scorecardresearch

‘मुझे न तो केंद्र ने सम्मान दिया और न ही राज्य ने, 50 साल से महाराष्ट्र में हूं लेकिन…’, रामायण के ‘राम’ अरुण गोविल का छलका दर्द

Ramayan: रामायण जैसे धार्मिक धारावाहिक में श्री राम का किरदार निभाने वाले अरुण गोविल का तब दर्द छलक उठा, जब वो ट्विटर पर लोगों के सवालों के जवाब दे रहे थे। इस दौरान उन्होंने बताया कि…

‘मुझे न तो केंद्र ने सम्मान दिया और न ही राज्य ने, 50 साल से महाराष्ट्र में हूं लेकिन…’, रामायण के ‘राम’ अरुण गोविल का छलका दर्द
Ramayan: पचास साल से मुंबई में हूं नहीं मिला कोई सम्मान: अरुण गोविल

Ramayan: कोरोनावायरस की वजह से लॉकडाउन के चलते जब से रामनंद सागर की रामायण का दोबारा प्रसारण शुरु हुआ है। तब से ही इस धारावाहिक के सभी पात्र चर्चा में बने हुए हैं। दूरदर्शन पर प्रसारित होने के बाद रामायण ने काफी सीरियल्य की टीआरपी को पीछे छोड़ दिया है। हाल ही में रामायण के मुख्य पात्र यानि राम जी का रोल निभाने वाले अरुण गोविल का दर्द उस वक्त छलक उठा जब वो ट्विटर पर अपने फैंस के सवालों के जवाब दे रहे थे। एक यूजर ने उनसे सवाल किया,’आपका योगदान अभिनय जगत में कमाल है, खासकर रामायण में, लेकिन आपको रामायण के लिए भी किसी पुरस्कार से सम्मानित नहीं किया गया…?’

इस सवाल को सुनकर मानो अरुण गोविल का दर्द छलक आया, उन्होंने इसका जवाब देते हुए लिखा, ‘चाहे कोई राज्य सरकार हो या केंद्र सरकार, मुझे आज तक किसी सरकार ने कोई सम्मान नहीं दिया है। मैं उत्तर प्रदेश से हूँ, लेकिन उस सरकार ने भी मुझे आज तक कोई सम्मान नहीं दिया और यहाँ तक कि मैं पचास साल से मुंबई में हूँ, लेकिन महाराष्ट्र की सरकार ने भी कोई सम्मान नहीं दिया’ रामायण के जरिये जो अरुण गोविल जन जन के प्रिय हो गए थे, खुद उनके मुंह से इस तरह का जवाब सुनना जरूर उनके फैंस के मन में एक निराशा पैदा करने वाला है।

इसके अलावा भी उन्होंने यूजर्स के कई सवालों के जवाब दिए एक यूजर ने उनसे सवाल किया कि आपके बच्चे कहां है और क्या कर रहे हैं, इस पर अरुण गोविल ने बताया कि, ‘मेरा बेटा कॉर्पोरेट बैंकर है. मुंबई में है. हमारे साथ रहते हैं. उसके दो बच्चे हैं। बिटिया हमारी पढ़ने की शौक़ीन है। लन्दन से उन्होंने मास्टर्स किया है। अब वो बोस्टन चली गयीं हैं फिर से मास्टर्स करने।’

बता दें कि रामायण से रामानंद सागर ने ऐसा करिश्मा कायम किया था, जिसकी चर्चा आज भी होती है। इस सीरियल के आने के दौरान लोग टीवी के सामने बैठ जाते थे और सड़के एवं गलियां सुनसान हो जाती थी। कई लोग श्रद्धा भाव से ये शो हाथ जोड़कर कर देखते थे। इतना ही नहीं लोग सीरीयल में काम करने वाले कलाकार अरुण गोविल (राम), दीपिका(सीता) को भगवान की तरह पूजा करते थे। इस धारावाहिक में बॉलीवुड के असली पहलवान दारा सिंह हनुमान की भूमिका में थे।

पढें टेलीविजन (Television News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 25-04-2020 at 04:18:53 pm
अपडेट