ताज़ा खबर
 

जब मकान मालकिन के फरमान ने ‘मनमोहत तिवारी’ को दे दी थी बड़ी बीमारी, मुंबई छोड़ने पर मजबूर हो गए थे रोहिताश गौड़

Bhabiji Ghar Par Hain: रोहिताश गौड़ दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से पढ़ाई पूरी करने के बाद साल 1989 में वह एक्टर बनने मुंबई चले आए थे।

टीवी एक्टर रोहिताश गौड़ भाबीजी घर पर हैं में मनमोहन तिवारी की भूमिका करते हैं।

Bhabiji Ghar Par Hain: एंड टीवी के बहुचर्चित शो ‘भाबीजी घर पर हैं’ में मनमोहन तिवारी का किरदार निभाने वाले रोहिताश गौड़ आज किसी पहचान के मोहताज नहीं हैं। छोटे परदे के वे लोकप्रिय कलाकारों में से एक हैं। हालांकि यहां तक पहुंचने के लिए उनको काफी संघर्षों का सामना करना पड़ा था। उन्हीं दिनों रोहिताश के सामने एक मुश्किल घड़ी भी आई जब उन्हें लगा कि वे कभी एक्टिंग नहीं कर पाएंगे। पीठ से जुड़ी एक गंभीर बीमारी हो गई थी।

1989 में एक्टर बनने चले आए थे मुंबईः रोहिताश गौड़ दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से पढ़ाई पूरी करने के बाद साल 1989 में वह एक्टर बनने मुंबई चले आए। यहां का स्ट्रगल देखकर वो काफी हैरान थे। रोहिताश के पास ना तो पैसे थे ना ही किसी तरह का सपोर्ट। जब वे मुंबई आए तो यहां वह एक ऐसे कमरे में रहने लगे जिसमें पहले से ही 5-6 लोग रहा करते थे।

बेटे के जन्मदिन के लिए मकान मालकिन ने खाली करा दिया था कमराः रोहिताश के लिए दिक्कतें यहीं से शुरू हुईं। 6 लोगों के साथ जिस कमरे में रोहिताश रहते थे उसकी मकान मालकिन के बेटे का जन्मदिन था। इसी को लेकर उसने सभी को कमरा खाली कर छत पर सोने का फरमान सुना दिया। रोहिताश सहित सभी लोगों ने इसका विरोध किया लेकिन वह नहीं मानीं। लिहाजा रोहिताश को छत पर ही सोने के लिए जाना पड़ा। लेकिन प्लेन की आवाज की वजह से उन्हें नींद नहीं आ रही थी।

जब रोहिताश सुबह उठ ही नहीं पा रहे थेः रोहिताश को रात किसी तरह नींद आई लेकिन सुबह जब वे उठने को हुए तो उनसे उठा ही नहीं गया। काफी कोशिश करने के बावजूद रोहिताश खुद से उठ नहीं पाए। रोहिताश ने एक इंटरव्यू में इस बात का जिक्र करते हुए कहा था कि टंकी के पानी के रिसाव के चलते मेरी पूरी पीठ गिली हो गई थी। किसी तरह दोस्त डॉक्टर के पास लेकर गए जहां डॉक्टर ने हैरान करने वाली बात कही।

तिवारी जी मुंबई छोड़ना पड़ाः डॉक्टर ने रोहिताश के एक्स-रे देखकर बोला कि तुम्हारी पीठ पूरी तरह से जाम हो गई है। मल्टीपल डिस्क एक-दूसरे से जुड़े गए हैं। इस वजह से डॉक्टर ने उन्हें तुरंत मुंबई छोड़कर जाने को कहा। क्योंकि उनके लिए मुंबई का मौसम अनुकूल नहीं था। रोहिताश ने बताया था कि इस हादसे से वे काफी डर गए और मुंबई छोड़ दोबारा दिल्ली आ गए। काफी लंबे समय तक वे दिल्ली में ही रहे। जब पूरी तरह से सुधार हो गया तो वे एक बार फिर मुंबई गए। जहां उनको सतीश कौशिक के ‘मुझे चांद चाहिए’ में पद्मिनी कोल्हापुरी की बहन तेजस्वी कोल्हापुरी के कहने पर पहला ब्रेक मिला। रोहिताश गौड़ जय हनुमान, लापतागंज, वीर सावकर सहित कई फिल्मों में काम कर चुके हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 The Kapil Sharma Show में क्यों नहीं गए महाभारत के ‘भीष्म पितामह’ मुकेश खन्ना, बताई ये वजह
2 Bigg Boss 14 Premiere Updates: रुबीना दिलैक को तूफानी सीनियर्स ने किया रिजेक्ट, अभिनव को किया सेलेक्ट
3 TMKOC: जब बिना बताए लंदन चले गए थे ‘पोपट लाल’, शो से कर दिये गए थे बाहर; ऐसे हुई थी घर वापसी
यह पढ़ा क्या?
X