जिस बंगले में अमिताभ बच्चन ने की थी ‘आनंद’ की शूटिंग, बाद में उसी को खरीद बनाया अपना आशियाना, खुद बताया किस्सा

जिस बंगले में फिल्म 'आनंद' की शूटिंग हुई, बाद में अमिताभ बच्चन ने उसी घर को खरीद कर अपना आशियाना बना लिया। राजेश खन्ना के साथ फिल्म आनंद में काम कर अमिताभ बच्चन को काफी लोकप्रियता मिली थी।

amitabh bachchan, amitabh bachchan bungalow jalsa, amitabh bachchan anandराजेश खन्ना और अमिताभ बच्चन ने फिल्म आनंद में साथ काम किया था (Photo-Indian Express Archive)

अमिताभ बच्चन और राजेश खन्ना स्टारर फिल्म ‘आनंद’ हिंदी फिल्म इंडस्ट्री की बेमिसाल फिल्म मानी जाती है। 12 मार्च 1971 को रिलीज हुई इस फिल्म ने खूब सुर्खियां बटोरी और इसी के साथ ही चर्चा में आ गए थे अमिताभ बच्चन। अमिताभ बच्चन के करियर की यह पहली हिट फिल्म थी। इस फिल्म को निर्देशक ऋषिकेश मुखर्जी ने जिस बंगले में शूट किया, बाद में अमिताभ बच्चन ने उसी घर को खरीद कर अपना आशियाना बना लिया। उस बंगले में अमिताभ बच्चन की कई फिल्मों की शूटिंग हुई थी जिसमें से एक चुपके- चुपके भी थी।

इस फिल्म को रिलीज हुए आज 46 साल हो गए हैं। इसी मौके पर अमिताभ बच्चन ने अपने ट्विटर पर फिल्म से जुड़ी कई तस्वीरें शेयर की है और बताया है कि तस्वीर में जो घर दिख रहा है वो अब मेरा घर जलसा है। अमिताभ बच्चन ने इस बंगले की खरीदे जाने, बेचे जाने और फिर खरीदे जाने का किस्सा भी शेयर किया है।

अमिताभ बच्चन ने बताया कि पहले ये बंगला निर्माता एन सी सिप्पी का हुआ करता था और वहीं उनके कई फिल्मों की शूट हुई। उन्होंने लिखा है, ‘चुपके चुपके, ऋषिकेश मुखर्जी के साथ हमारी फिल्म को आज 46 साल हो गए। तस्वीर में ये जो घर आप देख रहे हैं वो प्रोड्यूसर एन सी सिप्पी का घर था… हमने इसे खरीदा, फिर बेचा और फिर वापस खरीद लिया.. दोबारा बनवाया.. अब ये हमारा घर है जलसा। यहां पर कई फिल्में शूट हुई हैं.. आनंद, नमकहराम, चुपके चुपके, सत्ते पे सत्ता आदि..।’

 

फिल्म चुपके चुपके की बात करें तो इसमें अमिताभ बच्चन के अलावा जया बच्चन, धर्मेंद्र, शर्मिला टैगोर आदि भी थे। यह बंगाली फिल्म छद्मभेषी की रीमेक थी। इस फिल्म को अब तक की श्रेष्ठ कॉमेडी फिल्मों में से एक माना जाता है।

 

इस फिल्म के रीमेक को लेकर भी अटकलें लगाई जा रही हैं और कहा जा रहा है कि राजकुमार राव इसमें अहम रोल निभा सकते हैं। इस बारे में जब धर्मेंद्र के बेटे सनी देओल से पूछा गया तो उन्होंने इंडियन एक्सप्रेस से कहा कि अगर उन्हें ऐसा कुछ करने को कहा जाता तो वो कभी नहीं करते।

 

वो बोले, ‘अच्छी बात है लेकिन इस फिल्म की खूबसूरती इसके एक्टर्स के साथ थी जिन्होंने इस फिल्म में काम किया जैसे कि मेरे पिता, शर्मिला जी, अमित जी, जया जी। अगर कोई इसे दोबारा बनाने की कोशिश करता है तो उन्हें शायद कम आंका जाए। मैं ऐसी फिल्म को कभी छूने की कोशिश नहीं करता।’

Next Stories
1 अनुष्का शर्मा की फिल्म ‘Qala’ से डेब्यू कर रहे हैं इरफान खान के बेटे बाबिल, देखें टीज़र
2 पैसे TMC से लिए और तारीफ मोदी की कर रहे?- डिबेट में कहने लगे एंकर तो पैनलिस्ट से मिला ऐसा जवाब
3 नहीं रहे ‘महाभारत’ के ‘इंद्र’, अंतिम सांस तक आर्थिक तंगी से संघर्ष करते रहे हिंदी पंजाबी सिनेमा के अभिनेता सतीश कौल
यह पढ़ा क्या?
X