सिद्धू के लिए अब एक ही कुर्सी बची है- संबित पात्रा से किया गया सवाल तो अर्चना पूरण सिंह का नाम लेकर ऐसे लेने लगे चुटकी

नाविका कुमार ने संबित पात्रा से नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर एक सवाल पूछ लिया। इस पर पात्रा ने कुछ यूं जवाब दिया।

पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू और सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के बीच जुबानी जंग लगातार जारी है। ‘टाइम्स नाउ नवभारत’ पर नाविका कुमार की लाइव डिबेट में पंजाब के सियासी हालात पर चर्चा चल रही थी। इस दौरान नाविका ने संबित पात्रा से नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर एक सवाल पूछ लिया। इसके जवाब में पात्रा ने द कपिल शर्मा शो की जज अर्चना पूरण सिंह का नाम लेकर चुटकी लेने लगे।

नाविका कुमार ने कहा- ‘संबित पात्रा, आपसे एक सवाल पूछना चाहती हूं, वो पंजाबी में एक कहावत है- ‘शादी एक ऐसा लड्डू है जेड़ा खाए ओह वि पछताए जे ना खाए ओह वि पछताए।’ गरेवाल साहब ने अभी कहा ‘हाय मेरी तौबा’। तो ये सिद्धू जी कुछ ऐसे नहीं हो गए हैं क्या? आपने पहले शादी की उनसे… आप पछता रहे हो।

अब कांग्रेस ने की, अब वो पछता रहे हैं। आम आदमी पार्टी ने थोड़ा बहुत मिलने जुलने की कोशिश की वो पछता रहे हैं। ये सिद्धू कौन सा फॉर्मूला है? आपको पहले नहीं पता चला था? बाद में पता चला कि इस लड्डू में क्या है?

इस पर पात्रा ने जवाब दिया- ‘देखिए नाविका जी, ये सब कुछ सिद्धू जी के बारे में सुनने के बाद अर्चना पूरण सिंह के उपर तरस आता है। बेचारी अर्चना पूरण सिंह की कुर्सी जो है वो खतरे में है। ऐसा न हो आप और बीजेपी से तो गए अकाली वाले तो बोल ही रहे थे, कांग्रेस तो खत्म हो जाएगी। तो अब एक ही कुर्सी बची है। उसमें तो हमारी अर्चना बहन बैठी हुई हैं, अब उनको हटा कर कहीं सिद्धू न बैठ जाएं। बहरहाल सिद्धू जहां हैं वहीं ठीक हैं, उन्हें वहीं रहने दीजिए।’

पात्रा ने आगे कहा- ‘मैं गंभीर विषय पर यहां चर्चा को लाता हूं। आप देखिए, यहां किसान बिल के बारे में भी चर्चा हुई। पंजाब किसानों के बारे में बहुत सेंसेटिव भी रहा है। अब चूंकि कैप्टन साहब इसमें अपनी भूमिका अदा कर रहे हैं। मैं यहां पर एक सवाल करता हूं कि टिकैत ज्यादा चलेंगे पंजाब में या कैप्टन चलेंगे। क्योंकि कुछ पॉलिटिकल पार्टीज ऐसी हैं जो टिकैत के नेतृत्व को किसानों का नेतृत्व मानती है, उनमें से एक कांग्रेस है।

अब जब कैप्टन साहब कह रहे हैं कि मैं इस विषय का नेतृत्व करना चाहता हूं तो अब ये देखना है कि जो पॉलिटिकल पार्टीज टिकैत को अपना नेता मानती हैं और कैप्टन साहब को अपना दुश्मन मानती हैं, क्या इसका असर पंजाब में रहेगा! ये बहुत महत्वपूर्ण विषय होने वाला है।’

बता दें, हाल ही में सिद्धू ने भी पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर पर निशाना साधते हुए कहा था कि पंजाब के राजनीतिक इतिहास में आपको एक जयचंद के रूप में याद किया जाएगा। आप वास्तव में एक दगा हुआ कारतूस हैं।

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।