ताज़ा खबर
 

कुमकुम भाग्य 15 दिसंबर फुल एपिसोड: अभि की दादी ने झूठ बोलकर प्रज्ञा को जाने से रोका

kumkum Bhagya Full Episode: सरला के कहने पर दादी, और दासी मिल कर प्रज्ञा को ढ़ूंढ़ने मंदिर जाते हैं। वो उन्हें वहीं मिलती है। वो कहती है कि वो अब अभि की लाईफ में वापस नहीं आ सकती है। दादी उसे अभि की जान को खतरा बता कर उेस रोकती है।

Author नई दिल्ली | December 16, 2016 9:01 AM
सरला ने प्रज्ञा को जाने से रोका

‘जी टीवी’ पर प्रसारित होने वाले शो ‘कुमकुम भाग्य’ में आपने देखा कि सरला अपने घर आकर प्रज्ञा को ढ़ूंढ़ती है लेकिन वो घर पर भी नहीं होती है। जानकी कहती है कि वो हॉस्पीटल से घर वापस नहीं आई है। सरला, दादी औऱ दासी उसे वहां ना पाकर कफी परेशान हो जाते हैं। इधर अभि को भी होश आ जाता है। वो नर्स से अपनी फैमिली को अंदर बुलाने को कहता है। वहां आलिया और तनु पहले आते हैं। वो उनसे प्रज्ञा के बारे में पूछता है। लेकिन आलिया उसकी बात टाल देती है। तनु उसे कहती है कि गुंडों ने उसे गोली मारने के बाद प्रज्ञा को भी गोली मार दी औऱ अब वो मर चुकी है। घर पर सरला कहती है कि प्रज्ञा हो सकता है मंदिर गई होगी। वो कहती है कि वो अपनी शिकायत लेकर मंदिर ही गई होगी। वो कहती है कि बचपन में जब वो प्रज्ञा को मारती थी तो वो मंदिर चली जाया करती थी। सभी उन्हें ढ़ूंढ़ने जाते हैं। आलिया, अभि से कहती है कि वो परेशान न हों क्योंकि उनकी सेक्रेटरी जिंदा है। अभि कहता है कि वो जिंदा है तो तनु उसे मरा क्यों कह रही है। तनु कहती है कि वो उसके गोली लगने पर डर कर वहां से भाग गई इसलिए उसने कहा कि वो मर गई। वो कहती है कि उसने उसे काफी रोकने की कोशिश की लेकिन वो पुलिस केस में पड़ना नहीं चाहती थी और वो यहां एक पल भी नहीं रुकी। वे कहती हैं कि वो यहां आने की बात तो दूर उसने उसके बारे में पूछा तक नहीं। आलिया कहती है कि उसे फोन करने पर उसने फोन नहीं उठाया। आलिया आगे कहती है कि वो एक सेक्रेटरी के लिए इतनी अहमियत दे रहे हैं, वो कोई अच्छी सी सेक्रेटरी ढ़ूंढ़ कर ले आएगी। इस पर तनु कहती है कि वो अभि की वाईफ और सेक्रेटरी दोनों बन कर रहेगी। यहां तनु एक्साईटमेंट में अभि का हाथ पकड़ती है और उसे हर्ट करती है।

आलिया बाहर आकर उसे उसकी लापरवाही के लिए उसे डांट लगाती है। अभि सोचता है कि प्रज्ञा उसकी इतनी केयर करती थी लेकिन ऐसा कैसे हो सकता है कि वो उसे देखने भी नहीं आई।

सरला के कहे अनुसार प्रज्ञा, मंदिर में ही मिलती है। वो दादी से कहती है कि वो अभि को हॉस्पीटल में अकेला छोड़ कर कैसे आ सकती हैं। दादी और सरला कहते हैं कि अभि को अकेला छोड़कर वे नहीं वो खुद आई है। प्रज्ञा कहती है कि वो उनकी लाईफ में उनकी मुसीबत बन कर रह रही है। तो वो अब उनके साथ नहीं रह सकती है। वो कहती है कि हर बार उस पर आने वाली मुसीबत अभि पर आ जाती है। यही कारण है कि वो उनसे दूर रहना चाहती है। दादी और उसकी मां उसे समझाते हैं कि वो आलिया की बातों में इतनी जल्दी आ गई लेकिन उसे उनकी बात समझ नहीं आ रही है। लेकिन प्रज्ञा किसी की बात नहीं मानती है वो कहती है कि ये उसका आखिरी फैसला है और वो बिना किसी को बताए सबसे दूर जा रही है।

दादी के पास पूरब को फोन आता है। वो एक्टिंग करते हुए उससे कहती है कि अभि की सांस बंद हो गई है। प्रज्ञा उनकी बात सुनकर परेशान हो जाती है। दादी यही देखना चाहती थी। वो प्रज्ञा से कहती हैं कि उसके जाने से अभि की लाईफ से प्रॉब्लम कम नहीं होगी बल्कि और बढ़ जाएगी। वो कहती है कि वो एक्टिंग कर रही थी ये जानने के लिए कि प्रज्ञा को क्या फर्क पड़ता है। प्रज्ञा कहती है कि उन्होंने तो उसकी जान ही निकाल दी थी। दादी कहती है कि उसकी जान तो अभि में अटकी है। प्रज्ञा अभि के पास जाने के लिए तैयार हो जाती है।

Read Also: कुमकुम भाग्य 14 दिसंबर फुल एपिसोड: प्रज्ञा खुद अभि की लाईफ से हुई दूर

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App