जानिए कौन हैं वो आईपीएस ऑफिसर जिनकी सुनील ग्रोवर भी करते हैं तारीफ

कपिल कुमारिया ने अखबार की जो कटिंग ट्वीट की थी उसमें “उनकी बात ही अलग थी” सेक्शन में आईपीएस रेणुका मिश्रा का आर्टिकल छापा गया था जिसका शीर्षक था- बंद करा दिया था स्टीकर लगाकर ट्रकों से वसूली का खेल।

Kapil Kumariya, Sunil Grover, Sunil Grover SSP, Sunil Grover Show, Sunil Grover Movie, Sunil Grover JIo, Sunil Grover Comedy videos
कॉमेडियन सुनील ग्रोवर जर्नलिस्ट अरनब गोस्वामी के किरदार में।

स्टार कॉमेडियन सुनील ग्रोवर ने अपने वैरिफाइड ट्विटर हैंडल से आईपीएस ऑफिसर रेणुका मिश्रा की तारीफ लिखी है। सुनील ने कॉर्पोरेट अलायंस ग्रुप के सीईओ व मैनेजिंग डायरेक्टर कपिल कुमारिया के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा- हां, सर मैं आपकी बात से सहमत हूं। मुझे फक्र है कि मैंने मिशन ऊर्जा के दौरान उनके साथ काम किया है। वह वाकई एक बहुआयामी महिला हैं। रेणुका मिश्रा जी कृपया हमें इसी तरह गौरवान्वित करती रहें। असल में कपिल कुमारिया ने आईपीएस ऑफिसर रेणुका मिश्रा की तारीफ में छपे एक आर्टिकल को ट्वीट किया था जिसके साथ उन्होंने अपने विचार सोशल मीडिया पर लिखे थे।

कपिल कुमारिया ने अखबार की जो कटिंग ट्वीट की थी उसमें “उनकी बात ही अलग थी” सेक्शन में आईपीएस रेणुका मिश्रा का आर्टिकल छापा गया था जिसका शीर्षक था- बंद करा दिया था स्टीकर लगाकर ट्रकों से वसूली का खेल। कपिल ने तस्वीर के कैप्शन में लिखा- आगरा के अमर उजाला अखबार में अपनी दोस्त और पुलिस ऑफिसर रेणुका मिश्रा के बारे में यह आर्टिकल पढ़ कर बहुत खुशी और फक्र महसूस हो रहा है। उसके शानदार दिनों के 24 साल बाद जब उसे आगरा में एसएसपी के तौर पर पोस्टिंग मिली थी। बता दें कि जब आगरा में रेणुका एसएसपी थीं तब सीओ ट्रैफिक का चार्ज भी उनके ही पास था।

उन दिनों ट्रैफिक पुलिस वाहनों से वसूली करने के लिए बदनाम थी और रेणुका ने इस छवि को बदलने का बीड़ा उठाया। रेणुका ने यह काला खेल बंद करने की कोशिश की तो पुलिवालों ने अपना तरीका बदल लिया और एक ही नाके पर 500 रुपए लेना शुरू कर दिया। गाड़ियों को क्लीयर पास देने के लिए उन पर स्टीकर लगाए जाने लगे। रेणुका मिश्रा खुद एक ट्रक पर बैठ गईं और जैसे ही पहले नाके पर स्टिकर गेम शुरू हुआ रेणुका ने छिपी बैठी अपनी टीम के साथ छापा मार कर आरोपियों को पकड़ लिया और इसके बाद की पड़ताल में और भी कई नाम सामने आए। लोगों को जेल भेजा गया और यह गेम ओवर हो गया।

https://www.jansatta.com/entertainment/

पढें टेलीविजन समाचार (Television News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

X