ताज़ा खबर
 

The Mukesh Khanna Show: ‘अर्जुन’ का रोल निभाना चाहते थे मुकेश खन्ना लेकिन ऑफर हुआ ‘दुर्योधन’ का किरदार, फिर ऐसे बने महाभारत के ‘भीष्म’

मुकेश खन्ना के शो पर इस बार गूफी पेंटल (महाभारत के ‘शकुनि मामा') आए थे। मुकेश खन्ना ने बताया कि वो अर्जुन का किरदार निभाना चाहते थे लेकिन उन्हें दुर्योधन ऑफर किया गया था। दो महीनों बाद जब एक किरदार को छोड़ सबकी कास्टिंग हो गई तब..

the mukesh khanna show, mukesh khanna, gufi paintalमुकेश खन्ना और गुफी पेंटल (Photo source- The Mukesh Khanna Show/Youtube)

The Mukesh Khanna Show: मुकेश खन्ना अपने इस शो पर महाभारत के किरदारों को बुलाकर उनसे महाभारत से जुड़ी बातें करते हैं। इस बार शो पर महाभारत के ‘शकुनि मामा’ यानि गुफी पेंटल आए थे। उनसे बातचीत के दौरान मुकेश खन्ना ने बताया कि महाभारत के लिए जब कास्टिंग हो रही थी तब उन्हें दुर्योधन का किरदार ऑफर किया गया। हालांकि वो अर्जुन का किरदार निभाना चाहते थे। मुकेश खन्ना ने अपने शो पर बताया कि उन्हें किस तरह भीष्म पितामह का किरदार मिला था।

मुकेश खन्ना ने बताया कि गुफी पेंटल, जो कि महाभारत के कास्टिंग डायरेक्टर भी थे, ने उन्हें कॉल किया और बताया कि वो महाभारत बना रहे हैं। मुकेश खन्ना ने आगे बताया, ‘मैंने पूछा कि मुझे कौन सा रोल दोगे तो गूफी ने बताया कि अर्जुन, करन, कृष्ण, भीष्म। मुझे तो ए टू जेड सब पता था महाभारत के बारे में तो मैंने कहा ओके। मैं वहां पहुंचा और मैंने जाकर ऑडिशन दिया। चोपड़ा साहब (बीआर चोपड़ा, महाभारत के निर्माता) सबसे पहले मुझे दुर्योधन बनाना चाहते थे।’

मुकेश खन्ना ने आगे बताया कि मुझे गुफी ने फोन कर कहा कि बीआर चोपड़ा ऐसा सोच रहे हैं कि तुम अच्छा दुर्योधन बनोगे। मुकेश खन्ना ने आगे बताया, ‘मैंने कहा कि गूफी मैं विलेन का रोल नहीं करता। मैं उस वक्त हीरो था। मेरी 8 फिल्मों पर काम चल रहा था और 4 रिलीज़ हो चुकी थीं। मैंने गूफी को मना कर दिया। उसके बाद मैं चोपड़ा साहब के ऑफिस आने जाने लगा कि मुझे कोई अलग रोल मिल जाए। मेरे सामने कृष्ण का सेलेक्शन हुआ, अर्जुन का सेलेक्शन हुआ, जो कि मैं करना चाहता था।’

मुकेश खन्ना ने बताया कि इसके दो महीने बाद उन्हें गुफी का एक बार फिर से फोन आया और उन्हें बताया गया कि महाभारत के लिए अब बस एक ही किरदार बचा है। उन्होंने सोचा कि वो अर्जुन का किरदार निभाना चाहते थे लेकिन उसके लिए किसी और को ले लिया गया था। भीष्म पितामह के बारे में मुकेश खन्ना ने कभी सोचा ही नहीं था।

उन्होंने बताया, ‘मुझे गुफी का फोन आया और उसने बोला कि बस एक रोल बचा है भीष्म पितामह का करोगे? मैंने एक सेकेंड सोचा और फिर हां कर दिया। मेरी किस्मत में आयुष्मान भव कहना लिखा था। गुफी पेंटल ने बताया कि महाभारत के ऑडिशन में करीब 10 महीनों का वक्त लग गया। उन्होंने बताया कि ऑडिशन में 3,500 लड़के- लड़कियों का ऑडिशन लिया गया था।

Next Stories
1 विवादों में संजय लीला भंसाली की नई फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’, आलिया और भंसाली के खिलाफ दर्ज हुआ केस
2 किसान नेता राकेश टिकैत पर फिल्ममेकर ने कसा तंज बोले – इन दलालों की दुकान हो रही है बंद; हुए ट्रोल
3 बिहार के CM पर आशुतोष ने कसा तंज- नीतीश कुमार कभी प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार थे और आज?’ आने लगे ऐसे कमेंट्स
ये पढ़ा क्या?
X