ताज़ा खबर
 

ये शहर ऐसा है कि हिला कर रख देगा, शायद उपर वाला…, करियर के शुरुआती दिनों का मलखान ने बयां किया किस्सा

Bhabiji Ghar Par Hain: दीपेश भान ने बताया कि वे दिल्ली में ही पले बढ़े हैं। एक्टिंग का बचपन से ही शौक होने के कारण स्कूल में अभिनय में भाग लिया करते थे। इसके बाद जैसे-जैसे वे बड़े होते गये, उनका एक्टिंग का जोश और बढ़ता गया।

दीपेश भान दिल्ली में ही पले बढ़े हैं।

भाबीजी घर पर हैं शो (Bhabiji Ghar Par Hain) के मलखान यानी दीपेश भान के संघर्ष की अपनी ही दास्तान है। दिल्ली से वे मुंबई एक दोस्त के कहने पर आए लेकिन जब वे मुंबई आए तो एक छोटे से कमरे में 5-6 लोगों को रहता देख हैरान हो गए थे। मुंबई में सिवाय दोस्त के वे किसी को जानते नहीं थे लिहाजा वह कहीं जा भी नहीं सकते थे। उस वक्त दीपेश भान को लगा कि मुंबई आकर वे फंस गए हैं।

एक इंटरव्यू में करियर के शुरुआती दिनों को याद करते हुए मलखान ने कहा कि मुंबई ऐसा शहर है कि यहां आने के बाद 6 महीने में ही तोते उड़ जाते हैं। जब आपका वास्तविकता से सामना होता है, इतना भी आसान नहीं है जितना आप घर से सोचकर चले हो। दीपेश भान यानी मलखान ने आगे बताया कि यहां आने के बाद बहुत से लोग टूट जाते हैं। ये शहर (मुंबई) ऐसा ही है। लेकिन उपर वाले का शुक्रिया कि उसने हिम्मत बनाए रखी। और हम लगे रहे और संघर्ष करते रहे।

दीपेश ने कहा कि मैं नहीं कहता कि इसे मैं करता रहा। शायद उपर वाले का हाथ था। और हिम्मत देने वाला वही था। क्योंकि ये शहर ऐसा है कि आपको हिला कर रख देगा। और ये शहर इतना महंगा है कि आपके पैरों के नीचे की जमीन कब निकल जाएगी, आपको पता भी नहीं चलेगा। लेकिन उपर वाले ने हिम्मत बनाए रखी। और अभी तक 8 से 10 शोज कर चुका हूं।

मलखान ने बताया कि जब वे मुंबई आए तो किसी को जानते नहीं थे सिवाय एक दोस्त के। दोस्त ने मलखान को रहने की जगह दी। मलखान ने कहा कि उस कमरे में पहले से ही 5 से 6 लोग रहते थे।  लेकिन किसी को मुंबई में जानता नहीं था। यहां आने के बाद लगा कि फंस गया लेकिन हिम्मत बनाए रखा। और फिर धीरे-धीरे मुंबई को समझने लगा। उसके बाद मैं ठीक ढंग से रहने लगा।

दीपेश भान ने बताया कि वे दिल्ली में ही पले बढ़े हैं। एक्टिंग का बचपन से ही शौक होने के कारण स्कूल में अभिनय में भाग लिया करते थे। इसके बाद जैसे वे बड़े होते गये, उनका एक्टिंग का जोश और बढ़ता गया। दीपेश ने दिल्ली से स्नातक करने के बाद नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में एडमिशन ले लिया। दीपेश बताया कि आज भाबीजी में जिस भाषा का इस्तेमाल करते हैं, NSD के दौरान ही लोगों से सीखी।

Next Stories
1 Bigg Boss 14: जब सलमान खान सामने ले आए जान सानू की दोस्ती के असली रंग, भड़की निक्की तंबोली बोलीं ‘धोखेबाज’
2 The Kapil Sharma Show: ‘शादी में फेरे लिए या शपथ’ जब कपिल के शो में पहुंचे रितेश देशमुख और जेनेलिया; फूटा हंसी का फव्वारा
3 जर्नलिस्ट भी हैं तारक मेहता शो कर चुके ‘टप्पू’, रैप सॉन्ग्स गाने के हैं शौकीन ; ऐसी है लाइफस्टाइल
ये पढ़ा क्या?
X