scorecardresearch

कर्नाटक की यूनिवर्सिटी में हिजाब के खिलाफ प्रदर्शन, सड़क पर बैठे छात्र तो स्वरा भास्कर ने बताया घिनौना, मिले ऐसे जवाब

स्वरा का कहना है कि जिस तरह की छोटी सोच हम अपने बच्चों में पैदा कर रहे हैं, ये बहुत घिनौना और दिल दहला देने वाला है।

Swara bhaskar, bollywood, Entertainment
बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर (फोटो क्रेडिट-ट्विटर Swara Bhasker)

कर्नाटक में एक बार फिर हिजाब का मुद्दा छिड़ गया है। इस बार मंगलुरु यूनिवर्सिटी में कुछ छात्र-छात्राओं ने हिजाब पहनकर क्लास में पहुंचीं मुस्लिम छात्राओं का विरोध किया है। ट्विटर पर प्रदर्शन का एक वीडियो शेयर करते हुए बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर ने इसकी कड़ी निंदा की है। जिसपर तमाम यूजर्स अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

स्वरा ने लिखा,”जिस तरह की छोटी सोच हम अपने बच्चों में पैदा कर रहे हैं, ये बहुत घिनौना और दिल दहला देने वाला है…” स्वरा के ट्वीट पर एजाज हिजानी नाम के यूजर ने लिखा,”इन लड़कों को इन लड़कियों के हिजाब से क्या परेशानी है?”

एक हैंडल से कमेंट किया गया,”ऐसा विरोध प्रदर्शन न सिर्फ घृणित और दिल तोड़ने वाला है बल्कि तुच्छ है। लेकिन एक हिंदू की हत्या को नजरअंदाज किया जा सकता है। और यहां दलित जीवन कोई मायने नहीं रखता?”

हरिओम नाम के एक यूजर ने लिखा,”खुद के बच्चे अंग्रेजी देशों में पढ़ लिख कर आ रहे हैं, बीसीसीआई, ओएनजीसी, कोर्ट में, कार्यपालिका में बैठेंगे। हमारे बच्चों को भक्त बनाना है। जय श्री राम करवाना है। संस्कृति बचाने का ठेका देना है। गधा समझे हो क्या? इनको बारूद बनाकर खेलोगे तो अंत में खुद भी उड़ोगे।”

अभिनव राजकुमार ने लिखा,”स्वरा आपको कोर्ट के आदेश का पालन करना चाहिए।” अनमोल ने लिखा,”मुझे लगता है कि इन्हें पता भी नहीं है कि ये विरोध किस चीज का कर रहे हैं। लेकिन अंत में ये भारत में मुस्लिम लड़कियों के सशक्तिकरण के लिए अच्छा है, इसलिए निश्चित रूप से इसके खिलाफ नहीं है। कुछ परंपराएं वर्तमान समय में किसी काम की नहीं हैं, उन्हें हटा दिया जाना चाहिए, जैसे परदा प्रथा।”

स्वरा भास्कर के अलावा बॉलीवुड एक्टर जीशान अयूब ने भी इस मामले में प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने भी ये वीडियो शेयर करते हुए लिखा,”भारत को बधाई।”

क्या है मामला? कुछ महीने पहले कर्नाटक में हिजाब को लेकर विवाद के बाद हाईकोर्ट ने आदेश दिया था कि स्कूल या कॉलेजों में हिजाब पहनकर आने की अनुमति नहीं होगी। इसके बाद भी कुछ छात्राएं हिजाब पहनकर शिक्षण संस्थानों में पहुंच रही हैं। जिसे लेकर इस बार मंगलुरु यूनिवर्सिटी में विवाद छिड़ गया है। हिजाब पहनकर क्लास अटेंड करने पहुंचीं मुस्लिम छात्राओं का विरोध करते हुए हिंदू छात्र-छात्राओं ने घोषणा की है कि अगर वो हिजाब पहनकर आएंगी तो हम भी भगवा शॉल और केसरिया साफा पहनकर क्लास में आएंगे।

पढें मनोरंजन (Entertainment News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.