scorecardresearch

‘मोदी जी अपने मंत्री को समझाइये’- केंद्रीय मंत्री की फिसली जुबान तो सोशल मीडिया पर ऐसे टिप्पणी करने लगे लोग

केंद्रीय मंत्री ने सड़कों की तुलना हेमा मालिनी (Hema Malini) के गालों से कर दी तो दिग्विजय सिंह (Digvijya Singh) भड़क गए हैं।

‘मोदी जी अपने मंत्री को समझाइये’- केंद्रीय मंत्री की फिसली जुबान तो सोशल मीडिया पर ऐसे टिप्पणी करने लगे लोग
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दिग्विजय सिंह (Photo- Indian Express)

केंद्रीय इस्पात एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते (Faggan Singh Kulaste) एक गांव में नल-जल योजना कार्यक्रम का भूमिपूजन करने पहुंचे, जहां वह कलेक्टर को निर्देश देते हुए हेमा मालिनी (Hema Malini) पर टिप्पणी कर दिए। केंद्रीय मंत्री द्वारा हेमा मालिनी पर की गई ये टिप्पणी सोशल मीडिया पर इस वक्त वायरल हो रही है। अब लोग राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते के इस टिप्पणी पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते डिंडोरी के कलेक्टर रत्नाकर झा से बात कर रहे थे। वहां पर अन्य लोग भी मौजूद थे। किसी सड़क के बारे में वह बात कर रहे थे, इसी दौरान उन्होंने सबके सामने कहा- ‘उस गांव में ठेकेदार ने सड़क तो अच्छी बना दी हैं, हेमा मालिनी के गाल जैसी पर पानी नहीं है गांव में। पूरे गांव के लोग परेशान हैं।’

केंद्रीय मंत्री के इस टिप्पणी से लोग भड़क गये और सोशल मीडिया पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने ट्विटर पर लिखा कि ‘मोदी जी, मा. मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते जी को समझाइए इस प्रकार की भाषा का उपयोग ना किया करें।’

विनोद शर्मा नाम के यूजर ने प्रतिक्रिया देते हुए लिखा कि ‘7-8 वर्षों के अनुभव के आधार पर कह सकते हैं कि भाषा की मर्यादा भाजपा के किसी नेता में नहीं है। इसका एक ही कारण है भाजपा को मिला प्रचंड बहुमत और सत्ता का घमंड।’

दिग्विजय सिंह ने जब वीडियो शेयर करते हुए पीएम मोदी से मंत्री को समझाने की अपील की तो लोग दिग्विजय सिंह के ही बयान को याद दिलाने लगे। सोशल मीडिया पर विजय कुमार नाम के यूजर ने लिखा कि “टंच माल” और “ओसामा जी” किसने बोला था?शोम नाम के यूजर ने लिखा कि ‘पता नही मध्यप्रदेश वाले कौन सा पानी पीते हैं, कोई टन्च माल बोलता कोई ड्रीमगर्ल! ये कभी लालू की पार्टी में भी रहे।’

वहीं फग्गन सिंह कुलस्ते ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ”अच्छे काम आप लोगों को पसंद नहीं है तो क्या करेंगे। मैंने तो साधारण उदाहरण दिया था। अब आप लोग इसे तूल देंगे तो ये ठीक नहीं है।” वहीं विपक्ष ने इसे महिलाओं का अपमान बताकर बीजेपी को घेरने की कोशिश की है।

पढें मनोरंजन (Entertainment News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट