विस्तार चुनाव के लिए नहीं हुआ- BJP नेता की बात पर हंसने लगीं न्यूज एंकर, बोलीं- इस बात पर कौन भरोसा करेगा

यूपी के मंत्रिमंडल में हुए विस्तार को लेकर आज तक के ‘दंगल’ में भी चर्चा की गई, जहां भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि इसे चुनाव को देखते नहीं किया गया है।

jitin prasad, up, yogi government
कैबिनेट विस्तार में शामिल हुए जितिन प्रसाद (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने मंत्रिमंडल में विस्तार किया है। मंत्रिमंडल में कांग्रेस से आए जितिन प्रसाद को शामिल किया गया है। इसे लेकर यह माना जा रहा है कि भाजपा बीते कुछ समय से ब्राह्मणों की नाराजगी झेल रही थी, ऐसे में उन्होंने जितिन प्रास को मंत्री बनाकर जातीय समीकरण साधने की कोशिश की। इस मामले को लेकर आज तक के डिबेट शो ‘दंगल’ में भी चर्चा की गई, जहां भाजपा नेता ने बताया कि विस्तार चुनाव को ध्यान में रखते हुए नहीं किया गया है। हालांकि उनकी इस बात पर न्यूज एंकर हंसने लगीं तो वहीं सपा नेता भी तंज कसने लगे।

भाजपा प्रवक्ता सैयद जफर इस्लाम से न्यूज एंकर ने सवाल किया था कि क्या इस विस्तार से भाजपा 2017 वाला करिश्मा दोहरा पाएगी? इसका जवाब देते हुए सैयद जफर इस्लाम ने कहा, “2017 में जो हमने प्रदर्शन किया था, 2022 में उससे भी बेहतर प्रदर्शन किया जाएगा। यह तो बहुत छोटी एक्सरसाइज है। पार्टी को लगा था कि कमियां रह गई हैं, इसलिए यह कदम उठाया गया है।”

सैयद जफर इस्लाम ने अपने बयान में आगे कहा, “मंत्रिमंडल में अब दलित समाज से भी लोग होंगे और ब्राह्मण समाज से भी लोग होंगे। लेकिन इसे 2022 में होने वाले चुनावों को देखते हुए नहीं किया गया है। 2022 के चुनाव को लेकर हमें विश्वास है कि जनता हमारा समर्थन करेगी।” भाजपा प्रवक्ता की इस बात पर न्यूज एंकर चित्रा त्रिपाठी हंसने लगीं।

चित्रा त्रिपाठी ने सैयद जफर इस्लाम की बातों का जवाब देते हुए कहा, “जब चुनाव के पांच से छह महीने बाकी हों और उसके ठीक पहले फेरबदल किया जा रहा हो और यह कहा जाए कि चुनाव हमारे ध्यान में नहीं है तो इस बात पर कौन भरोसा करेगा।” न्यूज एंकर के अलावा सपा नेता अनुराग भदौरिया भी तंज कसने से पीछे नहीं रहे।

सपा नेता ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा, “साढ़े चार साल बाद भाजपा को एहसास हो गया है कि उन्होंने कोई काम नहीं किया है, ऐसे में इन्हें हार का डर सताने लगा है। काम तो किया नहीं, अब जनता को बताएं क्या।”

सपा नेता ने आगे कहा, “इसलिए अब ये जातीय समीकरण साधने के लिए मंत्री बना रहे हैं। यह मंत्री बना लें, मुख्यमंत्री बना लें या बदल लें, यूपी की जनता ने जो साढ़े चार साल तक दर्द झेला है। उससे अब उन्होंने तय कर लिया है कि वह इनकी सरकार को 2022 में उखाड़कर फेंक देगी।”

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट