ताज़ा खबर
 

मुंह में राम जेब में चंदा, चंपत होगा अब ये बंदा- राम मंदिर ट्रस्ट में कथित घोटाले पर पूर्व IAS का तंज़, बोले- ट्रस्ट ही खो दिया

पूर्व आईएएस अधिकारी ने तंज करते हुए एक और ट्वीट किया और लिखा 'मुँह में राम, जेब में चंदा,  चम्पत होगा अब ये बंदा।' उन्होंने आगे लिखा 'ट्रस्ट ने ट्रस्ट खोया, लाखों रामभक्तों का।'

राम मंदिर ट्रस्ट स्कैम पर बोले पूर्व आईएएस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह

राम मंदिर के लिए जमीन खरीद में कथित घोटाले पर पूर्व आईएएस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह ने तीखी टिप्पणी की है। उन्होंने एक के बाद एक सिलसिलेवार ट्वीट किए और लिखा ‘प्रभु श्रीराम के नाम पर करोड़ों का घोटाला चिंताजनक है, राम समाज के निम्नतम स्तर पर खड़े व्यक्ति के पालनहार का नाम है। न्यास के एक ट्रस्टी DM अयोध्या व दो अन्य IAS हैं। ट्रस्ट के महासचिव से वित्तीय अधिकार सीज कर सभी वित्तीय अधिकार संयुक्त रूप से दो ज़िम्मेदार लोगों को मिले।’

सूर्य प्रताप सिंह ने कहा कि रामजन्मभूमि को मिला 1-1 रुपया रामभक्तों का है, राम के प्रति उनकी अटूट श्रद्धा का प्रतीक है। मेरा केंद्र सरकार को परामर्श है कि इस घोटाले की उच्चस्तरीय जाँच कर न्यास से सम्बंधित सभी वित्तीय अधिकार सिस्टम से जुड़े ज़िम्मेदार लोगों को मिले जिनकी रामभक्तों के प्रति पूरी जवाबदेही हो।’

पूर्व आईएएस अधिकारी ने तंज करते हुए एक और ट्वीट किया और लिखा ‘मुँह में राम, जेब में चंदा,  चम्पत होगा अब ये बंदा।’ उन्होंने आगे लिखा ‘ट्रस्ट ने ट्रस्ट खोया, लाखों रामभक्तों का।’

 

आपको बता दें कि सूर्य प्रताप सिंह केंद्र की मोदी सरकार और उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की नीतियों की अक्सर आलोचना करते नजर आते हैं। कोरोना की दूसरी लहर में उन्नाव में गंगा में तैरती लाशों का मुद्दा प्रमुखता से उठाया था। इस मामले में उनके खिलाफ यूपी पुलिस ने एफआइआर भी दर्ज कर ली थी और पूछताछ के लिए बुलाया था।

क्या है पूरा मामला: राम मंदिर ट्रस्ट पर मंदिर के लिए जमीन खरीद में कथित घोटाले का आरोप लगा है। आम आदमी पार्टी और समाजवादी पार्टी के नेताओं ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आरोप लगाया और कहा कि जो जमीन सिर्फ दो करोड रुपए में बिकी थी उसी जमीन को 18.5 करोड़ में खरीदा गया।

उधर, राम मंदिर ट्रस्ट के सचिव चंपत राय ने कहा है कि उन्हें इन आरोपों की कोई चिंता नहीं है। उन्होंने कहा कि हम पर तो महात्मा गांधी की हत्या का भी आरोप लगा था। हम ऐसी बातों की परवाह नहीं करते हैं।

Next Stories
1 सुशांत सिंह राजपूत स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी की स्कॉलरशिप छोड़कर आ गए थे मुंबई, परिवार ने यूं दिया था रिएक्शन
2 आशा पारेख के डर से ‘आए दिन बहार के’ की शूटिंग पर प्याज खाकर पहुंचते थे धर्मेंद्र, दिलचस्प है वजह
3 इनसे कुछ नहीं संभलता तो ये राम और गाय ले आते हैं- BJP पर बोल पड़े थे कुमार विश्वास, PM मोदी पर भी कसा था तंज
ये पढ़ा क्या?
X