ताज़ा खबर
 

बिग बॉस: 10 लाख प्राइस मनी गंवा कर स्वामी ओम ने जीती इम्यूनिटी, प्रियंका जग्गा को याद कर फूट फूट कर रोए

स्वामी ओम प्रियंका जग्गा कोपुराने जन्म की बेटी तक बता देते हैं।
स्वामी ओमजी की बिग बॉस के घर में।

स्वामी ओम सोमवार के एपिसोड में एक बार फिर अपने पूरे रंग में दिखे। घरवालों के बॉयकॉट से घर में एकदम अलग-थलग पड़े स्वामी ओम बिग बॉस से गिड़गिड़ाते रहे कि ये बॉयकॉट तोड़ा जाए ताकि वो फिर से दर्शकों का मनोरंजन कर पाए। इसके बाद बिग बॉस स्वामी ओम को कॉन्फेशन रूम में बुलाते हैं और कहते हैं कि इससे पहले जब इम्यूनिटी टास्क हुआ था तब घर में होते हुए भी स्वामी ओम सिक्रेट रूम में थे। जिस कारण वो उस टास्क में भाग नहीं पाए। अब बिग बॉस स्वामी ओम को एक इम्यूनिटी जीतने का मौका देना चाहते हैं। लेकिन इसके बदले बिग बॉस विजेता की राशि से 10 लाख रुपए हटा देंगे। बाकि घर के सभी सदस्य ये सब बाहर टीवी स्क्रीन पर देख रहे होते हैं और इस पर आपत्ति जताते हैं। इस पर स्वामी ओम कहते हैं वो पैसे जीतने नहीं आए वो तो बिग बॉस का आशिर्वाद लेने आए हैं। और इम्यूनिटी पाने के लिए 10 लाख रुपए विजेता राशि से घटवा कर ले लेते हैं। बाहर आकर स्वामी लोगों से कहते हैं बिग बॉस ने बताने से मना किया है जब बाकि लोग उन्होंने बताते हैं वो सब टीवी पर देख रहे थे।

 

इस तरह इस हफ्ते के एलिमिनेशन राउंड से स्वामी ओम बाहर हो जाते हैं। इस हफ्ते एलिमिनेट होने वाले घरवालों के नाम है। बानी, लोपा, राहुल देव, नितिभा, और मनवीर। इससे पहले घर से बाहर हुई स्वामी ओम बेहद भावुक होकर बिग बॉस से प्रियंका को वापस लाने की अपील करते हैं। स्वामी ओम  प्रियंका जग्गा कोपुराने जन्म की बेटी तक बता देते हैं। उन्हें आज तक किसी से प्रेम नहीं मिला जो प्रियंका से मिला। प्रियंका ये सब सिक्रेट रूम से दख रही होती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. V
    vikash singh
    Dec 13, 2016 at 11:23 am
    बाबा जो भी करते है,जैसे भी करते है लेकिन सच यही है कि शुरु आत से लेकर अब णक और उम्मीद आगे भी है कि यह सीजन स्वामी ऐम के चारो ओर घुम रही है...सभी घरवालो पर यह बंदा अकेला भारी पड़ रहा है....अब मेरे लिए स्वामी ओम जी सिर्फ......i will be vote for Swami_Om
    (0)(0)
    Reply