ताज़ा खबर
 

टाइम्स नाउ पर राहुल शिवशंकर ने हैदर को चेताया- गाली देंगे तो चले जाइए, जवाब में फिर दी गाली

बहस के दौरान हैदर जैदी राहुल शिवशंकर के लिए अभद्र भाषा का प्रयोग करने लगे। इसके बाद राहुल शिवशंकर ने हैदर जैदी को गाली देने से मना किया,पर हैदर...

Times Now, Times Now Debate, Rahul Shivshankar, Rahul Shivshankar warns Hyder,टाइम्स नाउ के एंकर राहुल शिवशंकर

सोशल मीडिया पर सीपीआई नेता हैदर जैदी को गाली देने पर फटकार लगाते हुए टाइम्स नाउ के पत्रकार राहुल शिवशंकर का एक वीडियो ख़ूब शेयर हो रहा है। दरअसल टाइम्स नाउ के पत्रकार राहुल शिवशंकर केरल के गोल्ड स्कैंडल को लेकर अपने शो में डिबेट कर रहे थे। शो में केरल के मुख्यमंत्री ऑफिस की इस घोटाले में भूमिका पर डिबेट चल रही थी।

इस डिबेट में सीपीआई के नेता हैदर जैदी भी थे। बहस के दौरान हैदर जैदी राहुल शिवशंकर के लिए अभद्र भाषा का प्रयोग करने लगे। इसके बाद राहुल शिवशंकर ने हैदर जैदी को गाली देने से मना किया,पर हैदर जैदी नहीं माने। इसपर राहुल शिवशंकर बोले, “अगर आप यहां बैठकर गाली देंगे, ऐसी उल्टी-पटांग बातें करेंगे तो बेहतर यही होगा आप शो छोड़कर चले जाइए। मैने यहां आपका ठेका नहीं ले रखा जो आपकी नॉनसेंस बातें सुनूंगा।

राहुल शिवशंकर ने हैदर जैदी से आगे कहा आपने प्रश्न का ज़वाब दिया, आपके पास सवाल था आपने रखा। आप मेरे प्रश्न का ज़वाब दे सकते हैं, तो जवाब दीजिए। वरना आप यह पैनल छोड़कर जा सकते हैं। मुझे आपकी बेइज्जती करने में कोई दिलचस्पी नहीं है। इसके बाद राहुल शिवशंकर ने फिर से हैदर जैदी को चेताया कि शो में बैठकर गाली-गलौच‌ मत कीजिए। इसके ज़वाब में सीपीआई नेता हैदर जैदी ने राहुल शिवशंकर को फिर से गाली दे दी।

यह पहला मौका नहीं था जब सीपीआई नेता हैदर जैदी ने ऐसा बर्ताव किया हो। हैदर जैदी इससे पहले भी टीवी डिबेट्स के दौरान कई बार उल्टा-सीधा बोल चुके हैं। क्या है केरल गोल्ड स्कैंडल: जुलाई में कस्टम अधिकारियों ने केरल के तिरूवनंतपुरम एयरपोर्ट पर तस्करी का सोना जब्त किया। कस्टम के अधिकारियों ने कारगो से एक संदिग्ध पैकेट बरामद किया था। दरअसल यह एक डिप्लोमेटिक पैकेज था इसपर त्रिवेन्द्रम स्थित यूएई कॉन्सूलेट का पता लिखा था।

 

डिप्लोमेटिक मामला होने की वजह से कस्टम ने पूरे प्रोटोकॉल का पालन करते हुए इस पैकेट से 30 किलो सोना बरामद किया गया था। इस मामले में गिरफ्तार यूएई कॉन्सूलेट के व्यक्ति ने एक महिला स्वप्ना सुरेश का नाम लिया था।

मामले में स्वप्ना सुरेश का नाम आने से केरल की राजनीति गर्मा गई। स्वप्ना केरल के इंफोर्मेशन एंड टेक्नोलॉजी विभाग में सलाहकार के पद पर रह चुकी थीं। उन्हें केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन के तत्कालीन मुख्य सचिव एम शिवशंकर का करीबी माना जाता है। इसके बाद एम शिवशंकर को भी अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था।

Next Stories
1 खेल शुरू तुमने किया, ख़त्म मैं करूंगा- मुंबई पुलिस कमिश्नर पर बरसे अर्नब गोस्वामी; बोले- CM उद्धव ने भी कर लिया है परमबीर सिंह से किनारा
2 टीआरपी स्कैम: सच दिखाना आपके DNA में नहीं क्या? आप नहीं बोल सकते तो मुझे बुलाइए- अर्नब गोस्वामी ने रिपब्लिक TV से इंडिया टीवी, जी न्यूज़ और आज तक पर बोला हमला
3 जब शहीद जवान के पिता के गले लग खूब रोए थे ओम पुरी, इस वजह से मांगी थी सरेआम माफी
यह पढ़ा क्या?
X