ताज़ा खबर
 

अब शाहरुख बोले, बढ़ रही है असहिष्णुता

बॉलीवुड सुपरस्‍टार शाहरुख खान ने 50वीं सालगिरह पर कहा है कि भारतीय समाज में कट्टरता तेजी से बढ़ रही है। 'इंडिया टुडे टीवी' के राजदीप सरदेसाई के साथ 'ट्विटर टाउनहॉल' में खान ने यह बात कही।

Author नई दिल्ली | November 3, 2015 1:29 AM
शाहरुख खान ने 50वीं सालगिरह पर कहा है कि भारतीय समाज में कट्टरता तेजी से बढ़ रही है।

पचासवां साल पूरा कर रहे अभिनेता शाहरुख खान पर सोमवार को बधाइयों की बरसात हुई। उनके सहकर्मियों ने उन्हें शुभकामनाएं दी। इस मौके पर शाहरुख को एक बात खटक रही है कि इस देश में लोग सहनशीलता भूलते जा रहे हैं। उनका कहना है कि देश में असहिष्णुता का वातावरण है, चरम असहिष्णुता है। इंडिया टुडे टीवी चैनल पर शाहरुख ने कहा कि देश में लोग बिना सोचे समझे टिप्पणियां कर रहे हैं, जिससे स्थितियां बिगड़ रही हैं और असहिष्णुता का वातावरण बन रहा है। उन्होंने कहा कि असहिष्णुता का बढ़ना मूर्खता है और धार्मिक असहिष्णुता का बढ़ना बहुत बड़ा मुद्दा है। देश से प्यार करने वालों की नजर में यह सबसे बड़ा अपराध है। हम सुपर पॉवर कैसे बनेंगे, अगर हम इस बात में विश्वास नहीं करेंगे कि सारे धर्म एक जैसे ही हैं।

PHOTOS- HAPPY BIRTHDAY शाहरुख: 50वें जन्मदिन पर आइए याद करें SRK की 7 टॉप फिल्में

खान का कहना है कि वह प्रतीकात्मक तौर पर पुरस्कार लौटा सकते हैं। साथ ही यह भी कहा कि जो लोग पुरस्कार लौटा रहे हैं उनके प्रति सम्मान का भाव होना चाहिए। इन दिनों कलाकार, साहित्यकार, वैज्ञानिक पुरस्कार लौटा कर प्रतीकात्मक तौर पर वर्तमान माहौल के प्रति नाखुशी जता रहे हैं। मगर एक लोकप्रिय स्टार होने के नाते उनके लिए किसी मसले पर राय कायम करना आसान नहीं है। शाहरुख ने कहा कि हम बोलने की आजादी की बात करते हैं, मगर मेरे घर पर पत्थर मारने वाले भी खड़े हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि अगर वे किसी मसले पर राय कायम करते हैं, तो फिर आगे पीछे नहीं देखते।

‘बढ़ती असहिष्णुता’ और फिल्मकारों, वैज्ञानिकों एवं लेखकों द्वारा पुरस्कार लौटाए जाने पर अपनी भावनाओं को प्रकट करते हुए शाहरुख ने कहा कि वह ‘प्रतीकात्मक रूख’ के तौर पर अपना पुरस्कार लौटाने में नहीं हिचकेंगे लेकिन उनको महसूस होता है कि उन्हें ऐसा नहीं करना है। शाहरुख में पास पद्मश्री सहित कई सम्मान हैं।

शाहरुख ने कहा, ‘असहिष्णु होना मूर्खता है और यह सिर्फ हमारा एक मुद्दा नहीं बल्कि सबसे बड़ा मुद्दा है। देश में धार्मिक असहिष्णुता और धर्मनिरपेक्ष नहीं होना सबसे जघन्य तरह का अपराध है जो आप एक देशभक्त के रूप में कर सकते हैं।’ उन्होंने कहा, ‘जिन लोगों ने सम्मान लौटाए हैं, मैं उनका सम्मान करता हूं, लेकिन मैं नहीं ऐसा करूंगा।’ पद्मश्री पा चुके खान ने अभी तक राष्ट्रीय पुरस्कार नहीं जीता है। मगर उनकी इस टिप्पणी से कभी हंगामा मच गया था कि वह पुरस्कार खरीदने में विश्वास रखते हैं।

Also Read: Birthday पर शाहरुख ने रिलीज़ किया ‘FAN’ का दूसरा टीजर

सोमवार को 50 साल पूरे करने पर शाहरुख ने अपने परिवार के साथ जन्मदिन मनाया। पत्नी गौरी ने केक काटा और फोटो सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर डाला। उनके जन्मदिन पर बंगले मन्नत के सामने प्रशंसकों की भीड़ उनकी एक झलक पाने के लिए बेताब नजर आई। उनके मित्रों और शुभचिंतकों ने उन्हें ट्विटर के जरिये शुभकामनाएं दी। सलमान खान ने उनके अच्छे स्वास्थ्य की कामना की। उनके साथ बतौर निर्देशक करियर की शुरुआत करने वाली हेमा मालिनी ने उन्हें बधाई दी, करण जौहर ने उनके प्रति आभार जताया, फराह खान ने उनके साथ बिताए पलों को याद किया, तो अपने पहले हीरो के प्रति अभिनेत्री प्रीति जिंटा ने स्नेह व्यक्त किया।

उनके सहकर्मी और पहली फिल्म ‘दीवाना’ में साथ काम कर चुके ऋषि कपूर उन्हें ऊर्जा से भरपूर बताते हैं, तो जैकी श्रॉफ उन्हें सोने का दिलवाला कहते हैं। अनुपम खेर की नजरों में वह सबसे आकर्षक हैं। सोनू निगम उन्हें अपना भाई कहते हुए कामना करते हैं कि खान अपने प्रशंसकों के जीवन में उजाला कर दें।

शाहरुख ने कहा कि हम सुपर पॉवर कैसे बनेंगे अगर हम इस बात में विश्वास नहीं करेंगे कि सारे धर्म एक जैसे ही हैं। खान का कहना है कि वह प्रतीकात्मक तौर पर पुरस्कार लौटा सकते हैं। साथ ही यह भी कहा कि जो लोग पुरस्कार लौटा रहे हैं उनके प्रति सम्मान का भाव होना चाहिए।

शाहरुख के बर्थडे पर किए जा रहे ट्वीट्स…

लगातार ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट्स, एनालिसिस, ब्‍लॉग पढ़ने के लिए आप हमारा फेसबुक पेज लाइक करेंगूगल प्लस पर हमसे जुड़ें  और ट्विटर पर भी हमें फॉलो करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App