मुस्लिमों का नाम लेकर जनता को गुमराह करते हैं- बोले BSP प्रवक्ता, AIMIM नेता से हुई भिड़ंत

बीएसपी प्रवक्ता धर्मवीर चौधरी ने कहा कि जाति और धर्म की राजनीति नहीं करते हैं। हम ढोल बजाकर खुद को मुस्लिम नहीं बताते हैं। AIMIM प्रवक्ता ने कुछ ऐसा दिया जवाब।

AIMIM, BSP, Mayawati
AIMIM प्रवक्ता सैयद असीम वकार और बीएसपी प्रवक्ता धर्मवीर चौधरी (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश में पार्टियों ने चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी है। AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने भी यूपी में हुंकार भर दी है। बुधवार को सुल्तानपुर में अपनी रैली के दौरान ओवैसी ने कहा, ‘अखिलेश यादव और मायावती की नासमझी की वजह से नरेंद्र मोदी दो-दो बार प्रधानमंत्री बने।’ इसके अलावा उन्होंने अखिलेश और मायावती पर जमकर निशाना साधा। इस मुद्दे पर ‘एबीपी न्यूज’ पर डिबेट के दौरान भी दोनों पार्टी के प्रवक्ता आमने-सामने नज़र आए।

BSP का जवाब: बीएसपी प्रवक्ता धर्मवीर चौधरी ने कहा, ‘बहुजन समाज पार्टी में हम लोग अल्लाह-हू-अकबर भी बोलेंगे और जय श्री राम भी बोलेंगे। हम लोग जाति और धर्म की राजनीति बिल्कुल नहीं करते हैं। हमने मुख्य मंत्रालय नसीमुद्दीन सिद्दीकी साहब को देने का काम किया था। जो लोग खुद को ढोल बजाकर खुद को मुस्लिम बताते हैं वो जनता को गुमराह कर रहे हैं। क्योंकि बहन जी तो चाहती थीं कि सब जाति और धर्म के लोग आगे आकर साथ दें। ये लोग देश को बांटने का काम करते हैं।’

AIMIM का जवाब: AIMIM के प्रवक्ता सैयद असीम वकार बीएसपी प्रवक्ता का जवाब देते हुए कहते हैं, ‘इन लोगों को समझाइए कि डिबेट होती कैसे है। तीन बार बीजेपी के साथ मिलकर किसने सरकार बनाई और गुमराह करने का आरोप हमारे ऊपर लगा रहे हैं। 2002 के नरसंहार के बाद मायावती ने मोदी जी के लिए वोट मांगा था। क्या हम लोग इसे भूल जाएंगे। चुनाव हारने के बाद मायावती ने कहा था कि मुसलमान गद्दार होता है। जबकि ओवैसी साहब ने कभी नहीं कहा कि हिंदू गद्दार होता है।’

समाजवादी पार्टी प्रवक्ता का जवाब: समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता अब्दुल हफीज गांधी कहते हैं, ‘हमारे देश में लोकतांत्रिक व्यवस्था है। मुझे लगता है संवैधानिक तरीके से हमें बात करनी चाहिए। पार्टी के संविधान में क्या लिखा हुआ है? ये सब चीजें पता होनी चाहिए। आमतौर पर डराना-धमकाना पार्टियों में चलता रहता है। आपको अपनी पॉलिसी पर काम करना चाहिए। जनता अगर उनपर विश्वास करती है तो उन्हें बिना कुछ सोचे या समझे जरूर वोट देगी। क्योंकि जनता को आप बेवकूफ नहीं समझ सकते हो। लेकिन अब चीजें बदल रही हैं।’

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट