ना

‘महाभारत’ और शक्तिमान जैसे धारावाहिकों में अपने जबरदस्त अभिनय से लोगों के दिलों में खास जगह बनाने वाले एक्टर मुकेश खन्ना सोशल मीडिय पर काफी एक्टिव रहते हैं। हाल ही में एक शख्स ने मुकेश खन्ना को ट्रोल करने की कोशिश करते हुए लिखा,’अब शक्तिमान-भीष्म पितामह जैसे कैरेक्टर्स के हैंगओवर से बाहर निकलो और कुछ अच्छे रोल्स करो’ यूजर के इस तंज को देखकर मुकेश खन्ना ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक लंबा-चौड़ा पोस्ट शेयर कर उसे इस बात का जवाब गंभीरता से दिया।

 

View this post on Instagram

 

किसी ने अपने कामेंट्स में मुझ पर कटाक्ष किया है कि में अपने पितामह शक्तिमान के हैंगओवर से बाहर निकलूँ। कि मैं अपनी ना माँगने की आदत से बाहर निकलूँ ताकि मुझे और अच्छे रोल्ज़ मिल सके।मेरा जवाब था माँगना मेरी फ़ितरत में नहीं।उसने कहा माँगने में क्या शर्म। बड़े बड़े ऐक्टर माँगते हैं। उसने चंद बड़े ऐक्टर्ज़ का नाम लिया ये भी काम माँगते है। उस महाशय के माध्यम से आज मैं आप सभी को ये कहना चाहूँगा, बात शर्म की नहीं, सोचने के अन्दाज़ की है।मैंने आज तक किसी के आगे हाथ नहीं फैलाया।६० फ़िल्मे बिन माँगे की हैं।मैं इतना भी बुरा ऐक्टर नहीं कि मुझे रोल्ज़ ऑफ़र ना हों। समस्या ये है मैं ओवर चूज़ी हूँ।मैं अपने ज़मीर की, अपनी अंतरात्मा की आवाज़ सुनता हूँ।मैं वही रोल करता हूँ जो मुझे संतुष्टि दे।मैं पैसों के लिए रोल्ज़ नहीं करता।मुझे पता है कि मैं विलेन के लिए हाँ कह दूँ तो निर्माताओं की लाइन लग जाए। पर मेरी अंतरात्मा मुझे इसकी इजाज़त नहीं देता। एक घटना बताऊँ तो आपको मेरी बात पूरी तरह से समझ आ जाएगी। अमरीश जी के चौथे में हम सब शांत बैठे थे। मेरे सेक्रेटेरी ने मुझे धीरे से कहा प्रेस में एक नोट डाल दो कि अमरीशजी का रेप्लेस्मेंट आप हो। मैंने हैरान हो कर कहा अभी चार दिन भी नहीं हुए उनकी डेथ को और आप ऐसी घटिया बात बोल रहे हो। अमरीशजी ग्रेट ऐक्टर थे।मैं उनकी बराबरी नहीं कर सकता।९० प्रतिशत से ज़्यादा उनके रोल्ज़ नेगेटिव थे जो मैं १०० प्रतिशत नहीं कर सकता।मैं इस लिए काम नहीं माँगता क्योंकि देने वाले जब देंगे तो मुझे रोल करना पड़ेगा चाहे वो नेगेटिव हो या पॉज़िटिव।क्योंकि आपने माँगा था। हाथ आपने फैलाया था। मैं करोड़ों कमाने के लिए रोल नहीं करता। मैं दूसरों के लिए नहीं अपने लिए रोल करता हूँ। मैं वो रोल करता हूँ जो मेरे अंदर से निकलता है। इसलिए शायद अच्छा करता हूँ। मैं अंत में उस महाशय से कहना चाहूँगा कि सच है मैं फ़िल्मों में कम दिखता हूँ। लेकिन जब दिखता हूँ , तो सचमुच दिखता हूँ।

A post shared by Mukesh Khanna (@iammukeshkhanna) on

उन्होंने लिखा, ‘किसी ने अपने कामेंट में मुझ पर कटाक्ष किया है कि मैं अपने पितामह- शक्तिमान के हैंगओवर से बाहर निकलूं और अपनी ना मांगने की आदत से बाहर निकलूं ताकि मुझे और अच्छे किरदार मिल सकें। उस शख्स को मेरा जवाब था मांगना मेरी फ़ितरत में नहीं। उसने कहा मांगने में क्या शर्म, बड़े बड़े एक्टर्स मांगते हैं। उसने चंद बड़े एक्टर्स का नाम लिया ये भी काम मांगते हैं। उस महाशय के माध्यम से आज मैं आप सभी से ये कहना चाहूंगा, बात शर्म की नहीं, सोचने के अंदाज़ की है।मैंने आज तक किसी के आगे हाथ नहीं फैलाया। 60 फ़िल्मों में काम बिना मांगे ही किया है।मैं इतना भी बुरा एक्टर नहीं कि मुझे फिल्में ऑफर ना हों। समस्या ये है मैं ओवर चूज़ी हूं।’

इसके आगे मुकेश ने कहा, ‘मैं अपने ज़मीर की, अपनी अंतरात्मा की आवाज़ सुनता हूं।मैं उन्हीं किरदारों को करना पसंद करता हूं जो मुझे संतुष्टि दें। मैं पैसों के लिए फिल्में नहीं करता। मुझे पता है कि मैं विलेन के लिए हां कह दूं तो निर्माताओं की लाइन लग जाएगी। लेकिन मेरी अंतरात्मा मुझे इसकी इजाज़त नहीं देती। एक घटना बताऊं तो आपको मेरी बात पूरी तरह से समझ आ जाएगी।अमरीश पुरी के चौथे में हम सब शांत बैठे थे। मेरे सेक्रेटेरी ने मुझे धीरे से कहा प्रेस में एक नोट डाल दीजिए, कि आप अमरीश पुरी का रिप्लेसमेंट हैं। मैंने हैरान हो कर कहा अभी चार दिन भी नहीं हुए उनकी डेथ को और आप ऐसी घटिया बातें कर रहे हैं।’

बकौल मुकेश खन्ना, ‘अमरीश पुरी ग्रेट एक्टर थे।मैं उनकी बराबरी नहीं कर सकता।10 प्रतिशत से ज़्यादा उनके रोल्ज़ नेगेटिव थे जो मैं १०० प्रतिशत नहीं कर सकता। मैं इस लिए काम नहीं मांगता क्योंकि देने वाले जब देंगे तो मुझे रोल करना पड़ेगा चाहे वो नेगेटिव हो या पॉज़िटिव। क्योंकि आपने मांगा था। हाथ आपने फैलाया था।मैं करोड़ों कमाने के लिए रोल नहीं करता। मैं दूसरों के लिए नहीं अपने लिए रोल करता हूं। मैं वो रोल करता हूं जो मेरे अंदर से निकलता है। इसलिए शायद अच्छा करता हूं। मैं अंत में उस महाशय से कहना चाहूंगा कि सच है मैं फिल्मों में कम दिखता हूं। लेकिन जब दिखता हूं , तो सचमुच दिखता हूं।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Birthday Special: ‘इन्हें नाई के पास ले जाओ’, जब अनिल कपूर के साथ डिंपल कपाड़िया को शूट करना था रोमांटिक सीन, तो बोलीं एक्ट्रेस
2 ‘एक्टिंग को रिश्तेदार बताते थे अपमान, पापा पढ़ाई छुड़वाकर शादी कराना चाहते थे’; एक्ट्रेस कनिका मान का खुलासा
3 संजय राउत ने बीजेपी से साठगांठ का लगाया आरोप तो उद्धव से मिले सोनू सूद, आदित्‍य ठाकरे ने कहा- साथ मिल करेंगे काम