ताज़ा खबर
 

‘मिशन UP’ का नया राग लेकर आए हैं, सवाल उठेंगे आपकी मंशा पर- राकेश टिकैत से बोलीं चित्रा त्रिपाठी, देखें- क्या मिला जवाब

राकेश टिकैत बंगाल चुनाव में बीजेपी के खिलाफ बोलते आए हैं, अब वो ‘मिशन यूपी' की बात कर रहे हैं। इसी बात को लेकर एंकर चित्रा त्रिपाठी ने राकेश टिकैत से सवाल किया।

राकेश टिकैत ने चित्रा त्रिपाठी से कहा कि वो लोगों से अपील करेंगे BJP को वोट न देने के लिए (Photo-Aaj Tak/Twitter)

कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली की सीमाओं पर चल रहा किसान आंदोलन अब गति पकड़ता जा रहा है। किसान नेताओं की तरफ से ऐलान किया गया है कि 22 जुलाई से संसद के मानसून सत्र के दौरान हर रोज करीब 200 आंदोलनकारी संसद भवन पहुंचेंगे और वहां प्रदर्शन करेंगे। अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर भी किसान नेताओं ने अपनी रणनीति बनानी शुरू कर दी है। किसान नेता और भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत इससे पहले भी बंगाल चुनाव में बीजेपी के खिलाफ बोलते आए हैं, अब वो ‘मिशन यूपी’ की बात कर रहे हैं।

इसी बात को लेकर आज तक के शो दंगल पर एंकर चित्रा त्रिपाठी ने राकेश टिकैत से सवाल किया। उन्होंने पूछा, ‘आप कभी बंगाल पहुंच जा रहे हैं कभी देश के दूसरे हिस्से में पहुंच जा रहे हैं। बीजेपी के खिलाफ जो भी मोर्चा है, उसका समर्थन करेंगे तो सवाल तो उठेंगे न आपकी मंशा पर? और अब मिशन यूपी का नया राग लेकर आ गए हैं राकेश टिकैत जी।’

जवाब में राकेश टिकैत ने कहा, ‘अच्छा! वे चुनाव लड़े तो कोई राग नहीं, वो भजन है। हमने मिशन यूपी कहा तो हम राग गा रहा हैं। तो ये राग ही सुनाएंगे हम उनको। देश की जनता ने उन्हें वोट दिया है तो अब राग भी सुनाएंगे।’

 

चित्रा त्रिपाठी ने उनसे फिर सवाल किया, ‘कौन सा राग?’ टिकैत बोले, ‘राग ही सुनाएंगे, जब हम उनको वोट नहीं देंगे। कोई जबरदस्ती है क्या? या गुंडागर्दी के दम पर वोट लेंगे।’

 

चित्रा त्रिपाठी ने जब उनसे ये पूछा कि उत्तर प्रदेश चुनाव में वो किसके साथ होंगे तो उन्होंने कहा, ‘हम क्या जाएंगे किसी के साथ। हमारे भरोसे कोई न रहे कि हम किसी के साथ जाएंगे। हम तो बस यही कहेंगे कि बीजेपी को वोट मत दो।’

 

राकेश टिकैत अपने ट्विटर अकाउंट से भी किसान आंदोलन को लेकर लगातार आवाज़ उठाते रहे हैं और केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते रहे हैं।  हाल ही में किए गए एक ट्वीट में उन्होंने लिखा था, ‘किसानों को खालिस्तानी बताने वाले यह समझ ले कि रावण की लंका में आग एक वानर ने ही लगाई थी। यह बिल भी वापस होंगे एमएसपी कानून भी बनेगा, लेकिन समय लगेगा। अगर यह सरकार अहंकारी होगी तो सत्ता से इनकी विदाई करनी होगी।’

Next Stories
1 हाथ में 80 लाख का बैग लिए प्रियंका चोपड़ा संग नजर आईं नताशा पूनावाला, होने लगीं ट्रोल
2 गुस्सा आता है कि मारूं ऐसे लोगों को- सगाई के बाद जब अमृता सिंह से जुड़ा सनी देओल का नाम, ऐसा था एक्टर का रिएक्शन
3 डिंपल ने जबरन कराया वसीयत पर काका का साइन- राजेश खन्ना की दोस्त अनीता आडवाणी ने लगाए थे आरोप
ये पढ़ा क्या?
X