कुमकुम भाग्य 31 जुलाई 2017 फुल एपिसोड: अभि और प्रज्ञा आने लगे करीब, संग्राम सिंह के गुंडों ने करा हमला - Kumkum Bhagya 31 July 2017 Full Episode Online In Hindi: Abhi And Pragya Getting Close, Sangram Singh Goons Attacked - Jansatta
ताज़ा खबर
 

कुमकुम भाग्य 31 जुलाई 2017 फुल एपिसोड: अभि और प्रज्ञा आने लगे करीब, संग्राम सिंह के गुंडों ने करा हमला

kumkum bhagya full Episode: अभि रोमांस के मूड में करीब जाता है, प्रज्ञा दरवाजा खुला होने की वजह से असहज होती है....

kumkum bhagya: अभि और प्रज्ञा आने लगे करीब, संग्राम सिंह के गुंडों ने करा हमला

अभि रोमांस के मूड में मुन्नी के करीब जाता है, मुन्नी बहुत ही असहज स्थिति में होती है। अभि जब उसके करीब जाता है तो उसे असहज देखकर उसे लगता है कि प्रज्ञा दरवाजा खुला होने की वजह से ऐसे कर रही है। वो दरवाजा बंद करने जाता है। मुन्नी अभि को सच्चाई बता देना चाहती है कि इससे पहले अभि उसके करीब आए। अभि उसके पास आता है तो वो कहती है कि वो अभी बिल्कुल अच्छा महसूस नहीं कर रही है जब वो बिल्कुल स्वस्थ हो जाएगी वो खुद उसके पास आएगी। अभि उसकी बात समझता है और कहता है कि उसे आराम करना चाहिए और वो कुछ दिनों के लिए दूसरे कमरे में सो जाएगा। मुन्नी को बुरा लगता है वो सोचती है कि अभि जैसे अच्छे व्यक्ति को वो दुख पहुंचा रही है।

संग्राम सिंह के गुंडों की गोलियों से बचकर पूरब बहुत तेज ड्राइव करके दिशा को सुरक्षित निकाल लेता है। दिशा उसकी ड्राइविंग देखकर एक्साइट होती है। गुंडे फैसला करते हैं कि वो दिशा के घर जाकर उसे पकड़ेंगे। वो वहां पहुंचते हैं पर दिशा नहीं मिलती है। संग्राम सिंह दिशा के बैग चेक करता है उसके पेपर्स देखकर पता चलता है कि वो टीचर है। वो अपने गुंडों से उसके स्कूल चलने के लिए कहता है। पूरब और दिशा बात कर रहे होते हैं, तभी बारिश होने लगती है वो स्कूल में चले जाते हैं।
दिशा को बारिश में भीगने के कारण ठंड लगने लगती है। पूरब अपनी जैकेट उतार कर उसे दे देता है। वो देखते हैं कि चौकीदार ने आग लगाई हुई है। वो वहां जाकर बैठ जाते हैं। दिशा सोचती है कि पूरब एक अच्छा इंसान है उसे उसकी सारी खुशियां मिलनी चाहिए। यही बात पूरब भी दिशा के लिए सोच रहा होता है। दिशा अपने परिवार के बारे में बताती है कि उसके परिवार में सिर्फ पिता और बुआ है। उसके पिता ने उसे अच्छे से पढ़ाया है पर अब वो शादी कर रही तो अपने पिता को लेकर परेशान है।
पूरब उसे अपने परिवार के बारे में बताता है कि उसके परिवार में कोई भी नहीं है, वो अकेला ही रहता है। वो उसे बुलबुल के बारे में भी बताता है। दिशा उससे कहती है कि उसकी आंखों में उदासी दिखती है। तभी संग्राम सिंह और उसके गुंडे स्कूल आ पहुंचते हैं। तब पूरब को लगता है कि अब बात उसके हाथ से बाहर है तो वो वहीं छिपने का फैसला करते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App