अक्षय कुमार और मल्लिका दुआ विवाद में ट्विंकल खन्ना ने इस तरह ली चुटकी - Twinkle Khanna posts lame jokes on ongoing Akshay Kumar VS Mallika Dua controversy - Jansatta
ताज़ा खबर
 

अक्षय कुमार और मल्लिका दुआ विवाद में ट्विंकल खन्ना ने इस तरह ली चुटकी

अक्षय कुमार और मल्लिका दुआ के विवाद पर ट्विकंल खन्ना ने एक बार फिर सामने रखी अपनी राय।

अक्षय कुमार और मल्लिका दुआ विवाद पर एक बार फिर ट्विंकल खन्ना ने पेश की अपनी राय।

अक्षय कुमार इन दिनों अपनी द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंट की कलीग मल्लिका दुआ को बोली गई एक लाइन की वजह से विवादों में घिरे हुए हैं। इस विवाद पर एक्टर की पत्नी ट्विंकल ने उनका बचाव करते हुए ट्विटर पर एक पोस्ट किया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि मुझे इस विवाद में ना घसीटें। अपने बयान को पोस्ट करने के बाद खन्ना ने दो बकवास चुटकुले शेयर किए हैं। ट्विंकल ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा- अक्षय कुमार की पसंदीदा कार कौन सी है? बैल गाड़ी और अक्षय कुमार मस्जिद में क्यों जाते हैं? वो दुआ सुनना चाहते हैं। इसे कैप्शन देते हुए लिखा- मैं खुद को इन दोनों को शेयर करने से नहीं रोक पाई।

द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज के जजिस को अगर किसी प्रतिभागी की परफॉर्मेंस पसंद आती है तो उन्हें बेल बजानी होती है। अक्षय का बजाने वाला कमेंट उसी संदर्भ में था। समाचार एजेंसी आईएएनएस के अनुसार चैनल ने अक्षय और मल्लिका के विवाद वाली क्लिप को प्रसारित नहीं किया था लेकिन यह इंटरनेट पर वायरल हो गई। जिसके बाद मामले ने तूल पकड़ लिया। इस कमेंट को लेकर पहले मल्लिका दुआ के पिता विनोद दुआ ने आपत्ति जताई थी और फिर मल्लिका ने भी खुलकर अक्षय की इस टिप्पणी पर कड़ी प्रतिक्रिया दी थी।

बकवास जोक्स से पहले ट्विंकल ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा था कि द लाफ्टर चैलेंज शो के सेट पर चल रहे विवादों पर बात करना चाहूंगी। शो में एक घंटी है जिसे जज उस समय बजाते हैं जब उन्हें किसी प्रतिभागी का प्रदर्शन बहुत पसंद आता है। जब मिस दुआ बेल बजाने गईं तो अक्षय ने कहा कि मल्लिका जी आप बेल बजाओं मैं आपको बजाता हूं।

ट्विंकल ने कहा कि यह पंच केवल बेल बजाने को लेकर कहा गया था। यह एक बहुत ही साधारण सी बात है जिसे एक समय पर महिला और पुरुष दोनों इस्तेमाल करते हैं जैसे की मैं उसे बजाऊंगी या मेरी बज गई। इतना ही उन्होंने रेड एफएम का हवाला देते हुए कहा कि रेड एफएम की टैगलाइन ही बजाते रहो है, बिना किसी सेक्सिट अर्थ के। मैं हमेशा कॉमेडी के पक्ष में रहीं हूं कि कॉमेडी प्लेटफॉर्म को स्वतंत्रता दी जाए।

https://www.jansatta.com/entertainment/

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App